मन का भटकना क्‍यों है आपके लिए अच्‍छा

मन के भटकने पर हमें अक्‍सर आलोचना का सामना करना पड़ता है, लेकिन सच्‍चाई इससे थोड़ी अलग है। अपने मन को भटकने की अनुमति देना आपके लिए अच्‍छा हो सकता है। यहां दिये उपायों से जानिए कैसे।

Pooja Sinha
Written by: Pooja SinhaPublished at: Jul 04, 2014

मन का भटकना

मन का भटकना
1/8

मन का बहाना निश्चित रूप से स्‍कूल टाइम में आपके लिए मुसीबत हो सकता था, लेकिन आप जानते हैं कि यह एक अच्‍छी आदत हो सकती है। जी हां, इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है, कि मन का भटकना आप के लिए आश्चर्यजनक रूप से अच्छा हो सकता है। अच्छा भूल जाओ, यह बहुत अच्‍छा हो सकता है! यहां तक ​​कि अध्ययनों ने भी इस बात को स‍ाबित किया है। कहा जाता है कि मन के भटकने पर आमतौर पर मस्तिष्‍क की प्रक्रिया, ध्यान केंद्रित करने से अधिक अच्‍छा विचार कर सकती है। यहां पर मन के भटकने के सबसे दिलचस्प कारणों में से कुछ के बारे में बताया गया है। image courtesy : getty image

रचनात्मक सोच

रचनात्मक सोच
2/8

आपको अल्बर्ट आइंस्टीन के बारे में क्‍या लगता है? सेब के पेड़ के नीचे बैठा उसका मन यहां-वहां भटक रहा था। तभी उसके मन में यह विचार आया। जब आप वास्‍तव में अपने मन को भटकने के लिए छोड़ देते हैं, तो रचनात्‍मक रस का प्रवाह होता है। जबकि सीमित विचार और विचारों की जंजीर में फंसा मन कभी भी नए और रचनात्मक सोच का उत्पादन नहीं कर सकता हैं। हां, शुरू में यह पागल विचार की तरह लग सकता है, लेकिन सबसे अच्छा विचार पहली बार में हमेशा पागलों सा ही लगता है। image courtesy : getty image

भविष्य के विचार

भविष्य के विचार
3/8

भविष्य की सोच में व्यस्त रहने के कारण मन का भटकाव सबसे अधिक होता है। हम हमेशा कल क्या होने वाला है पर  विचार करते हैं। भविष्य के बारे में मन का भटकना अच्‍छे विचारों को आकार और संभल कर योजना बनाने में मदद करता है। सुनिश्चित तौर पर भविष्य की घटनाओं पर विचार का हमारे जीवन पर एक बहुत ही नाटकीय प्रभाव हो सकता है। image courtesy : getty image

उत्सुकता

उत्सुकता
4/8

उत्‍सुक होना बहुत अच्‍छी बात हैं। लेकिन जब तक आप स्‍वयं को खतरनाक तर्ज पर नहीं डालेंगे या आपका मन भटकेगा नहीं, तब आप उत्‍सुक नहीं हो सकते। दुनिया के बारे में उत्‍सुक होना विशेष रूप से बच्चों के लिए, एक अच्‍छी बात है, क्‍योंकि उत्‍सुक होने पर ही आप जान पायेंगे कि ऐसा क्‍यों और कैसे होता है। image courtesy : getty image

खुले विचार

खुले विचार
5/8

अपने ऑफिस में काम करने वाले गप्‍पी से अपनी तुलना करें। उस व्‍यक्ति के पास बेहतर सोचने के लिए कुछ भी नहीं हैं लेकिन उसका मन लोगों के मामलों के बारे में भटकता रहता है। जब आप अपने मन को दूर और व्‍यापक रूप से भटकने देते है तो आप स्‍वयं को अधिक खुले विचारों का बनाते हैं और आप चीजों को बेहतर और अधिक दिलचस्‍प तरीके से सोचने लगते हैं। image courtesy : getty image

याद्दाश्‍त दुरुस्‍त होती है

याद्दाश्‍त दुरुस्‍त होती है
6/8

मन का भटकना आपके मन को खूबसूरत बनाने के साथ ही आपकी याद्दाश्‍त को भी दुरुस्‍त करता है। अमेरिकन साइकोलोजिस्ट एसोसिएशन के अनुसार, स्‍वयं कल्‍पना करना जानकारी को याद करने का बहुत ही प्रभावी तरीका है। इसके परिणामस्‍वरूप आपकी कल्‍पना याद्दाश्‍त को वापस लाने में मदद करती है। यह उन लोगों के लिए बहुत ही अच्‍छी खबर है जिन्‍होंने पहले किसी भी प्रकार की मस्तिष्‍क की चोट का अनुभव किया है। image courtesy : getty image

खुद की तलाश

खुद की तलाश
7/8

कल्पना हमेशा एक विचार के साथ शुरू होती है, और यह विचार आपको दुनिया में मौका पाने के लिये हर संभावित कोशिश करता है। मनोवैज्ञानिकों के अनुसार, अपनी क्षमताओं का एहसास करने वाला व्‍यक्ति पूरी तरह से पहली बार में ही इस तरह की संभावनाओं को कल्पना की क्षमता के माध्यम से प्राप्‍त कर लेते हैं। इसलिए, आपको पता होना चाहिए कि आपके मन में क्‍या चल रहा है। image courtesy : getty image

बोरियत से छुटकारा

बोरियत से छुटकारा
8/8

अगर आप ऊब से स्‍वयं को बचाना चाहते हैं तो मन का भटकना आपके सबसे अच्‍छा विचार हो सकता है। आप अपने मन से कुछ भी नया बना सकते हैं या आप कोई भी हो सकते हैं। ऐसे में आप किसी भी पहाड़ पर चढ़ने और किसी भी समुद्र में यात्रा कर सकते हैं, या आप कहीं के राजा भी हो सकते हैं। या आप जो भी बनना चाहते हैं अपने मन के भटकाव से कुछ भी हो सकते है! जब भी आप बोर महसूस करें एक ब्रेक लें और अपने मन को भटकने के लिए छोड़ दें। आप को जल्‍द ही एहसास होगा कि संभावनाएं अनंत हैं। image courtesy : getty image

Disclaimer