रक्तचाप में हो रहे बदलाव की वजहें

ज्यादातर लोग रक्त चाप की स्थिति में अपने खानपान का विशेष ख्याल रखते हैं। बावजूद इसके यदि रक्तचाप नियंत्रित न हो तो इसके पीछे छिपे वजह को जानना आवश्यक है।

Rahul Sharma
Written by: Rahul SharmaPublished at: Feb 29, 2016

रक्तचाप में बदलाव की वजहें

रक्तचाप में बदलाव की वजहें
1/6

रक्तचाप में हो रहे उतार चढ़ाव समस्या का सबब बन सकते हैं। हालांकि ज्यादातर लोग रक्त चाप की स्थिति में अपने खानपान का विशेष ख्याल रखते हैं। बावजूद इसके यदि रक्तचाप नियंत्रित न हो तो इसके पीछे छिपे वजह को जानना आवश्यक है। आइये इन वजहों पर एक नजर डालें।Images source : © Getty Images

छिपी वजहें

छिपी वजहें
2/6

यदि आपको डायबिटीज है और आप तमाम दवाएं समय पर ले रहे हैं। साथ ही खानपान में नियमानुसार परहेज भी कर रहे हैं। बावजूद इसके प्रतिदिन आपके रक्तचाप में बदलाव नजर आ रहे हैं। ...तो इसके पीछे छिपी वजह है आपका तनाव स्तर। दरअसल तनाव, फ्रस्ट्रेशन आदि भी आपके रक्तचाप को नियंत्रण से बाहर कर देते हैं। इसके अलावा यदि आप कई कई रात बिन सोए गुजार देते हैं तो भी आप चाहकर भी अपने रक्तचाप को नियंत्रित नहीं कर सकेंगे। अतः जरूरी है कि संपूर्ण आहार लें, नियमित नींद लें और जितना संभव हो कम तनाव लें।Images source : © Getty Images

कृत्रिम मिठाई

कृत्रिम मिठाई
3/6

आजकल कैलोरी कांशियस के चलते सिर्फ डाइबिटीज के मरीज ही कृत्रिम मिठाईयों को तरजीह नहीं देते वरन स्वस्थ लोग भी इसे चुन रहे हैं। जबकि वे इस बात से आनजान है कि कृत्रिम मिठाई हर लिहाज से खतरनाक है। इसका नियमित सेवन करने के कारण रक्त चाप को स्थायी रखना न सिर्फ मुश्किल है बल्कि नामुमकिन सा है। जरूरी यह है कि आप कृत्रिम मिठाईयों से परहेज करें।Images source : © Getty Images

पानी की कमी

पानी की कमी
4/6

यह कहने की जरूरत नहीं है कि पानी की कमी हमें तमाम किस्म की बीमारियों के घेरे में ला खड़ा करती है। रक्त चाप भी इनमें से ही एक है। यदि आपके शरीर में पानी की कमी हो जाए तो बहुत संभव है कि आपका रक्त चाप स्तर बढ़ जाए। दरअसल पानी की कमी के चलते शरीर में शुगर का सर्कुलेशन बढ़ जाता है। स्थिति और भी गंभीर हो सकती है। यदि आप नियमित पानी न पीयें जिससे आपका रक्त चाप बढ़ जाए तो हो सकता है कि आप बार बार पेशाब करने जाएं। इससे शरीर की स्थिति भयावह हो सकती है। अतः शरीर में पानी की कमी न होने दें।Images source : © Getty Images

दवाईयां

दवाईयां
5/6

यदि आप एक साथ कई दवाईयां ले रहे हैं तो भी आपके रक्चाप स्तर में बदलाव आते रहते हैं। मसलन यदि आप रक्त चाप को नियंत्रित करने की दवा ले रहे हैं, इसके साथ साथ आप गर्भ निरोधक गोलियां भी खा रही हैं तो रक्तचाप के स्तर में फेरबदल होना स्वभाविक है। असल में तमाम दवाईयां मसलन एंटीडेप्रेसेंट और एंटीसाइकोटिक आदि दवईयां हमारे स्वास्थ्य को किसी न किसी रूप में प्रभावित अवश्य करती है।Images source : © Getty Images

इन्सुलिन पर मासिक चक्र का प्रभाव

इन्सुलिन पर मासिक चक्र का प्रभाव
6/6

मासिक चक्र की शुरुआत होने से पहले लड़कियों में न सिर्फ पेट दर्द, मूड में फेरबदल जैसे बदलाव होते हैं वरन उनके रक्त चाप में भी उठा पटक देखी जाती है। जो महिलाएं डाइबिटीज की मरीज हैं, उन्हें इस दौरान अधिक समस्या का सामना करना पड़ता है। यदि आप मासिक चक्र के पहले अपने रक्त चाप स्तर पर हो रहे बदलाव को नोटिस करें तो बेहतर होगा खास किस्म की एक्सरसाइज करें और विशेष आहार अपने खानपान में शामिल करें।Images source : © Getty Images

Disclaimer