अगर चाहते हैं तरक्‍की तो इन बातों से करें तौबा

कामयाबी और खुशी हमारी आदतों पर निर्भर करती हैं। अगर हम अपनी आदतों को संवार लें, तो फिर ऐसा कुछ नहीं जो हमारी पहुंच से दूर हो। जानिये कौन सी आदतों को छोड़कर हम तरक्‍की और खुशी पा सकते हैं।

Bharat Malhotra
Written by: Bharat MalhotraPublished at: Aug 02, 2014

कामयाबी हर किसी की चाह

कामयाबी हर किसी की चाह
1/12

जीवन में सब कामयाब होना चाहते हैं। लेकिन हमारी कुछ आदतें ही कामयाबी और खुशी की राह में रोड़ा बन जाती हैं। हम जाने अनजाने इन आदतों के गुलाम बन जाते हैं। हम यह भूल जाते हैं कि कामयाब होने के लिए कड़ी मेहनत की जरूरत होती है। image courtesy : getty images

गलत लोगों के साथ वक्‍त न बितायें

गलत लोगों के साथ वक्‍त न बितायें
2/12

जिंदगी बहुत छोटी है आखिर गलत लोगों के साथ बिताकर इसे क्‍यों खराब किया जाए। अगर किसी को जिंदगी में आपकी जरूरत है तो वह आपके लिए जगह बनायेगा। आपको अपनी जगह के लिए लड़ना नहीं चाहिये। ऐसे किसी व्‍यक्ति के साथ समय न बितायें जो बार*बार आपको नजरअंदाज करते हैं। या‍द रखिये असली दोस्‍त वे नहीं होते जो कामयाबी में आपके साथ होते हैं, बल्कि वे होते हैं, जो मुश्‍किल में आपके साथ होते हैं। image courtesy : getty images

अपनी परेशानियों से भागें नहीं

अपनी परेशानियों से भागें नहीं
3/12

कोशिश करने वालों कभी हार नहीं होती। मुश्किलों का डटकर सामना करें। हालांकि, ऐसा करना आसान नहीं है। ऐसा कोई भी व्‍यक्ति नहीं है जिसके जीवन में कभी कोई मुश्किल न आई हो। और हर परेशानी का हल फौरन मिल जाए, ऐसा भी संभव नहीं है। दुखी, उदासी, कष्‍ट और लड़खड़ाना मानवीय प्रवृत्ति का हिस्‍सा है। यही तो जीवन है। मुश्किलों का सामना करने के लिए आपको लगातार सीखना, खुद को परिस्थितियों के अनुसार ढालना और फिर उन्‍हें सुलझाने में जुट जाना होता है। और यही आपको एक बेहतर इनसान बनने में मदद करता है। image courtesy : getty images

खुद से झूठ न बोलें

खुद से झूठ न बोलें
4/12

आप दुनिया में सबसे झूठ बोल सकते हैं, लेकिन अपने आप से नहीं। हमारा जीवन तभी सुधरता है जब आप जोखिम उठाते हैं। और सबसे पहला और चुनौतीपूर्ण काम जो हमें करना चाहिये वह है अपने आप से ईमानदारी बरतना। image courtesy : getty images

अपनी जरूरतों का रखें ध्‍यान

अपनी जरूरतों का रखें ध्‍यान
5/12

आप किसी को बहुत चाहते हैं और उसे खुश रखने के चक्‍कर में आप खुद को कहीं भूल जाते हैं। आप यह भूल जाते हैं कि आप भी खास हैं। जी, बेशक दूसरों की मदद करने में कोई बुराई नहीं। लेकिन, स्‍वयं को नजरअंदाज न करें। अगर आप कुछ ऐसा काम करना चाहते हैं जो आपका जुनून है और आपके लिए बहुत मायने रखता है, तो अभी इसी पल उसे शुरू कर दें। image courtesy : getty images

खुद को न बदलें

खुद को न बदलें
6/12

आप जो हैं वही बने रहना बहुत चुनौतीपूर्ण होता है। हम अपनी काफी ऊर्जा वह बनने में लगा देते हैं, जो हम नहीं हैं। कोई न कोई आपसे खूबसूरत होगा और कोई न कोई ज्‍यादा स्‍मार्ट होगा, लेकिन वह आप नहीं हैं। उनमें आप जैसी खूबियां नहीं हैं। किसी से सीखना अलग बात है, लेकिन खुद को किसी पर ढाल देना बिलकुल ही दूसरी बात। अपने आप को इसलिए न बदलें‍ कि लोग आपको पसंद करना शुरू कर देंगे। आप जो हैं वही रहें सही लोग आपको इसी अंदाज में पसंद करेंगे। image courtesy : getty images

पिछली बातों को याद रखना

पिछली बातों को याद रखना
7/12

जीवन चलने का नाम है। अगर आप रुक जाएंगे तो कभी नया मुकाम हासिल नहीं कर पायेंगे। बीती बातों में अटके रहना छोड़ दें। आप नया पन्‍ना तब तक नहीं पढ़ सकते, जब तक आप पुरानी ही बातों में अटके रहेंगे। image courtesy : getty images

गलती करने से न डरें

गलती करने से न डरें
8/12

अगर आप कोई गलती नहीं करते, तो आप कुछ सीखते नहीं हैं। कुछ करके गलती करना, खाली बैठने से बहुत अच्‍छा होता है। हर कामयाबी के पीछे नाकामयाबी की लंबी फेरहिस्‍त होती है। और नाकामी आपको सफलता की ओर ले जाती है। अंत में आपको चीजें न करने का अफसोस, चीजें करने के मुकाबले ज्‍यादा होगा। image courtesy : getty images

खुशियां खरीदी नहीं जातीं

खुशियां खरीदी नहीं जातीं
9/12

हमारी चाहत की कई ऐसी चीजें होती हैं, जिनकी कीमत बहुत ज्‍यादा होती है। लेनिक सच यह है कि जो चीजें हमें वास्‍तव में संतुष्‍ट करती हैं, वे पूरी तरह फ्री हैं। प्‍यार, हंसी और जुनून के साथ अपना काम करने के लिए आपको किसी प्रकार का धन खर्चने की जरूरत नहीं है। जिंदगी आपको दोस्‍त और परिजन भी बिना किसी कीमत के देती हैं। उनके साथ का आनंद उठाइये। image courtesy : getty images

बाहर खुशियां तलाशना

बाहर खुशियां तलाशना
10/12

आप अंदर से अपने आपसे खुश नहीं हैं, तो आप बाहर भी लंबे समय तक दूसरों से खुश नहीं रह सकते। आप लंबे समय तक चलने वाले किसी संबंध में दूसरों के साथ भी खुश नहीं रह सकते। आपके अपने भीतर स्थिरता का भाव लाना होगा। जब आप भीतर से संतुष्‍ट नहीं हैं, तब तक आप दूसरों को भी खुशी या संतुष्टि नहीं दे सकते। image courtesy : getty images

Disclaimer