जॉब के साथ ऐसे करें अपने जुड़वा बच्‍चों की देखभाल

अभिनेत्री और गायिका जेनिफर लोपेज को अपने जुड़वा बच्चों-मैक्स और एमी की परवरिश अकेले ही कर रहीं है। ऐसी कई महिलाएं है जो अपने जुड़वा बच्चों को अकेले पाल रहीं है, उनकी परवरिश के लिए कुछ तरीके जो मददगार साबित हो सकते है।

Rashmi Upadhyay
Written by: Rashmi UpadhyayPublished at: Jan 12, 2018

मदद लें

मदद लें
1/5

बच्चों को पालना अपने में ही आसान नहीं होता है। फिर चाहे एक ही बच्चा क्यूं ना हो। ऐसे में अगर आपका साथी भी नहीं है तो मुश्किलें थोड़ी बढ़ सकती है। पर आप परेशान ना हो। दोनो बच्चों की परवरिश के लिए आप किसी अन्य परिवारजन या दोस्त की मदद ले सकती है।  हो सकता है वो रातभर आपके पास ना रूक सकते हो पर दिन में तो आपके लिए बाहर से सामान लाने और खाना बनाने जैसे कामों में मदद कर सकते है। अगर आपके लिए संभव हो तो आप मेड रख लें। वो भी आपके लिए सुविधाजनक रहेगी। Image Source-Getty

क्लब में शामिल हो

क्लब में शामिल हो
2/5

जुड़वा बच्चों की परवरिश के लिए बाजार में कई तरह की किताबें मौजूद है, आप बच्चों के जन्म से पहले ही उनको जरूर पढ़े। ये आपको बहुत काम आएगी। साथ ही पता करे अगर आपके आसपास जुड़वा बच्चों के लिए कोई क्लब हो तो उसे ज्वाइन कर लें। ये आपकी मेहनत को भी बचाएगा साथ ही बच्चों के लिए भी बेहतर रहेगा।  Image Source-Getty

धैर्य रखें

धैर्य रखें
3/5

ध्यान रहें कि बच्चा एक ही क्यों ना हो तब भी उसकी परवरिश के लिए बहुत धैर्य रखना पड़ता है। ऐसे में अगर आपके जुड़वा बच्चे है तो आपको ज्यादा धैर्य का रखने की जरूरत पड़ेगी। अगर आप ऐसा नहीं करेंगे तो बहुत जल्दी आपको चिड़चिड़हट का अनुभव होने लगेगा। जो आपकी परेशानी को बांटने के अलावा कुछ नहीं करेगा। अपने मां-बाप से बात करें, उनसे टिप्स लें। आपको बहुत आसानी होगी।  Image Source-Getty

शिड्यूल बनाएं

शिड्यूल बनाएं
4/5

हमेशा खुश रहने की कोशिश करें। जब आप खुश होंगे, तो आपके बच्चे का नजरिया भी पॉजिटिव होगा। अगर आप चिंता, तनाव, भय, दुख, ईर्ष्या आदि के भाव से भरे होंगे, तो इससे बच्चे पर बुरा असर पड़ेगा। इसके लिए आपको अपना समय चाहिए होगा। जो आप जरूर लें। अकस्र बच्चों की परवरिश की चिंता ही उनकी सबसे बड़ी परेशानी बना जाती है। कोशिश करें कि दोनो बच्चों के उठने-सोने का समय अलग अलग रहें, ताकि आपको ठीक से समय मिल सके और बच्चों की परवरिश भी बेहतर हो सके। Image Source-Getty

रोने दे बच्चा

रोने दे बच्चा
5/5

बच्चें है परेशान होंगे, रोएंगे। जरूरी नहीं है कि हमेशा कोई दिक्कत ही हो। कई बार बच्चे बिना किसी कारण के भी रोते है। ऐसे में आप परेशान ना हों। सुनने में अजीब लगता है पर ये सही तरीका है। बच्चों के जन्म से लेकर पहले साल तक ये बहुत मुश्किल सा होता है कि दोनो को समय से स्तनपान करा सके या दोनो का एक समय पर कर सकें। लेकिन अगर ऐसे  में बच्चे रोते है तो परेशान ना हो। किसी भी तरह का गिल्ट ना रखें।Image Source-Getty

Disclaimer