7 चीजें जो आपके पीरियड्स के साथ करती हैं गड़बड़

मेंस्‍ट्रूअल साइकिल महिलाओं को हर महीने नियमित रूप से होता है, लेकिन अगर यह अनियमित हो जाये तो कई तरह की स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍यायें हो सकती हैं, इसलिए इस साइकिल को गड़बड़ करने वाली इन चीजों से परहेज करें।

Rahul Sharma
Written by: Rahul SharmaPublished at: Aug 05, 2015

क्‍यों होती है पीरियड्स के साथ गड़बड़

क्‍यों होती है पीरियड्स के साथ गड़बड़
1/8

अनियमित पीरियड कई शारीरिक व मानसिक समस्याओं का कारण बन सकती है। सामान्य स्थिति में इनका एक चक्र 3 से 7 दिन के लिए रहता है। टीनएज लड़कियों में इस तरह की समस्या हार्मोंस में गड़बड़ी के कारण भी हो सकती है, लेकिन पीरियड्स के साथ गड़बड़ होने के कई कारण हो सकते हैं। चलिये जानें क्या हैं वे कारण जिनकी वजह से पीरियड अनियमित हो जाता है।Images source : © Getty Images

ज्यादा तनाव

ज्यादा तनाव
2/8

ज्यादा तनाव होने से स्‍ट्रेस हार्मोन पर सीधा असर पड़ता है जोकि एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन (सेक्‍स हार्मोन) के उत्पादन के साथ हस्तक्षेप करता है। अगर रक्त धारा में स्‍ट्रेस हार्मोन बढ़ जाता है तो आपकी साइकिल पर भी असर पडता है।Images source : © Getty Images

वजन कम या ज्यादा

वजन कम या ज्यादा
3/8

वजन का भी पीरियड पर गहरा असर पड़ता है। अगर ज्यादा मोटी या ज्यादा पचली हों (एक्ट्रा या ओवर वेट) तो भी अनीयमित परियड्स की समस्या होती है। सही पोषण न लेने पर या फिर वजन ज्यादा होने पर कुछ हारमोन के स्राव की मात्रा बदल जाती है। वहीं अगर आप मोटी हैं और ऐसी डाइट खा रही हैं जो कार्बोहाइड्रेट या वजन बढ़ाने वाली है तो, शरीर में कुछ तरह के हार्मोनों से स्तर में बदलाव आ सकता है। Images source : © Getty Images

थायरॉइड के कारण

थायरॉइड के कारण
4/8

थॉयराइड हारमोन्स भी महावारी की अनीयमितता का कारण होते हैं, जिसके कम या ज्यादा होने की वजह से भी ये रेग्युलर नहीं होता है। हालांकि इसकी जांच व उपचार कर इस समस्या से आराम पाया जा सकता है।  Images source : © Getty Images

ज्यादा एक्सरसाइज

ज्यादा एक्सरसाइज
5/8

ज्यादा एक्सरसाइज भी पीरीयड्स को अनीयमित कर सकती है। क्योंकि माहावारी करवाने के लिये शरीर को शक्‍ति चाहिये होती है और जब इस शक्‍ति क जिम में लगा दिया जाता है, तो म‍हीने के इन दिनों में परेशानी होती है। वहीं अचानक वजन कम होना या बढ़ना भी हार्मोन में परिवर्तन कर देता है।Images source : © Getty Images

शराब या धूम्रपान

शराब या धूम्रपान
6/8

ज्‍यादा शराब पीने या धूम्रपान करने से भी ये समस्या होती है। हमारा लीवर एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन हार्मोन को मेंटेन करता है और इन्हें मेटाबॉलाइज करके महिलाओं के मासिक धर्म को नियमित करने का काम करता है। ऐसे में अल्कोहल का सेवन लीवर को नुकसान पहुंचाता है और इससे पीरियड पर बुरा असर पड़ता है। Images source : © Getty Images

पीसीओएस (PCOS)

पीसीओएस (PCOS)
7/8

ओवरी में सिस्‍ट और उसके कारण सही समय पर पीरियड्स का न आने को पीसीओएस (PCOS) कहा जाता है। हार्मोन में थोड़ा सा भी बदलाव मासिक धर्म चक्र पर तुरंत असर डालता है और उसे अव्यवस्थित कर सकता है। Images source : © Getty Images

कुछ दवाएं

कुछ दवाएं
8/8

यदि आपको जल्द में ही दवाइयां लेनी पड़ी थीं तो इससे भी आपके पीरियड्स कुछ दिनों के लिये टल सकते हैं। क्‍योंकि कुछ दवाइयां एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन के लेवर पर असर डालती हैं। कई बार मेनोपॉज शुरू होने के 1 से 2 साल पहले से भी अनियमित पीरियड शुरू हो जाते हैं।Images source : © Getty Images

Disclaimer