शिशु या बच्चों में होने वाली खाज की समस्या दूर करने के 8 असरदार घरेलू उपाय

बदलते मौसम की वजह से शिशुओं और बच्चों को खाज और खुजली की शिकायत हो सकती है। इस समस्या से आप घरेलू उपायों से निजात पा सकते हैं।

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Aug 10, 2021

1/10

बदलते मौसम में बच्चों को खाज, खुजली और दाने की शिकायतें काफी ज्यादा देखने को मिलती हैं। ऐसे में माता-पिता को अपने बच्चों का खास ध्यान रखने की जरूरत होती है। अगर आपके बच्चों को बदलते मौसम में खाज की समस्या हो रही है, तो आप घर में मौजूद कुछ चीजों से इसका उपचार कर सकते हैँ। चलिए जानते हैं बच्चों को खाज की शिकायत होने पर कौन सा घरेलू नुस्खा है कारगर-

चंदन का लेप

चंदन का लेप
2/10

खाज की समस्या होने पर आप चंदन का लेप बच्चों को लगा सकते हैं। चंदन में कई सारे गुण छिपे होते हैं, जो बच्चों की समस्याओं को दूर कर सकते हैं। इससे स्किन पर होने वाली खुजली, खाज और जलन जैसी शिकायतें दूर हो सकती है। अगर आपके बच्चों के स्किन पर दाल दाग-धब्बे या खुजली की शिकायत हो रही है, तो चंदन का लेप उनके प्रभावित हिस्से पर लगाएं। इससे काफी राहत मिलेगा। 

नीम का लेप

नीम का लेप
3/10

खाज की शिकायत को दूर करने के लिए आप नीम के पानी का इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे शिशुओं या बच्चों को किसी तरह का साइड-इफेक्ट नहीं होगा। इसके लिए नीम की पत्तियां लें। अब इस पत्तियों को पीसकर प्रभावित हिस्से पर लगाएं। इससे आपको खुजली की समस्या से तुरंत राहत मिलेगा। 

तुलसी का लेप

तुलसी का लेप
4/10

खाज-खुजली से राहत दिलाने में तुलसी की पत्तियां भी काफी असरकारी होती हैं। अगर आपके बच्चों को बदलते मौसम में खाज की शिकायत हो गई है, तो तुलसी की पत्तियों का लेप लगाएं। तुलसी की पत्तियों का लेप लगाने के लिए सबसे पहले तुलसी की पत्तियों को पीस लें। अब इस लेप को प्रभावित हिस्से पर लगाएं। इससे खाज और खुजली से तुरंत राहत पाया जा सकता है।

शिशुओं को सही से नहलाएं

शिशुओं को सही से नहलाएं
5/10

अपने बच्चों या शिशुओं को नियमित रूप से नहलाएं। स्किन सही से साफ न होने के कारण भी उन्हें खाज और खुजली की शिकायत हो सकती है। बदलते मौसम के अनुसार ठंडे या गर्म पानी से उन्हें अच्छे तरीके से नहलाएं। इससे उन्हें खाज और खुजली की शिकायत नहीं होगी।

नारियल तेल है गुणकारी

नारियल तेल है गुणकारी
6/10

नारियल तेल के इस्तेमाल ,से भी खाज-खुजली की समस्या को दूर किया जा सकता है। इस तेल को आप अपने बच्चों को भी लगा सकते हैं। इससे उन्हें किसी तरह का नुकसान नहीं पहुंचेगा। नारियल का तेल लगाने से स्किन पर नमी काफी देर तक रहती है। इससे आप खाज और खुजली से छुटकारा पा सकते हैं। 

बर्फ से सिंकाई

बर्फ से सिंकाई
7/10

अगर आपके शिशु के शरीर में खुजली और लाल-लाल दानें हो रहे हैं, तो बर्फ से उनके प्रभावित हिस्से की सिंकाई करें। इससे उनकी स्किन को ठंडक पहुंचेगी। जिससे वे काफी आराम महसूस कर सकते हैँ। लेकिन ध्यान रखें कि बर्फ को किसी तौलिए या कपड़े में लपेटकर ही शिशु की सिंकाई करें। क्योंकि शिशु की स्किन काफी ज्यादा सेंसटिव होती है, ज्यादा ठंडक पहुंचने से उन्हें परेशानी हो सकती है। 

मांड का करें इस्तेमाल

मांड का करें इस्तेमाल
8/10

मांड यानि चावल के पानी से शिशुओं के क्षतिग्रस्त स्किन की मरम्मत की जा सकती है। यह शिशु की स्किन पर नमी बनाए रखने में असरकारी साबित होता है। इसका इस्तेमाल करने के लिए 1 बाल्टी पानी लें। अब इस पानी में 2 से 3 चम्मच मांड का पानी मिक्स करें। मिक्स किए हुए पानी से अपने शिशु को नहलाएं। इससे खाज और खुजली की समस्या दूर हो सकती है।

सूरजमुखी के तेल का करें इस्तेमाल

सूरजमुखी के तेल का करें इस्तेमाल
9/10

सूरजमुखी के तेल में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-बैक्टीरियल गुण मौजूद होता है।  यह तेल शिशुओं की स्किन पर होने वाली समस्याओं जैसे- लालिमा, सूजन और रूखेपन की समस्या को दूर करता है। नहाने से पहले इस तेल से शिशुओं के शरीर की मालिश करें। इसके बाद हल्के गुनगुने पानी से नहलाएं। इससे खाज और खुजली की समस्या दूर हो सकती है। 

10/10

शिशुओं के शरीर पर खाज-खुजली के सही कारणों का पता लगाकर ही घरेलू उपाय आजमाएं। अगर उन्हें ज्यादा खुजली हो, तो तुरंत डॉक्टर के पास ले जाएं। खाज की शिकायत को दूर करने  के लिए डॉक्टर कुछ विशेष तरह की दवा दे सकते हैं। ताकि शिशु की समस्या को जल्द से जल्द ठीक किया जा सके। 

Disclaimer