आंखे खोल देती हैं इन गंभीर बीमारियों के रहस्‍य

आंखें मन ही नहीं शरीर का भी दर्पण होती हैं। आंखों से कई गंभीर रोगों के संकेत भी मिल सकते हैं। रेटिना और आंखों से दिल की बीमारी, कैंसर, मधुमेह जैसी कई अन्य गंभीर बीमारियों के संकेत मिल सकते हैं।

Rahul Sharma
Written by: Rahul SharmaPublished at: Sep 06, 2014

आंखें बता देती हैं बीमारियां

आंखें बता देती हैं बीमारियां
1/10

कहते हैं आंखें मन का दर्पण होती हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि आपकी आंखें मन ही नहीं सेहत का भी आईना होती हैं। आंखों से कई गंभीर रोगों के संकेत भी मिल सकते हैं। इसलिये ही डॉक्टर बीमारी का पता लगाते समय आंखों की खास जांच करते हैं। मैनचेस्टर के रोजन आई एसोसिएट्स के प्रोफेसर एमान्युअल रोजन के अनुसार रेटिना की जांच से दिल की बीमारी, कैंसर, मधुमेह जैसी कई अन्य गंभीर बीमारियों के संकेत मिल जाते हैं। तो चलिये जानें क्या हैं ये संकेत... Image courtesy: © Getty Images

ब्रेन ट्यूमर का संकेत

ब्रेन ट्यूमर का संकेत
2/10

कई केस स्टडीज में देखा गया है कि ब्रेन ट्यूमर होने पर धुंधला दिखाई देने लगता है। साथ ही देखने में भी बार-बार परेशानी होती है। इसमें आंखों का रंग भी बदल जाता है। हालांकि सिरदर्द, थकान, आलस्य आदि ब्रेन ट्यूमर के प्रमुख लक्षण होते हैं। Image courtesy: © Getty Images

पीलिया (जॉंडिस)

पीलिया (जॉंडिस)
3/10

आंखों में एक किस्‍म का पीलापन और भूरापन आना पीलिया का संकेत हो सकता है। हालांकि अधिक मात्रा में वसायुक्‍त भोजन करने और फलों-सब्जियों का कम सेवन करने से भी आंखों का पीलापन हो सकता है। लेकिन भोजन के कारण हुए पीलेपन से देखने की क्षमता पर कोई बुरा प्रभाव नहीं पड़ता। लेकिन यदि आंखों का पीलापन बढ़ जाए तो यह पीलिया का लक्षण हो सकता है। Image courtesy: © Getty Images

दिल के दौरे के संकेत

दिल के दौरे के संकेत
4/10

ब्रिटिश मेडिकल जर्नल की खबर के मुताबिक, डेनमार्क में शोधकर्ताओं ने करीब 13 हजार लोगों पर किए अध्ययन में पाया कि जैनथेलास्माटा नाम से पहचाने जाने वाले पलकों पर धब्बे होने से 10 साल के भीतर दिल का दौरा पड़ने या मौत होने की आशंका ज्यादा होती हैँ। उनके अनुसार कोलेस्ट्रोल के जमा होने पर धब्बे हो जाते हैं जो मुलायम और बिना दर्द वाले होते हैं। हालांकि इन धब्बों का असर दृष्टी पर नहीं पड़ता। Image courtesy: © Getty Images

कंजंक्टीवीटा का सूजना

कंजंक्टीवीटा का सूजना
5/10

आंखों की रोशनी का हल्का होना, आंखों से पानी आना, पलकों का मोटा होना या बढ़ जाना, आंखों से लसलसा, पीला, चिकना पदार्थ आना आदि तकलीफें कंजंक्टीवीटा की सूजन के कारण हो सकती हैं। इस कारण कभी-कभी आंखों में लालिमा भी हो सकती है। Image courtesy: © Getty Images

थॉइरॉइड

थॉइरॉइड
6/10

सूजी हुई आंखें थॉइरॉइड का संकेत हो सकती हैं। आंखों की सूजन का अर्थ आमतौर पर यही होता है कि कोई चीज आंखों में तनाव पैदा कर रही है या फिर आंखों में कोई एलर्जी हो गई हो या पानी भर गया हो। लेकिन कभी-कभी यह लक्षण थॉइरॉइड के कारण भी होते हैं। Image courtesy: © Getty Images

हाईब्लडप्रेशर

हाईब्लडप्रेशर
7/10

ब्लडप्रेशर के काफी बढ़ जाने पर भी आंखों का रंग लाल हो जाता है। ऐसे में रक्त वाहिकाओं में फैलाव के कारण आंखों में सूजन भी हो जाती है। इसलिए लंबे समय तक आंखों की सूजन को नजरअंदान नहीं करना चाहिए और डॉक्टर से जांच करानी चाहिए। Image courtesy: © Getty Images

अवसाद का संकेत

अवसाद का संकेत
8/10

अवसाद का शिकार होने पर आंखों में लालिमा और सूजन आ सकती है। यदि कोई इंसान लगातार बहुत ज्यादा तनाव में रहता है तो ऐसे में वह अनिद्रा की समस्या का शिकार बन जाता है, जिस कारण आंखों का रंग लाल हो जाता है। Image courtesy: © Getty Images

मोतियाबिंद

मोतियाबिंद
9/10

मोतियाबिंद ऐसी बीमारी है, जिसके कारण अंधापन भी हो सकता है। इस बीमारी की शुरुआत थोड़ा धुंधला दिखाई देने से होती है। और धीरे-धीरे आंखों पर एक या अधिक धुंधले धब्बे दिखाई देने लगते हैं। ऐसे धुंधले धब्बे दिखाई देना मोतियाबिंद का लक्षण हो सकता है।Image courtesy: © Getty Images

पक्षाघात

पक्षाघात
10/10

यदि आंखों की पलके लटक जाएं तो यह पक्षाघात का संकेत हो सकता है। साथ ही आवाज में लडखड़ाहट और रक्तचाप के अचानक बढ़ जाने आदि भी पैरालिसिस के लक्षण होते हैं। ऐसे में खानपान पर विशेष ध्यान देना चाहिए और तुरंत जांच करानी चाहिए। Image courtesy: © Getty Images

Disclaimer