अचानक आंखों के सामने अंधेरा होना, इन 5 गंभीर बीमारियों के हैं संकेत

दृष्टि का कभी-कभी धुंधला हो जाना कई कारणों से हो सकता है। इसका सही कारण जानने का सबसे सही तरीका है कि डॉक्टर से आंखों की जांच कराएं।

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Feb 21, 2018

क्यों नज़र हो जाती है धुंधली

क्यों नज़र हो जाती है धुंधली
1/8

दृष्टि का कभी-कभी धुंधला हो जाना एक बहुत ही आम समस्या है, लेकिन ऐसा कई कारणों से हो सकता है। तो इसका सही कारण जानने का सबसे सही तरीका है कि आप डॉक्टर के पास जाएं और जांच कराएं। आपकी समस्या के बारे में कुछ जरूरी सवाल करने तथा कुछ आवश्यक टेस्ट करने के बाद डॉक्टर आपकी समस्या का उचित निदार करता है और आपको समस्या मुक्त करता है। लेकिन आपको भी पता होना चाहिए कि इसके पीछे क्या कारण हो सकते हैं-

रिफलेक्टिव त्रुटियां

रिफलेक्टिव त्रुटियां
2/8

कोई रिफलेक्टिव त्रुटि सही ढंग से प्रकाश केंद्रित में आ रही समस्या के परिणाम स्वरूप होने वाला ऑप्टिकल दोष होता है। फारसाइटिडनेस, नीयरसाइटिडनेस और एस्टिग्मैटिस्म कुछ प्रमुख रिफलेक्टिव त्रुटियां हैं। इनके कारण भी नज़र धुंधली हो जाती है।

आंखों में सूखापन

आंखों में सूखापन
3/8

यदि आंखों में आंसू नहीं बन रहे हैं, जैसे कि उन्हें बनना चाहिए तो इस कारण आंखों में हुए सूखेपन की वजह से आप दृष्टी में धुंधलापन महसूस कर सकते हैं। यह समस्या कभी-कभी, सरल ओटीसी आई ड्रॉप से समाप्त हो सकती है।

माइग्रेन

माइग्रेन
4/8

माइग्रेन कई प्रकार से दुबलापन पैदा कर सकता है। सिरदर्द से पीड़ित कई लोग को अक्सर उनकी दृष्टि को प्रभावित होने का अनुभव होता है। यदि आप गंभीर सिर दर्द का अनुभव करते हैं तो हो सकता है कि आपको भी दृष्टी में धुंधलापन महसूस हो, तो ऐसे में न्यूरोलॉजिस्ट से संपर्क करें।

दवाओं का सेवन

दवाओं का सेवन
5/8

हम सभी जानते हैं कि सभी दवाओं के कुछ न कुछ साइड इफेक्ट भी हो सकते हैं। तो यदि आपकी आंखों में धुंधलेपन की समस्या हो रही है तो जानने की कोशिश करें कि यह किस दवा के सेवन के बाद अधिक होता है। और फिर इस बारे में अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

मोतियाबिंद

मोतियाबिंद
6/8

मोतियाबिंद के कारण आंखों के लेंस के आगे गर्द जैसी जम जाती है, जिसके कारण भी दृष्टी धुंधली हो जाती है। अधिकांशतः बड़े उम्र के लोगों को होने वाली इस समस्या को चश्मा लगाकर ठीक नहीं किया जा सकता और इसे ऑपरेट करना पड़ता है। इसे भी पढ़ें: मोतियाबिंद से संबंधी मिथक

ग्लोकोमा

ग्लोकोमा
7/8

नजर का धुंधला होना ग्लोकोमा का लक्षण भी हो सकता है। इसमें आंखों में ऊपर को दबाव बनता है और ऑप्टिक नर्व को हानि पहुंचाता है। यदि आपके परिवार में ग्लोकोमा का इतिहास रहा है तो आपको नियमित अंतराल पर आंखों की जांच करते रहना चाहिए। इसे भी पढ़ें: ग्लूकोमा से बचना है तो हर महीने कराएं आंखों की जांच, जानें क्यों?

डायबिटीज

डायबिटीज
8/8

डायबिटीज में शारीर का ब्लड शुगर लेवल प्रभावित हो जाता है। यह आंखों तथा शरीर के अन्य अंगों तक हो रहे रक्त प्रवाह को भी प्रभावित कर सकता है। यदि आप डायबिटिक हैं और आंखों में धुंधलापन महसूस कर रहे हैं तो यह स्थिति मधुमेह रेटिनोपैथी हो सकती है। इसे भी पढ़ें: डायबिटीज से आंखों को होता है डायबिटिक रेटिनोपैथी का खतरा, जानिये इसके लक्षण और बचाव

Disclaimer