पोटैशियम की कमी के ये होते हैं लक्षण

पोटैशियम शरीर के लिए बहुत महत्‍वपूर्ण मिनरल है, यह दिल, किडनी और अन्‍य अंगों के लिए जरूरी है, शरीर में इसकी कमी के लक्षण इस तरह दिखते हैं।

Pooja Sinha
Written by:Pooja SinhaPublished at: Sep 08, 2015

पोटैशियम की कमी

पोटैशियम की कमी
1/7

आमतौर पर लोग विटामिन, प्रोटीन, मिनरल और आयरन को तो शरीर के लिए जरूरी मानते हैं, लेकिन पोटैशियम को अक्‍सर नजरअंदाज कर देते हैं। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि पोटेशियम की कमी से शरीर को अनेक प्रकार की समस्‍याओं का सामना करना पड़ सकता है। पोटेशियम ऐसा मिनरल है जो शरीर के लिए बहुत महत्‍वपूर्ण है। पोटेशियम दिल, किडनी और अन्‍य अंगों के सामान्‍य रूप से काम करने के लिए आवश्‍यक है। पोटेशियम एक इलेक्ट्रोलाइट है जो ऊतकों, कोशिकाओं, नसों और मांसपेशियों के लिए जरूरी है। यह पोषक तत्‍वों को कोशिकाओं के अंदर और अपशिष्‍ट उत्‍पादों को कोशिकाओं से बाहर ले जाने में मदद करता है। इसलिए पोटेशियम की कमी से होने वाले लक्षण नजर आने पर तुरन्त चिकित्सक से सलाह लें और इसके कमी को पूर्ण करने की कोशिश करें।

पोटैशियम की कमी के लक्षण

पोटैशियम की कमी के लक्षण
2/7

अगर पोटेशियम की कमी को नजरअंदाज किया जाये तो बाद में दस्त, निर्जलीकरण, उल्टी का कारण बन सकता है। इसके कमी को पूर्ण करने के लिए बहुत सारे सप्‍लीमेंट आते हैं लेकिन मगर प्राकृतिक खाद्य पदार्थ से भी इसके कमी को पूरा किया जा सकता है। टमाटर, आलू, केला, बीन्स, हरी पत्तेदार सब्जियां, दही, मछली, मशरूम आदि में यह भरपूर मात्रा में होता है। आइए जानें पो‍टेशियम की कमी से शरीर में कौन-कौन से लक्षण दिखाई देते हैं।

दिल की धड़कन तेज होना

दिल की धड़कन तेज होना
3/7

हार्ट बीट वैसे तो कई कारणों से तेज होती है। लेकिन पोटेशियम की कमी भी इसका एक कारण है। दिल की धड़कनें सामान्य रखने में इसका बहुत बड़ा हाथ होता है। शरीर में पोटेशियम की मात्रा ज्यादा या कम हो जाए तो तंत्रिका या दिल की धड़कन से जुड़ी समस्याएं होने का खतरा रहता है। रक्‍त में सोडियम की मात्रा बढ़ जाने के कारण हार्ट बीट में बाधा उत्‍पन्‍न होने लगता है।

उच्च रक्तचाप का खतरा

उच्च रक्तचाप का खतरा
4/7

रक्‍तवाहिकाओं के सुचारू रूप से कम करने में पोटेशियम मदद करता है। पोटेशियम की कमी से रक्त वाहिका पर दबाव पड़ता है, जिससे उच्चरक्त चाप की समस्‍या होने लगती है।

मांसपेशियों में दर्द

मांसपेशियों में दर्द
5/7

पोटेशियम मांसपेशियों के सुचारू रूप से कार्य करने में सहायक होता है और शरीर में पोटेशियम की कमी हो जाये तो मांसपेशियों का लचीलापन खो जाता है जो दर्द का कारण बन जाता है।

थकान महसूस होना

थकान महसूस होना
6/7

पोटेशियम की सही मात्रा शरीर को सामान्य रूप से काम करने में सहायता करती है। जबकि इसकी कमी से आप रोजमर्रा के काम में भी थकान महसूस करने लगते हैं और आपको नींद भी बहुत अधिक आती है।

सोडियम की मात्रा का बढ़ना

सोडियम की मात्रा का बढ़ना
7/7

पोटेशियम की कमी से शरीर में सोडियम की मात्रा बढ़ जाती है जिसका बहुत बुरा प्रभाव दिल पर पड़ता है और जो दिल की बीमारी का कारण भी हो सकता है। इसलिए जंक और प्रोसेस्ड फूड से हमेशा बच कर रहना चाहिए जो सोडियम की मात्रा को बढ़ाने का कारण बनते है।Image Source : Getty

Disclaimer