ताड़ मुद्रा करने का सही तरीका और इसके फायदे

आज हम मुद्रा के एक प्रकार, ताड़ मुद्रा को करने के तरीके और इसके लाभों के बारे में जान रहे हैं। तो चलिए जानें कैसे करें ताड़ मुद्रा और इसका अभ्यास करने के क्या फायदे होते हैं।

Written by:Published at: Jun 15, 2016

ताड़ मुद्रा

ताड़ मुद्रा
1/4

जैसा की हम पहले भी बचा चुके हैं कि मुद्राओं को योग में बहुत ज्यादा महत्व होता है और इनके अनेक लाभ भी होते हैं। मुद्राओं के प्रकार अलग-अलग होते हैं और इनके फायदे भी। आज हम मुद्रा के एक प्रकार, ताड़ मुद्रा को करने के तरीके और इसके लाभों के बारे में जान रहे हैं। तो चलिए जानें कैसे करें ताड़ मुद्रा और इसका अभ्यास करने के क्या फायदे होते हैं। Images source : © Getty Images

ताड़ मुद्रा करने का तरीका

ताड़ मुद्रा करने का तरीका
2/4

ताड़ मुद्रा दरअसल ताड़ासन को करने से पहले वाली मुद्रा होती है। ताड़ मुद्रा को खड़े होकर करना होता है। इसे करने के लिए सबसे पहले अपने पैरों पर पंजों के बल खड़े हो जाएं। अब अपने दोनों होथों को ऊपर ले जाएं और नमस्कार की मुद्रा में जोड़ लें। इस मुद्रा को ही ताड़ मुद्रा कहा जाता है। Images source : © Getty Images

ताड़ मुद्रा करने के फायदे

ताड़ मुद्रा करने के फायदे
3/4

ताड़ मुद्रा का नियमित अभ्यास करने से पैरों में दर्द होना, पिंडलियों में सूजन व दर्द, घुटनों का दर्द, पैरों का सुन्न होना, कमर और रीड़ की हड्डी में दर्द व कठोरता आदि दूर होते हैं। जिन बच्चों की लम्बाई नहीं बढ़ती है, इस मुद्रा के नियमित अभ्यास से अनकी लंम्बाई बढ़ती है।  Images source : © Getty Images

ताड़ मुद्रा में करते हैं ताड़ आसन

ताड़ मुद्रा में करते हैं ताड़ आसन
4/4

ताड़ मुद्रा में आने के बाद ताड़ आसन किया जाता है। इसके अभ्यास से शरीर के सभी जोड़ों को बल मिलता है और अंगों का लचीलापन भी बढ़ता है। गठिया, कमर दर्द और स्लिप डिस्क आदि से बचाव में यह आसन बेहद फायदेमंद होता है। इसे करते हुए सांस को भरते हुए हाथों को ऊपर उठाएं और शरीर को ऊपर की ओर जितना खींच सकते हैं खीचें। इस करते समय शरीर का लगभग सारा भार पंजों पर होना चाहिए। कुछ सेकंड इस मुद्रा में रहें और फिर सांस छोड़ते हुए सामान्य अवस्था में आ जाएं।  Images source : © Getty Images

Disclaimer