आपकी दयालुता के बारे में बताते हैं ये 8 तरीके

दयालुता की भावना इंसान की एक ऐसी खूबी है जो उसे अच्छाइयों की तरफ ले जाती है, ऐसे लोगों में प्रेम और अपनत्‍व की भावना होती है जो दूसरों को उनके प्रति आकर्षित करती है।

Nachiketa Sharma
Written by: Nachiketa SharmaPublished at: Jul 05, 2014

सच्‍ची दयालुता क्‍या है

सच्‍ची दयालुता क्‍या है
1/9

दया भाव यानी दयालुता की भावना इंसान की एक ऐसी खूबी है जो उसे स्वत: अच्छाइयों की तरफ ले जाती है। इसमें किसी को क्षमा करने की भावना आपको ऐसी प्रवृत्ति की ओर ले जाती है कि नुकसान पहुंचाने वाले को भी आप क्षमा कर सकें। आप महसूस कर सकते हैं कि ऐसा कहना तो आसान है पर व्यावहारिक रूप में लाना मुश्किल। लेकिन अगर आप सचमुच में दयालु इनसान हैं तो आपके अंदर कुछ गुण हो सकते हैं। image courtesy - getty

दूसरों की भावनायें

दूसरों की भावनायें
2/9

अगर आप दयालु हैं और आपके अंदर प्रेम की भावना है तो आप आसानी से दूसरों की भावनाओं को समझ पायेंगे। अगर कोई दुखी है या सुखी है उसकी प्रवृत्वि और उसके स्‍वभाव के आधार पर आप आसानी से उसकी भावनाओं के प्रति झुकेंगे। यानी दयालुता की पहली निशानी यही है कि आप बड़ी आसानी से दूसरों की भावनाओं से खुद को जोड़ पाते हैं। image courtesy - getty

पैसे का महत्‍व नहीं

पैसे का महत्‍व नहीं
3/9

वर्तमान में सबकी ख्‍वाहिश होती है कि उसके पास बहुत सारे पैसे हों और उन्‍हीं से वह संसार की सारी खुशियों को खरीद ले। लेकिन जो लोग दयालु होते हैं उन्‍हें पैसे का मोह बिलकुल भी नहीं होता, वे सेवा भाव को प्रमुखता देते हैं और पैसे के प्रति बिलुकुल भी आकर्षित नहीं होते हैं। अगर आपका आकर्षण पैसे के प्रति बिलकुल नहीं है तो आप दयालु हैं। image courtesy - getty

सहानुभति रखते हैं

सहानुभति रखते हैं
4/9

अगर हम किसी को प्‍यार देंगे और उसके बारे में अच्‍छा सोचेंगे तो जाहिर सी बात है बदले में हमें प्‍यार और अपनापन मिलेगा। इसे ही सहानुभूति की भावना कहते हैं जो आपको दूसरे के प्रति दयावान बनाती है। दयालु व्‍यक्ति लोगों से ईर्ष्‍या नहीं रखता बल्कि वह दूसरों की मदद करने की हमेशा सहानुभूति रखता है। image courtesy - getty

खुद के प्रति दयालु होना

खुद के प्रति दयालु होना
5/9

खुद के प्रति दयालुता की भावना भी आपको दयालु बनाती है, अगर आप खुद से प्‍यार नहीं करते हैं तो दूसरों के प्रति आप बिलकुल भी दयालु नहीं हो सकते। इसलिए दयालु होने के लिए बहुत जरूरी है कि आप खुद को प्‍यार करें, अपने आप को सम्‍मान दें। image courtesy - getty

दूसरों को सिखाते हैं

दूसरों को सिखाते हैं
6/9

दयालु व्‍यक्ति का एक गुण यह भी है कि वे हमेशा दूसरों को शिक्षा देना चाहते हैं, वे अपनी भावनाओं और अपने विचारों को दूसरों को सुनाना चाहते हैं। जिससे कि लोग उनके आदर्शों और विचारों से सीखें, ऐसे लोग अपने इस गुण को लोगों के अंदर भी देखना चाहते हैं। इनको लगता है कि इनके द्वारा दिखाये गये रास्‍ते पर चलने से सबका भला होगा और लोग अच्‍छाई के रास्‍ते पर चलेंगे। image courtesy - getty

एक जगह ध्‍यान केंद्रित करना

एक जगह ध्‍यान केंद्रित करना
7/9

अगर आप दयालु हैं तो जाहिर सी बात है कि आपका दिमाग भी शांत होगा और आप आसानी से एक ही जगह पर ध्‍यान केंद्रित कर पाने में सफल होंगे। दयालु लोगों का एक गुण यह भी है कि वे एक बार में एक ही काम को वरीयता देते हैं, अगर उनके साथ कोई बैठा है और फोन की रिंग बज रही है तो अपना पहले वाला काम निपटायेंगे फिर दूसरे पर ध्‍यान देंगे। image courtesy - getty

भावनात्‍मक रूप से बुद्धिमान

भावनात्‍मक रूप से बुद्धिमान
8/9

दयालु होने पर आपके दिमाग पर आपकी भावनायें हावी हो जाती हैं, लेकिन अगर आप दिमाग और भावनाओं का सही संतुलन बनाकर काम करते हैं तो आसानी से लोगों की मदद कर पाते हैं। अगर आप अपनी भावनाओं के साथ-साथ दिमाग का भी प्रयोग करते हैं तो आपकी नैतिक भावनायें और भी प्रबल हो जाती हैं। दिमाग का प्रयोग करके आप यह जान पाते हैं कि अन्‍य लोगों की भावनायें कैसी हैं। image courtesy - getty

आभार व्‍यक्‍त करते हैं

आभार व्‍यक्‍त करते हैं
9/9

दयालु लोग आभार व्‍यक्‍त करना नहीं भूलते हैं। यह आपकी सकारात्‍मक भावनाओं को उजागर करती हैं, और आपके अच्‍छे गुणों को दूसरों के सामने रखती हैं। अगर आपकी किसी ने मदद की है बदले में आपके द्वारा बोला गया धन्यवाद उसे प्रेरित करता है। तो अगर आप दयालु हैं तो आप आभार व्‍यक्‍त करना नहीं भूलेंगे। image courtesy - getty

Disclaimer