इन 4 एक्‍सरसाइज़ से बढ़ाएं हॉर्मोन, बढ़ जाएगी शरीर की ताकत

पुरुषों में मेल हार्मोन टेस्टोस्टेरोन का स्तर अगर असंतुलित हो गया है तो ये एक्सरसाइज करें और हार्मोन का स्तर बढ़ायें।

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Nov 14, 2017

पुरुषों में शारीरिक दुर्बलता

पुरुषों में शारीरिक दुर्बलता
1/5

पुरुषों में शारीरिक दुर्बलता का सबसे बड़ा कारण टेस्टोस्टेरोन (मेल हार्मोन) का कम हो जाना है। टेस्टोस्टेरोन (मेल हार्मोन) एक तरह का हार्मोन होता है जो पुरुषों की यौन क्षमता और जो लोग जिम में बॉडी बनाते है उनके मसल्स को बढ़ाता है। टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का सीधा असर व्यक्ति के यौन क्रियाकलापों, रक्त संचरण और मांसपेशियों पर पड़ता है।

केवल जरूरत है एक्सरसाइज की

केवल जरूरत है एक्सरसाइज की
2/5

मांसपेशियों के निर्माण, फैट बर्न और शरीर की क्षतिग्रस्त कोशिकाओं की मरम्मत में टेस्टोस्टेरॉन हार्मोन अहम भूमिका निभाता है। इस कारण भी पुरुषों की हड्डियां महिलाओं की तुलना में ज्यादा मजबूत होती है। तो अगर हार्मोन का स्तर असंतुलित हो गया है तो दवाई करने की जगह एक्सरसाइज करके आप इसका स्तर बढ़ा सकते हैं। आइए इस स्लाइडशो में जानते हैं कुछ ऐसे ही एक्सरसाइज के बारे में।

दौड़ें और बढ़ाएं टेस्टोस्टोरोन हार्मोन का स्तर

दौड़ें और बढ़ाएं टेस्टोस्टोरोन हार्मोन का स्तर
3/5

टेस्टोस्टोरोन हार्मोन का स्तर बढ़ाने के लिए दौड़ना बेस्ट उपाय है। ये तो माना भी जाता है कि कई पुरुष अपने शरीर में टेस्टोस्टोरोन हार्मोन का स्तर बढ़ाने के लिए भी दौड़ लगाते हैं। इससे बॉडी फिट भी हो जाती है और टेस्टोस्टोरोन हार्मोन का स्तर भी बढ़ जाता है। एक अध्ययन में भी इस बात की पुष्टि हुई है कि जो लोग दौड़ लगाते हैं उनके शरीर में टेस्टोस्टोरोन हार्मोन का स्तर काफी अच्छा था।

पैरों से जुड़ी एक्सरसाइज

पैरों से जुड़ी एक्सरसाइज
4/5

अगर आपके पास दौड़ने का भी पूरा समय नहीं है या दौड़ने के लिए आसपास पार्क नहीं है तो घर पर ही रहकर पैरों की ये एक्सरसाइज करें। दरअसल इस बात की पुष्टि एक दूसरे शोध में भी की गई है। यह शोध हार्मोनल प्रतिक्रिया की जांच करने के लिए किया गया था। इस शोध में दो तरह के लोगों को रखा गया था। एक तरह के वे लोग जो केवल हाथों से जुड़ी एक्सरसाइज करते थे और दूसरे वे तरह के लोग जो पैरों से जुड़ी एक्सरसाइज कर रहे थे। शोध के परिणामों में देखा गया कि जो लोग पैरों से जुड़ी एक्सरसाइज कर रहे थे उनके शरीऱ में टेस्टोस्टोरोन की मात्रा अधिक थी।

वेट लिफ्टिंग

वेट लिफ्टिंग
5/5

पुरुष वेट लिफ्टिंग कर के टेस्टोस्टोरोन हार्मोन में 49 प्रतिशत तक वृद्धि कर सकते हैं। वेट से संबंधित एक्सरसाइज करने से आपके शरीर में टेस्टोस्टोरोन हार्मोन की मात्रा बढ़ती है। वहीं इसके विपरीत साइकलिंग जैसी एक्सरसाइज करने से आप इसे कम कर देते है। साल 2003 में हुए एक शोध में बताया गया कि जो लोग ज्यादा साइकलिंग करते हैं उनमें उन लोगों की तुलना में कम टेस्टोस्टोरोन पाए जाते हैं जो कि वेट लिफ्टिंग करते है। तो अगर अब आप भी अपने शरीर में टेस्टोस्टोरोन की सही मात्रा बनाए रखना चाहते हैं तो ट्रेडमिल पर लंबे समय तक दौड़ लगाने से जितना हो सके बचे।

Disclaimer