कोर्टिसोल के स्‍तर को कम करने के दस मजेदार तरीके

कोर्टिसोल एक तनाव हॉर्मोन है। जब शरीर में इसका स्‍तर ज्‍यादा होता है, तो हमें कई तरह की परेशानियां हो सकती हैं। इससे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली पर भी असर पड़ता है। इसलिए इसके स्‍तर को कम करना बहुत जरूरी है।

Bharat Malhotra
Written by: Bharat MalhotraPublished at: Sep 01, 2014

शरीर खुद कर सकता है अपना ईलाज

शरीर खुद कर सकता है अपना ईलाज
1/12

शरीर अपना ईलाज खुद करना जानता है। चोट, जख्‍म भरने, संक्रमण से लड़ने तथा अन्‍य परेशानियों से लड़ने की क्षमता हमारे शरीर में मौजूद होती है। कई जानकार तो यह भी कहते हैं कि हमारा शरीर कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से भी लड़ सकता है। शरीर की यह कुदरती रक्षात्‍मक क्षमता कोर्टिसोल और एपिनेफ्र‍िन जैसे हॉर्मोन के बढ़ने से नष्‍ट होती है। image courtesy : getty images

मुश्किल नहीं है ईलाज

मुश्किल नहीं है ईलाज
2/12

अच्‍छी बात यह है कि आप इन स्‍ट्रेस हॉर्मोन्‍स को रिलेक्‍सेशन की ओर आसानी से ले जा सकते हैं। और जब ऐसा होता है तो कोर्टिसोल का स्‍तर कम हो जाता है और शरीर खुद ही बीमारी को दूर करने की क्षमता बढ़ा लेता है। ये सब तकनीक वैज्ञानिक रूप से प्रमाणित हैं। इन्‍हें अपनाकर आप अपने शरीर को खुद ब खुद रोगों और तनाव का इलाज करने के लिए प्रेरित कर सकते हैं। image courtesy : getty images

ध्‍यान करें

ध्‍यान करें
3/12

हावर्ड के शोधकर्ताओं ने साबित किया है कि ध्‍यान से आपका मन शांत होता है। इसके साथ ही ध्‍यान डायबिटीज, मोटापे और कैंसर जैसी दर्जन भर बीमारियों से निजात दिलाने का काम करता है। ध्‍यान आपको हर प्रकार से सुकून पहुंचाता है। अगर आपको शांत स्‍थान तलाशने में मुश्किल हो रही हो, तो आप इंटरनेट से सेल्‍फ हीलिंग किट डाउनलोड कर सकते हैं। image courtesy : getty images

हंसो और खुश रहो

हंसो और खुश रहो
4/12

हंसना लाख दुखों की दवा है। एक शोध में पाया गया है कि दिन में दस मिनट तक पेट पकड़कर हंसना आपको दो घंटे तक दर्द से निजात दिला सकता है। और जब आप पर हंसी का असर कम होने लगे, तो आप एक बार किसी कॉमेडी फिल्‍म का सहारा ले सकते हैं। image courtesy : getty images

जानवरों के साथ खेलें

जानवरों के साथ खेलें
5/12

जानवरों के साथ खेलने से हमारे दिमाग को बहुत सुकून मिलता है। इससे मस्तिष्‍क में ऑक्‍सीटिन, एंडोरफिन्‍स और अन्‍य हीलिंग हॉर्मोन सक्रिय हो जाते हैं। ये हॉर्मोन शरीर के लिए सेल्‍फ हीलिंग का काम करते हैं। इस‍लिए पालतू जानवरों के साथ खेलना आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकता है। तो, जब आपका कोर्टिसोल बढ़े और आप तनावग्रस्‍त महसूस करें, तो अपने पालतू जानवर के साथ वक्‍त बितायें। image courtesy : getty images

उदार बनें

उदार बनें
6/12

कहते हैं जब आप मुश्किल में हों, तो सिर्फ अपनी मदद करने से काम नहीं बनता। कई बार आपको दूसरों की मदद करनी चाहिये। इससे आपको काफी फायदा होता है। जब आप दूसरों के लिए कुछ करते हैं, तो आपको काफी खुशी मिलती है। यूं ही तो नहीं कहा जाता, 'किसी की मुस्‍कुराहटों पर हो निसार' आखिर इसी का नाम तो जीना है। किसी को कुछ देने या किसी के लिए कुछ करने से मस्तिष्‍क को शांत करने वाले हॉर्मोन स्रावित होते हैं और इससे कोर्टिसोल का स्‍तर कम हो जाता है। image courtesy : getty images

रचनात्‍मक बनें

रचनात्‍मक बनें
7/12

जब आप रचनात्‍मकता के जरिये स्‍वयं को अभिव्‍यक्‍त करते हैं तो इससे आपके शरीर में एंडोरफिन्‍स और न्‍यूरोट्रांसमीटर्स जैसे सुख पहुंचाने वाले हॉर्मोन्‍स का स्राव होता है। इससे चिंता और अवसाद को कम करने में मदद मिलती है। इसके साथ ही ये रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर, शारीरिक दर्द से राहत दिलाते हैं और साथ ही पैरासिम्‍पेथिक नर्वस सिस्‍टम को भी बेहतर बनाते हैं। इससे दिल की धड़कन सामान्‍य रहती है, रक्‍तचाप कम होता है, और साथ ही सांसें भी सही तरीके से चलती हैं। और सबसे जरूरी बात इससे कोर्टिसोल का स्‍तर कम होता है। image courtesy : getty images

योग और ताई ची

योग और ताई ची
8/12

योग, ताई ची और नृत्‍य न केवल आपके शरीर को स्‍वस्‍थ रखते हैं, बल्कि मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य का भी खयाल रखते हैं। ये आपके हीलिंग हॉर्मोन को बढ़ाते हैं और साथ ही कोर्टिसोल के स्‍तर को कम करने में मदद करते हैं। कई वैज्ञानिक शोध इस बात को प्रमाणित करते हैं। इससे आपके शरीर की अपने आप स्‍वयं को ठीक करने की क्षमता बढ़ती है। image courtesy : getty images

मसाज

मसाज
9/12

मसाज तनाव व अन्‍य परेशानियों को दूर करने का सबसे असरदार तरीका माना जाता है। सही मसाज न केवल आपकी मांसपेशियों को राहत पहुंचाती है, बल्कि इसके साथ साथ नर्वस सिस्‍टम को भी सही रखने में मदद रकती है। इससे आपका शरीर बीमारियों और अन्‍य परेशानियों के प्रति खुद को ज्‍यादा बेहतर तरीके से तैयार कर पाता है। image courtesy : getty images

प्रार्थना में बड़ी शक्ति

प्रार्थना में बड़ी शक्ति
10/12

जो लोग धार्मिक कार्यक्रमों में हिस्‍सा लेते हैं वे धर्म से दूर रहने वाले वाले लोगों की अपेक्षा अधिक जीत हैं। लेकिन आपकी रूचि और मान्‍यता आपको धार्मिक स्‍थल पर जाने से रोकती है, तो आप अपने हिसाब से अध्‍यात्‍म का तरीका आजमायें। अध्‍यात्‍म आपको प्रेम के साथ-साथ मुश्किलों से लड़ने का विश्‍वास और शक्ति भी देता है। इसके साथ ही यह परेशानियों को दूर करने में भी मदद करता है। इससे आपका नर्वस सिस्‍टम बेहतर काम करता है। और आपका शरीर भी सजग रहता है। image courtesy : getty images

Disclaimer