भारत में आसानी से मिल रहे हैं अमेरिका में प्रतिबंधित ये उत्‍पाद

बाजार में कई उत्‍पाद मौजूद हैं जो सेहत के लिहाज से बिलकुल भी फायदेमंद नहीं होते हैं, लेकिन इसमें मौजूद हानिकारक तत्‍वों से लोग अनजान होते हैं, अमेरिका में प्रतिबंधित इन उत्‍पादों का भारत में प्रयोग हो रहा है, इनके बारे में आप भी जानें।

Gayatree Verma
Written by: Gayatree Verma Published at: Apr 27, 2017

सभी कर रहे हैं इनका प्रयोग

सभी कर रहे हैं इनका प्रयोग
1/6

घरों में ऐसे कई प्रोडक्ट प्रयोग किए जाते हैं जिन्हें बनाने में प्लास्टिक माइक्रोबीड्स और टाइनी पार्टिकल्स, एक्सफोलिएटिंग एजेंट्स के तौर पर इस्तेमाल किए जाते हैं। इन उत्‍पादों में रोज प्रयोग किये जाने वाले टूथपेस्‍ट, फेसवॉश, साबुन, रेजर आदि हैं। अमेरिका और यूरोपियन देशों में खानपान से संबंधित कई चीजें ऐसी भी हैं जो प्रतिबंधित हैं लेकिन भारत जैसे दूसरे एशियाई देश इनका प्रयोग कर रहे हैं। दवाओं के मामले में भी यही हाल है। आखिर क्‍यों इनपर अमेरिका ने लगाया प्रतिबंध, इसके बारे में इस स्‍लाइडशो में चर्चा करते हैं।

यूएस में हो गए हैं बैन

यूएस में हो गए हैं बैन
2/6

माइक्रोबीड्स से बने ये कॉस्मेटिक और अन्य प्रोडक्ट हाल ही में यूएस में प्रतिबंधित कर दिए गए हैं। ये प्रोडक्ट पानी को प्रदूषित करते हैं। इस कारण ओबामा ने हाल ही में इन प्रोडक्ट को बैन करने का आदेश दे दिया और राष्‍ट्रपति की स्‍वीकृति मिलने के बाद कई जानी-मानी कंपनियों के उत्‍पाद वहां बिकने बंद हो जायेंगे। इनमें मौजूद माइक्रोबीड्स या अन्य पेट्रोकेमीकल प्लास्टिक से बने हुए होते हैं, त्वचा पर रब करने या त्वचा के संपर्क में आने के बाद ये पानी में डिज़ॉल्व नहीं होते हैं, जो वॉटर पॉल्यूटेंट्स का काम करते हैं। इन प्रोडक्ट के कारण भी आज पानी प्रदूषित हो रहा है।

कई देशों में प्रतिबंधित है शहद

कई देशों में प्रतिबंधित है शहद
3/6

अमेरिका और यूरोपियन देशों ने शहद को प्रतिबंधित कर दिया है। भारत में धड़ल्‍ले से मिलने वाले शहद के ब्रांड जैसे - डाबर, हिमालया, बैद्यनाथ विदेशों में प्रतिबंधित है। विदेशों में इसके सैंपल को 10 से अधिक बार जांचा गया है औ इसमें शरीर को नुकसान पहुंचाने वाले एंटी-बॉयटिक्‍स मिले। इसके कारण ही ये उत्‍पाद विदेशों में प्रतिबंधित हैं।

च्‍यवनप्राश

च्‍यवनप्राश
4/6

'तन और मन को शक्ति प्रदान कर शरीर को मजबूत बनाये' ये इस उत्‍पाद को लुभाने वाला विज्ञापन है और इसके कारण ही आज ये भारत के लगभग हर घर में आपको मिल जायेगा। लेकिन क्‍या आप जानते हैं भारत में धड़ल्‍ले से बिकने वाला डाबर च्‍यवनप्राश, सोना चांदी च्‍यवनप्राश, हिमालय च्‍यवनप्राश, आदि विदेशों में प्रतिबंधित है। इसमें लेड और मर्करी की मात्रा अधिक होने के कारण कनाडा ने इसे 2005 में ही प्रतिबंधित कर दिया था।

हल्‍दीराम की नमकीन

हल्‍दीराम की नमकीन
5/6

नमकीन की बात करें तो सबसे पहले आपके दिमाग में हल्‍दीराम की छवि ही आती होगी। शायद यह भारत में सबसे अधिक बिकने वाला उत्‍पाद है। लेकिन ड्रग एड्मिनिस्‍ट्रेशन ऑफ यूएसए ने हल्‍दीराम को प्रतिबंधित किया हुआ है। इतना ही नहीं अमेरिका में हल्‍दीराम के स्‍नैक्‍स, बिस्किट, कुकीज भी प्रतिबंधित हैं। यूएसए ड्रग एड्मिनिस्‍ट्रेशन ने इसे गंदा, सड़ा हुआ उत्‍पाद माना है।

ये भी हैं प्रतिबंधित

ये भी हैं प्रतिबंधित
6/6

अमेरिका ने कुछ दवाओं पर भी प्रतिबंध लगया है लेकिन वो भारत में धड़ल्‍ले से मिल रहा है। कुछ दवायें जैसे डी-कोल्‍ड, विक्‍स ऐक्‍शन500, इंटरक्‍वीनॉल, एनॉल्जिन आदि प्रतिबंधित हैं। एफडीए ने घी पर भी प्रतिबंध लगाया है। और दूसरे डेयरी उत्‍पादों पर भी एफडीए ने प्रतिबंध लगाया है।

Disclaimer