सिर में पपड़ी का कारण और इलाज

सिर में खुजली के पीछे स्‍कैल्‍प स्‍कैब (Scalp Scabs) हो सकता है। आइए जानते हैं सिर की पपड़ी का इलाज (scalp scabs treatment) कैसे करें।

सम्‍पादकीय विभाग
Written by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Jul 27, 2016

सिर में पपड़ी का कारण

सिर में पपड़ी का कारण
1/6

सिर में पड़ने वाली पपड़ी बहुत ही परेशान करने वाली त्‍वचा की समस्‍या है। इसके कारण सिर में खुजली, जलन आदि की समस्‍या होती है। अगर आपने अधिक खुजली कर दी तो संक्रमण के फैलने की संभावना भी अधिक रहती है। पपड़ी बालों के नीचे स्‍कैल्‍प पर होने वाली समस्‍या है। सिर में पपड़ी का कारण (scalp Scabs causes) की बात करें, तो ये गंदगी, नमी और फंगल इंफेक्शन के कारण होता है। यह एक प्रकार का त्‍वचा रोग भी है। हालांकि इस समस्‍या का उपचार आसान है। लेकिन जब तक आदमी इसकी गिरफ्त में रहता है वह फ्रस्‍ट्रेटेड रहता है। इसलिए अगर आपके सिर में खुजली के साथ पपड़ी के लक्षण (scalp scabies symptoms) दिखाई दें तो इसका तुरंत उपचार करायें। आइए इस स्‍लाइडशो में सिर में पपड़ी के इलाज (scalp scabs treatment) के बारे में जानते हैं।

डर्मटाइटिस (Dermatitis)

डर्मटाइटिस (Dermatitis)
2/6

यह एक प्रकार की त्‍वचा की बीमारी है, इसमें त्‍वचा के ऊपरी हिस्‍से में सूजन के साथ पपड़ी भी जम जाती है। केमिकलयुक्‍त शैंपू, खराब गुणवत्‍ता की हेयर डाई, या फिर ज्‍वैलरी से होने वाली एलर्जी के कारण यह समस्‍या हो सकती है। लैटेक्‍स के कारण भी यह संक्रमण हो सकता है। कुछ तत्‍व जैसे कि बैटरी का एसिड या फिर ब्‍लीच जब त्‍वचा के संपर्क में आता है तब भी डर्मटाइटिस हो जाता है। इनके कारण त्‍वचा पर सूखी पपड़ी जम जाती है और खुजली करने पर ब्‍लीडिंग भी हो सकती है। ऐसे में त्‍वचा रोग विशेषज्ञ से मिलें, नहीं तो यह दूसरे अंगों को भी प्रभावित कर लेगा। Image Source-Getty

डैंड्रफ के कारण (Seborrheic Dermatitis)

डैंड्रफ के कारण (Seborrheic Dermatitis)
3/6

सेबोरिक डर्मटाइटिस एक प्रकार की त्‍वचा की स्थिति है जो कि स्‍कैल्‍प को प्रभावित करती है। सिर में खुजली, पपड़ी निकलना, आदि लक्षण दिखाई देते हैं। इसके छिलकेदार परतें सफेद या पीले रंग की होती हैं जो कि सिर के बालों से भी जुड़ी होती हैं। इसके लिए सबसे अधिक जिम्‍मेदार कारक डैंड्रफ को माना जाता है। यह समस्‍या किसी को भी हो सकती है, नवजात शिशु को भी। यह उन लोगों को अधिक होती है जिनकी सेहत बिगड़ी हुई होती है। इसके उपचार के लिए डैंड्रफ को नियंत्रित करना जरूरी है। Image Source-Getty

सोरायसिस (Psoriasis)

सोरायसिस (Psoriasis)
4/6

सोरायसिस एक प्रकार का त्‍वचा रोग है जो शरीर के किसी भी हिस्‍से में हो सकता है। एटलस गेरियाट्रिक डर्मोटोलॉजी की मानें तो शरीर के दूसरे अंगों की तुलना में यह बीमारी 50 प्रतिशत खोपड़ी में होती है। इस बीमारी में सिर में मोटी चमड़ी की परत जम जाती है। इसके उपचार के लिए बाजार में कई तरह के शैंपू उपलब्‍ध हैं, चिकित्‍सक के निर्देश से आप उनको खरीद सकते हैं। लेकिन इसके बाद भी इसका उपचार न हो तो डॉक्‍टर से सलाह लें। Image Source-Getty

एग्जिमा के कारण (Seborrhoeic Eczema)

एग्जिमा के कारण (Seborrhoeic Eczema)
5/6

इसके कारण खोपड़ी में खुजली, लालिमा, पपड़ीदार त्‍वचा की समस्‍या हो सकती है। कई बार तो इतनी खुजली होती है ऊपर की चमड़ी निकल जाती है और ब्‍लीडिंग होने लगती है। यह समस्‍या सिर्फ सिर में ही नहीं रहती है, धीरे-धीरे यह मुंह, गर्दन और कानों के पीछे भी होने लगती है। कुछ मामलों में तो यह पूरे शरीर में भी फैल जाती है। इसके उपचार के लिए त्‍वचा रोग विशेषज्ञ की सलाह लें। Image Source-Getty

दूसरे कारण

दूसरे कारण
6/6

इसके अलावा स्‍कैल्‍प स्‍कैब के कई दूसरे कारण भी हैं। लाइकेन प्‍लेनस (Lichen Planus), रिंगवॉर्म (Ringworm of the Scalp), हेड लाइस (Head Lice) आदि। इनके लक्षण भी ऊपर दिये गये लक्षणों की तरह होते हैं। हालांकि इन बीमारियों के कारणों का सही तरीके से पता अभी तक नहीं चल पाया है। लेकिन इनके लक्षण जैसे ही आपको दिखें इनका तुरंत उपचार करायें, नहीं तो समस्‍या गंभीर हो सकती है। Image Source-Getty

Disclaimer