5 संकेतों से जानें कि वास्‍तव में आपका बच्‍चा है खुश

अगर आप नहीं जानते कि बच्‍चों का व्‍यवहार उनकी खुशी को प्रतिबिंबित करता है तो इस स्‍लाइड शो को पढ़ें। यहां ऐसे कुछ संकेतों के बारे में बताया गया हैं जो बताते है कि बच्‍चे जीवन से पूरी तरह से संतुष्‍ट हैं।

Pooja Sinha
Written by:Pooja SinhaPublished at: Oct 28, 2015

क्‍या वास्‍तव में खुश है आपका बच्‍चा

क्‍या वास्‍तव में खुश है आपका बच्‍चा
1/6

बचपन मानव जीवन का सबसे अच्‍छा और सबसे लापरवाह चरण होता है। बचपन वह समय है जब हम सोचते कम है, महसूस ज्‍यादा करते है और अपने सबसे अच्‍छे दोस्‍त के साथ बिताये हर दिन का मजा लेते हैं। एक खुश बच्चे की मुस्कान दुनिया में सबसे अच्छी और सबसे खूबसूरत चीजों में से एक है। एक अभिभावक होने के नाते, आप अपने बच्‍चे को एक सफल व्यक्ति बनाने की पूरी कोशिश करते हैं। उनके जीवन, गतिविधियों, शौक, हितों पर ध्यान देने की कोशिश करने के साथ उनकी समस्याओं का समाधान करने और आगे बढ़ने में मदद करने के हर अवसर बच्‍चों को प्रदान करते है। लेकिन क्‍या आप अपने बच्चों को खुश पाते हैं? समय-समय पर, अपने बच्‍चों के व्‍यवहार, असामान्‍य कार्यों, शब्‍दों और आदतों पर ध्‍यान देना जरूरी होता है क्‍योंकि वे खुशी या दुख के सबसे जानकारीपूर्ण संकेतक हैं। अगर आप नहीं जानते कि बच्‍चों का व्‍यवहार उनकी खुशी को प्रतिबिंबित करता है तो इस स्‍लाइड शो को पढ़ें। आइए ऐसे कुछ संकेतों के बारे में जानें जो बताते हैं कि बच्‍चे अपने जीवन से पूरी तरह से संतुष्‍ट हैं।

थोड़े से मेसी होते हैं ऐसे बच्‍चे

थोड़े से मेसी होते हैं ऐसे बच्‍चे
2/6

खुश बच्‍चे अपने आसपास के माहौल से बहुत जल्‍दी घु‍लमिल जाते हैं और एक्टिव रूप से दुनिया से इंटरैक्ट करते हैं। वह आसानी से गंदे हो जाते हैं और गड़बड़ी को नोटिस भी नहीं करते। इसमें कोई शक नहीं कि ऐसे बच्‍चे महत्‍वपूर्ण कौशल गुरू होते हैं और उम्र के साथ समझदार होते है।

बहुत मुश्किल है उनके लिए परी की कहानी चुनना

बहुत मुश्किल है उनके लिए परी की कहानी चुनना
3/6

खुश बच्‍चे एक ही तरह की परी की कहानियां सुनना और पढ़ना पसंद नहीं करते। सभी सफल लोगों की तरह, वे हमेशा कुछ नये और बेहतर की खोज में रहते हैं। हर शाम वे नये कारनामों और दुनिया में बहादुर, सुंदर और जादूई पात्रों की तलाश के लिए तरसने लगते हैं। परियों की कहानी के आदी बच्‍चे कहानी में वर्णित आंतरिक संघर्ष से ग्रस्‍त रहते है। लेकिन खुश बच्‍चे जवाब और उनके पसंदीदा पुरानी कहानी को सुनने के माध्यम से इस मुद्दे का हल खोजने की कोशिश।

बहुत कठिन होता है ऐसे बच्‍चों को सुलाना

बहुत कठिन होता है ऐसे बच्‍चों को सुलाना
4/6

रात की अच्‍छी नींद लगभग हर वयस्‍क का पोषित सपना है। लेकिन एक्टिव और हैपी बच्‍चे के अन्‍य सपने होते हैं और वह वयस्‍कों के इस नियम को दिनचर्या बनाना पसंद नहीं करते। वह आमतौर पर अच्‍छी तरह सोते हैं लेकिन समय पर बिस्‍तर पर जाने की आदत को नहीं अपनाते। हालांकि यह समस्‍या ऐसे बच्‍चों में हमेशा नहीं रहती। मनोवैज्ञानिक कहते हैं कि उम्र के साथ ऐसे बच्‍चों के विचारों और भावनाओं के बारे में जागरूकता विकसित होने लगती हैं और आंतरिक संवाद बनाये रखने में मदद मिलती है।

बहुत ज्यादा चाहत रखना

बहुत ज्यादा चाहत रखना
5/6

खुश बच्‍चे अक्‍सर अपने माता-पिता की तरह डिमांडिंग होते हैं। हमेशा अपने माता-पिता की बाहों में रहकर दूसरों का ध्‍यान क्र‍ेंद्रित करने की कोशिश करते हैं। इसके अलावा मनमौजी हुए बिना, वे अक्सर "मैं चाहता हूं और "मैं नहीं करना चाहता" जैसे शब्‍दों को प्रयोग करते हैं। इसके विपरीत वह अपने माता-पिता के प्रति अधिक संवदेनशील होते हैं, बड़ों का और उनकी सलाह का आदर करते हैं और विवादस्‍प्रद स्थिति में समझौता करने के बारे में जानना चाहते हैं। अगर आपका बच्‍चा इस तरह का व्‍यवहार करता हैं तो समझ लेना चाहिए कि वह अंहकार के नियंत्रण से बाहर है।

बड़ों की तरह करने की कोशिश

बड़ों की तरह करने की कोशिश
6/6

शारीरिक और मानसिक दोनों तरह के विकास के लिए निरंतर प्रयास, हर बच्चे के स्वभाव में निहित होता है। अन्यथा, मानव विकास असंभव होगा। कदम से कदम, मिलाकर चलने वाले बच्चे नकल के स्वामी बन जाते हैं। वह शब्द, आदतों और वयस्कों के व्यवहार की नकल करते हैं क्‍योंकि माता-पिता और बड़े भाई बहन उनके रोल मॉडल हैं। क्‍या आपने कभी नोटिस किया है कि आपका बच्‍चा आपके कपड़े पहनने की कोशिश की या आपके मेकअप प्रोडक्‍ट को इस्‍तेमाल कर रहा है? उस समय आपकी क्या प्रतिक्रिया थी? मनोवैज्ञानिक माता-पिता को सलाह देते हैं कि अपने बच्चों को खेलने दें, लेकिन अगर उन्‍हें खुश रहने देना चाहते हैं, तो स्थिति को नियंत्रित करने का प्रयास करें। Image Source : Getty

Disclaimer