हेल्‍थ और फिटनेस संबधित 10 मिथकों पर अभी भी आपको है विश्‍वास

स्‍वास्‍थ्‍य को लेकर रोज नये शोध सामने आते हैं और हम उनपर विश्‍वास भी करते हैं। लेकिन हेल्‍थ और फिटनेस को लेकर कई मिथक ऐसे भी हैं जिनको लेकर आज भी हमारे अंदर गलतफहमी है।

Nachiketa Sharma
Written by: Nachiketa SharmaPublished at: Jun 21, 2014

फिटनेस संबंधी मिथक

फिटनेस संबंधी मिथक
1/11

स्‍वास्‍थ्‍य को लेकर रोज नये शोध सामने आते हैं और हम उनपर विश्‍वास भी करते हैं। लेकिन हेल्‍थ और फिटनेस को लेकर कई मिथक ऐसे भी हैं जिनको लेकर आज भी हमारे अंदर गलतफहमी है, हम उनको ही सही समझते हैं और उनके हिसाब से अपने फिटनेस को निर्धारित करते हैं जबकि वास्‍तव में ऐसा नहीं है। वे बातें हमारे स्‍वास्‍थ्‍य को प्रभावित करती हैं, इसलिए इन मिथकों को जानिये। image source - getty

पानी को लेकर

पानी को लेकर
2/11

आप जानते हैं : एक गैलन पानी रोज पीना चाहिए। सच्‍चाई - कई शोधों में यह बात साबित हो चुकी है कि नियमित रूप से 10-12 गिलास पानी पीना चाहिए, चिकित्‍सक भी इतना ही पानी पीने की सलाह देते हैं। वैसे व्‍यक्ति की जरूरत के हिसाब से पानी की आवश्‍यकता होती है, लेकिन इतना पानी पीने से आप स्‍वस्‍थ रहते हैं। ये भी जानें : अगर आपको लगता है कि आप कम पानी का सेवन कर रहे हैं तो और इसके कारण आपके पेशाब में पीलापन है तो इस बारे में अपने चिकित्‍सक से सलाह कीजिए। image source - getty

कैलोरी को लेकर

कैलोरी को लेकर
3/11

आप जानते हैं : थकान वाले वर्कआउट करने से अधिक कैलोरी जलती है। सच्‍चाई : अमेरिकन काउंसिल ऑफ एक्‍सरसाइज के फिटनेस एक्‍सपर्ट लिज नेपोरेंट की मानें तो, ''यह केवल मिथक मात्र है, आप अधिक कैलोरी तभी जलाते हैं जब आप अधिक परिश्रम करते हैं।'' ये भी जानें : शरीर से अतिरिक्‍त कैलोरी को जलाने के लिए शरीर को जलाने की जरूरत नहीं, सामान्‍य रूप से व्‍यायाम आपको फिट रखने के लिए पर्याप्‍त है। image source - getty

स्‍ट्रेंथ ट्रेनिंग को लेकर

स्‍ट्रेंथ ट्रेनिंग को लेकर
4/11

आप जानते हैं - हल्‍के वजन के सेट्स बार-बार करने से भी मांसपेशियां बनती हैं। सच्‍चाई : यह भी एक मिथक की तरह है, आप अक्‍सर देखते हैं कि जिम जाने वाली महिलाओं की मांसपेशियां उतनी मजबूत नहीं होती हैं जितना कि पुरुषों की, क्‍योंकि वे भारी वजन के डंबल उठाने से कतराती हैं। अगर मसल्‍स बनाना चाहते हैं जिम में थकान वाले व्‍यायाम से कतरायें नहीं। ये भी जानें : अगर आप जिम में भारी वजन से व्‍यायाम करते हैं तो यह आपके स्‍ट्रेंथ ट्रेनिंग के लिए बहुत ही बेहतर विकल्‍प है, इससे मांसपेशियां मजबूत होती हैं। image source - getty

पसीने को लेकर

पसीने को लेकर
5/11

आप जानते हैं : पसीना शरीर के विषाक्‍त पदार्थों को निकालता है। सच्‍चाई - हालांकि इस बात में थोड़ी सी सच्‍चाई है कि पसीना हमारे शरीर से कुछ मात्रा में विषाक्‍त पदार्थों को निकालता है, लेकिन पसीना होने का प्रमुख कार्य है हमारे शरीर के तापमान को नियंत्रण में रखना। पसीने की ग्रंथियां हमारे शरीर के तापमान के हिसाब से कार्य करती हैं। ये भी जानें : अच्‍छा अनुभव पाने के लिए पसीने से खुद को तर करना सही है, लेकिन शरीर के विषाक्‍त पदार्थों को दूर करने के लिए अन्‍य तरीकों को भी आजमायें। image source - getty

एब्‍स को लेकर

एब्‍स को लेकर
6/11

आप जानते हैं : एब्‍स को फ्लैट बनाने के लिए रोज वर्कआउट करना जरूरी है। सच्‍चाई : आपके शरीर के अन्‍य मांसपेशियों और अंगों की तरह आपके एब्‍स को भी आराम की जरूरत होती है। रोज व्‍यायाम करने से मांसपेशियों पर अतिरिक्‍त दबाव बनता है और वे खुद को रिकवर नहीं कर पाती है, इसलिए जरूरी है कि मांसपेशियों को आराम दीजिए। ये भी जानें : शरीर को फिट रखने वाले अन्‍य व्‍यायाम के साथ इसे भी कीजिए। एब्‍स को बनाये रखने के लिए डायट पर भी ध्‍यान दीजिए। image source - getty

साइकिलिंग को लेकर

साइकिलिंग को लेकर
7/11

आप जानते हैं : साइकिलिंग करने से जांघों की मांसपेशियां लंबी होती हैं। सच्‍चाई : साइ‍किलिंग एक प्रकार का कार्डियोवस्‍कुलर व्‍यायाम है, न कि यह स्‍ट्रेंथ ट्रेनिंग है जो मांस‍पेशियों को मजबूत बनाता है। यह पूरे शरीर को फिट रखता है। ये भी जानें : साइकिलिंग करने से आप खुद को फिट रख सकते हैं, यह मांसपेशियों को मजबूत बनाने वाला व्‍यायाम नहीं है। image source - getty

क्रंचेज को लेकर

क्रंचेज को लेकर
8/11

आप जानते हैं : पेट और उसके आसपास के फैट को घटाने के लिए क्रंचेज सबसे अच्‍छा व्‍यायाम है। सच्‍चाई : क्रंचेज करके आप अपने एब्‍स को सामान्‍य रख सकते हैं, लेकिन यह पेट और उसके आसपास की अतिरिक्‍त चर्बी को कम करने में उतना कारगर व्‍यायाम नहीं है। यह आपके एब्‍स को बनाये रखने में मदद करता है। ये भी जानें : अगर आप अपने शरीर से अतिरिक्‍त फैट कम करना चाहते हैं तो क्रंचेज के बजाय अन्‍य व्‍यायाम पर भी ध्‍यान दीजिए। image source - getty

पितालेस और योग

पितालेस और योग
9/11

आप जानते हैं : पितालेस और योग मांसपेशियों को पतला बनाते हैं। सच्‍चाई : पितालेस और योग आपकी मांसपेशियों को मजबूत बनाते हैं। वास्‍तविकता यह शरीर को लचीला और मजबूत बनाने के लिए आप रोज इन आसनों को अभ्‍यास कर सकते हैं। ये भी जानें : पितालेस और योग के कई फायदे हैं, यह आपके शरीर को लचीला बनाता है और बीमारियों से बचाता है। image source - getty

फैट को लेकर

फैट को लेकर
10/11

आप जानते हैं : शरीर की अतिरिक्‍त चर्बी को घटाने के लिए कार्डियो व्‍यायाम करने चाहिए। सच्‍चाई : अगर आप शरी की अतिरिक्‍त चर्बी को घटाना चाहते हैं तो कठिन व्‍यायाम कीजिए। नियमित रूप से कार्डियो के साथ अन्‍य व्‍यायाम करके आप शरीर की अतिरिक्‍त चर्बी कम कर सकते हैं। ये भी जानें : फैट को कम करने के लिए वर्कआउट का रूटीन बनाइये और उसका सही तरीके से पालन कीजिये, खानपान पर भी ध्‍यान दें। image source - getty

Disclaimer