हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

इन गलतियों के कारण दोबारा बढ़ रहा है आपका वजन, फॉलो करें ये टिप्‍स

By:Atul Modi, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Feb 19, 2018
सही डायट शेड्यूल बनाकर लोग एक बार वजन कम तो कर लेते हैं, लेकिन उसे ज्यादा मेंटेन नहीं कर पाते। इसका नतीजा होता है बिना कंट्रोल की डाइट और फिर वापस वजन बढ़ना। इसी स्थिति को ही यो-यो ड्रायट सिंड्रोम कहा जाता है।
  • 1

    क्यों वजन में परिवर्तन होता रहता है

    क्या आपका वजन डायटिंग करने के बावजूद फिर बढ़ जाता है? क्या अक्सर डायट चार्ट फॉलो करते-करते आपका शेड्यूल टूट जाता है? या फिर कुछ दिन की डायट के बाद अचानक आप ज्यादा खाने लगते हैं? अगर ऐसा है, तो यकीनन से सब आपकी यो-यो डायटिंग की वजह से हो रहा है। अक्सर इस समस्या से ग्रस्त लोगों को मालूम ही नहीं होता कि उनके साथ ऐसा हो क्यों रहा है।

    क्यों वजन में परिवर्तन होता रहता है
    Loading...
  • 2

    यो-यो डाइटिंग का असर पड़ता है वजन पर

    सही डायट शेड्यूल बनाकर लोग एक बार वजन कम तो कर लेते हैं, लेकिन उसे ज्यादा मेंटेन नहीं कर पाते। इसका नतीजा होता है बिना कंट्रोल की डाइट और फिर वापस वजन बढ़ना। इसी स्थिति को ही यो-यो ड्रायट सिंड्रोम कहा जाता है। यही नहीं, डायटिंग के अलग-अलग तरीके अपनाने के बावजूद सफलता नहीं मिलने पर डिप्रेशन और दिल की बीमारियां तक हो सकती हैं। दरअसल, एक बार लूज करने के बाद जब आप दोबारा वेट गेन करने लगते हैं, तो ना तो आप मानसिक तौर पर इसके लिए तैयार होते हैं और ना ही डायटिंग के लिए आपके पास वह विल पावर होती है। यो-यो डाइटिंग रोकने के लिए इन तरीकों को अपनाया जा सकता है।

    यो-यो डाइटिंग का असर पड़ता है वजन पर
  • 3

    आसान हो डाइट प्लान

    अक्सर लोग अपने डायट प्लान से इसलिए स्टिक नहीं रह पाते क्योंकि वो काफी मुश्किल होता है। लोग वजन तेजी से घटाने के लिए बहुत सख्त डायट प्लान बना लेते हैं। शुरू में तो वो तेजी से वजन घटाते हैं लेकिन जब कुछ दिन बाद वो अपना डायट प्लान फॉलो नहीं कर पाते तो वजन फिर से बढ़ने लगता है। इससे बचने के लिए डाइट प्लान को आसान बनाएं।

    इसे भी पढ़ें: भूखा रहे बिना भी घटा सकते हैं वजन, ये हैं 5 आसान टिप्‍स

    आसान हो डाइट प्लान
  • 4

    खाने में वैरायटी

    अगर आपका डायटिंग प्लान ऐसा है जिसमें वैरायटी नहीं हैं, तो आपके शरीर में पोषक तत्वों का संतुलन नहीं बन पाएगा। कार्बोहाइड्रेट्स, प्रोटीन और फैट के लिए ग्रेन्स, मिनरल्स और विटामिंस के लिए फल-सब्जियां आपकी डायट में होने चाहिए।

    इसे भी पढ़ें: शरीर के इन 2 प्‍वाइंट्स को दबाने भर से ही घटेगा 5Kg वजन

    खाने में वैरायटी
  • 5

    कम अंतराल में खाएं

    जब आप अधिक अंतराल में खाना खाते हैं तो देर तक न खाने की वजह से आपकी भूख बढ़ जाती है और आप ज्यादा खा लेते हैं। इस तरह से आपका डायटिंग प्लान और कंट्रोल करना सब बेकार जाएगा। इसलिए दो बड़े मील्स के बीच लाइट व हेल्दी स्नैक्स लें। इससे आपको अधिक भूख नहीं रहेगी। कोशिश करें कि फल व अंकुरित अनाज स्नैक्स के रूप में लें।

    इसे भी पढ़ें: अगर पाना है स्लिम फिगर, तो खजूर का करें ऐसा सेवन

    कम अंतराल में खाएं
  • 6

    डॉक्टर और एक्सपर्ट की सलाह लें

    अक्सर लोग इंटरनेट या किसी किताब में पढ़कर, या फिर किसी दोस्त की सलाह पर डायटिंग शुरू कर देते हैं। लेकिन डायटिंग का ये तरीका सही नहीं है। किसी भी प्रकार के डाइट प्लान को फॉलो करने से पहले आपको किसी डॉक्टर या एक्सपर्ट से सलाह लेनी चाहिए। हर किसी को अलग डाइट की जरूरत होती है।

    इसे भी पढ़ें: वजन घटाने वाले ये 7 टिप्‍स हैं बिल्‍कुल झूठ, कभी न करें भरोसा

    डॉक्टर और एक्सपर्ट की सलाह लें
  • 7

    कोई आदर्श ढूंढें

    डायटिंग करना तब बहुत आसान हो जाता है जब आपके सामने कोई ऐसा व्यक्ति हो जिसे डायटिंग करने का बहुत फायदा मिला हो। कोई भी आदर्श हमेशा प्रेरित ही करता है। अगर आपका कोई ऐसा सफल आदर्श होगा तो आप उसको देखते देखते हमेशा अच्छी डाइट के लिए प्रेरित होते रहेंगे। आप डायटिंग छोड़ेंगे नहीं।

    कोई आदर्श ढूंढें
  • 8

    लॉन्ग टर्म की सोचें

    और आखिर में, वजन कम करना और यो-यो डायटिंग से बचने के लिए लंबे समय तक फोकस्ड रहना जरूरी है। कुछ लोगों को डायटिंग का फायदा थोड़ी देर से मिलता है, ऐसे लोगों को बीच में ही अपना प्लान ड्रॉप नहीं करना चाहिए, बल्कि लॉन्ग टर्म के बारे में सोचना चाहिए।

    लॉन्ग टर्म की सोचें
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर