6 सही नाश्ते जिनको खायें पूर्वाह्न

लंच करने से पहले इन आहारों का सेवन करना आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिहाज से फायदेमंद हैं। इस स्‍लाइडशों में जानिए पूर्वाह्न में क्‍या-क्‍या खाना चाहिए।

Nachiketa Sharma
Written by: Nachiketa SharmaPublished at: Jan 03, 2014

पूर्वाह्न में नाश्‍ता

पूर्वाह्न में नाश्‍ता
1/7

दोपहर में लंच से पहले और ब्रेकफास्‍ट के बीच पूर्वाह्न में नाश्‍ता करना न भूलें। पूर्वाह्न के समय यानी लगभग 11 बजे के आसपास हेल्‍दी स्‍नैक्‍स लेने से आप स्‍वस्‍थ तो रहेंगे साथ ही कई बीमारियों से भी बचाव होगा। सुबह के नाश्‍ते के बाद लगभग दो घंटे बाद स्‍नैक्‍स लेने के कई फायदे हैं। आगे के स्‍लाइडशों में उन 6 स्‍वस्‍थ स्‍नैक्‍स के बारे में जानिए जिनका सेवन पूर्वाह्न में करना चाहिए।

बादाम

बादाम
2/7

बादाम बहुत फायदेमंद होता है, इसके सेवन से मस्तिष्क का विकास अच्‍छे से होता है। बादाम में फोलिक एसिड होता है जो नवजात शिशुओं में जन्म दोष की घटनाओं को कम करने में मदद करता है। गर्भवती महिलाओं को भी पूर्वाह्न में स्‍नैक्‍स के रूप में बादाम खाना चाहिए। बादाम मे विटामिन ई, पोटैशियम, फाइबर आदि पाया जाता है। यह रक्‍तचाप सामान्‍य रखता है और कैंसर के खतरे को कम करता है। स्‍नैक्‍स के रूप में 30-35 बादाम खा सकते हैं।

चॉकलेट खायें

चॉकलेट खायें
3/7

पूर्वाह्न में चॉकलेट खा सकते हैं, इसके लिए मिल्‍क चॉकलेट, डॉर्क चॉकलेट आदि आपके सामने विकल्‍प हैं। फेवनोल्स से भरपूर डार्क चॉकलेट का सेवन हृदय सम्बंधी रोग जैसे रक्तचाप और रक्त प्रवाह में कमी जैसे जोखिमों को कम कर सकता है। इसके अलावा यह वसा के स्तर को भी सुधारता है। चॉकलेट में एक ऐसा वानस्पतिक यौगिक 'इपिकेटेचीन' होता है, जो मसल्स को उसी तरह क्रियाशील करता है जैसे कि व्यायाम या खेल से जुड़ी कोई गतिविधि करती है। लेकिन अधिक मात्रा में चॉकलेट खाने से बचें।

दही खायें

दही खायें
4/7

अमेरिका के आहार विशेषज्ञों ने निष्कर्ष निकाला है कि दही के नियमित सेवन से आंतों के रोग और पेट की बीमारियां नहीं होती हैं तथा कई प्रकार के विटामिन बनने लगते हैं। दही में जो बैक्टीरिया होते हैं, वे लेक्टेज बैक्टीरिया उत्पन्न करते हैं। दही मोटापा कम करता है। हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर और गुर्दों की बीमारियों को रोकने की अद्भुत क्षमता दही में है। यह हमारे रक्त में बनने वाले कोलेस्‍ट्रॉल नामक घातक पदार्थ को बढ़ने से रोकता है। दही में कैल्शियम की मात्रा अधिक पाई जाती है, जो हमारे शरीर में हड्डियों का विकास करती है, जो दांतों एवं नाखूनों की मजबूती एवं मांसपेशियों के सही ढंग से काम करने में भी सहायक है।

केला खाइए

केला खाइए
5/7

विटामिन, प्रोटीन जैसे पोषक तत्‍वों से मौजूद केले को पूर्वाह्न के समय खायें। केला ऊर्जा का अच्छा स्रोत हैं और इसमें मिनरल्स की भी अच्छी मात्रा होती है। दरअसल केले में विटामिन सी, विटामिन ए, पौटेशियम और विटामिन बी6 होता है। हाल में हुई एक रिसर्च से यह साबित हो चुका है कि पोटैशियम ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करता है और यह किडनी से अवांछनीय पदार्थ भी बाहर निकालता है। चूंकि केला मैग्नीशियम का अच्छा स्रोत है, इसलिए यह बहुत जल्दी पच जाता है और आपके मेटाबॉलिज्म को दुरुस्त रखता है।

साबुत अनाज

साबुत अनाज
6/7

लंच से पहले एनर्जेटिक रहने के के लिए आप एक कप साबुत अनाज का सेवन कर सकते हैं। साबुत अनाज सेहत से भरपूर होता है। भूसी एवं बीज से विटामिन ई, विटामिन बी और अन्य तत्व जैसे जस्ता, सेलेनियम, तांबा, आयरन, मैगनीज एवं मैग्नीशियम आदि प्राप्त होते हैं। इनमें फाइबर भी प्रचुर मात्र में पाया जाता है। सभी साबुत अनाजों में अघुलनशील फाइबर पाये जाते हैं जो कि पाचन तंत्र के लिए बेहतर माने जाते हैं। साबुत अनाज का सेवन करने वाले लोगों को मधुमेह, कोरोनरी धमनी रोग, पेट का कैंसर और उच्च रक्तचाप जैसे रोगों की आशंका कम हो जाती है।

सेब खायें

सेब खायें
7/7

लंच पर जाने से पहले सेब का सेवन आप कर सकते हैं। सेब पौष्टिक तत्वों से भरा है जो न केवल रोगों से लड़ने में मदद करता है बल्कि आपको स्‍वस्‍थ भी रखता है। वैज्ञानिक अध्ययनों से पता चला है कि सेब के सेवन से दिल की बीमारियां, कैंसर, मधुमेह के साथ ही दिमागी बीमारियों जैसे पार्किंसन और अल्जाइमर आदि में भी आराम मिलता है। सेब रेशे वाला फल है इसीलिए इसमें फाइबर भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है। सेब को खाने से पाचन तंत्र भी सही रहता है। यह एक अच्छा एंटी-ऑक्‍सीडेंट भी है।

Disclaimer