कारण कि क्यों आर्टिफीशियल स्वीटनर बढ़ाते हैं आपका वजन

ऑर्टिफिशियल स्‍वीटनर देखने में आकर्षक हो सकता है, लेकिन इससे आपका वजन बढ़ता है, आइए इसके पीछे क्‍या कारण हैं उनके बारे में जानते हैं।

Rahul Sharma
Written by:Rahul SharmaPublished at: Aug 28, 2015

आर्टिफीशियल स्वीटनर बढ़ाते हैं आपका वजन

आर्टिफीशियल स्वीटनर बढ़ाते हैं आपका वजन
1/6

हम सभी जानते हैं और कई शोध इस बात को साबित कर चुके हैं कि शुगर की अधिकता से वजन बढ़ता है। लेकिन आज शुगर भी अधिकतर आर्टिफिशियल ही इस्तेमाल किया जाता है, तो क्या आर्टिफिशियल शुगर का भी शरीर पर यही असर होता है? क्या इससे वजन नियंत्रित रखने में परेशानी होती है? चलिये जानें कुछ ऐसे कारण जो यह बताते हैं कि क्यों आर्टिफिशियल स्वीटनर आपका वजन बढ़ाते हैं और कैसे वजन प्रबंधन में बाधा पैदा करते हैं।Images source : © Getty Images

आर्टिफिशियल शुगर की बढ़ती खपत

आर्टिफिशियल शुगर की बढ़ती खपत
2/6

जीवनशैली से जुड़ी बीमारियों और बढ़ते वजन ने पिछले कुछ समय में आर्टिफिशियल शुगर की खपत और मांग दोनों को काफी बढ़ाया है। लेकिन समस्या यह है कि विभिन्न मेडिकल शोधों में आर्टिफिशियल शुगर के संबंध में आम सहमति नजर नहीं आती। लेकिन एक बात अधिकांश जगहों पर नज़र आती है और वो है इसके सेवन से बढ़ता मोटापा।  Images source : © Getty Images

इंडियाना स्थित पर्ड्यू यूनिवर्सिटी का अध्‍ययन

इंडियाना स्थित पर्ड्यू यूनिवर्सिटी का अध्‍ययन
3/6

आज बाजार में लगभग 6 हजार से भी अधिक उत्‍पादों में आर्टिफिशियल स्‍वीटनर पाये जाते हैं। जिनमें कई पेयों से लेकर केक, च्‍वुइंग गम और डिब्‍बा बंद खाद्य पदार्थ शामिल हैं। इंडियाना की पर्ड्यू यूनिवर्सिटी के एक नए अध्‍ययन में बताया गया कि कृत्रिम एस्‍पार्टेम वाले डायट ड्रिंक अपने चीनी युक्‍त संस्‍करण से ज्‍यादा स्‍वास्‍थ्‍यकर नहीं होते और इनके सेवन से मोटापा, डायबिटीज और दिल की बीमारियां हो सकती हैं। Images source : © Getty Images

एस्पारटेम नामक कृत्रिम शुगर

एस्पारटेम नामक कृत्रिम शुगर
4/6

एस्पारटेम नामक यह कृत्रिम चीनी देखने में सफेद रंग की होती है और इसमें कोई महक नहीं होती। आम चीनी से यह 200 गुना अधिक मीठी होती है। यह सबसे ज्यादा बिकने वाला स्वीटनर है, पर ज्यादा तापमान इसे बेक करने पर यह अपनी मिठास खो देता है। गौरतलब है, विभिन्न शोधों में एस्पारटेम को बालों झड़ने, मधुमेह, तेजी से वजन बढ़ने और कैंसर जैसे रोगों से जोड़ कर पेश किया गया है। Images source : © Getty Images

सूक्रोज आर्टिफिशियल स्‍वीटनर

सूक्रोज आर्टिफिशियल स्‍वीटनर
5/6

सूक्रोज को टेबल शुगर के नाम से भी जाना जाता है और इसे गन्ने और चुकंदर जैसे प्राकृतिक पदार्थों से तैयार किया जाता है। प्रोसेस्ड सूक्रोज में 50% हिस्सा ग्लूकोज होता है। इसकी एक छोटी चम्मच में 16 कैलोरी तक होती हैं और एक औसत स्वास्थ्य वाले पुरुष को 7 छोटी चम्मच और महिलाओं को 6 चम्मच से अधिक सूक्रोज का सेवन नहीं करना चाहिए। हालांकि एक बाजार में मिलने वाली आम सोडे की बोतल में 9 से 11 छोटी चम्मच सूक्रोज होता है। और यह मोटापा बढ़ने के लिये काफी है। Images source : © Getty Images

सुक्रालोज

सुक्रालोज
6/6

सुक्रालोज की मिठास अधिक तापमान पर भी बनी रहती है और इसे बेकिंग में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। यह सूक्रोज की तुलना में 600 गुना अधिक मीठी होती है। इसके सेवन से फायदेमंद बैक्टीरिया भी नष्ट हो जाते हैं। कमजोर प्रतिरोधक क्षमता वालों को इसके सेवन से बचना चाहिए।Images source : © Getty Images

Disclaimer