इन कारणों से बदल जाता है बालों का कलर और टेक्सचर

कई बार बालों के रंग और टेक्स्चर में बदलाव आने लगते हैं। अगर आपको भी अपने बालों में ये बदलाव नजर आने लगे हैं तो आपमें हो गए हैं ये शारीरिक बदलाव।

Gayatree Verma
Written by: Gayatree Verma Published at: Feb 12, 2016

चमक खोते बाल

चमक खोते बाल
1/5

सुंदर, काले औऱ घने बाल हर किसी को पसंद आते हैं। लेकिन बालों का हमेशा सुंदर और चमकदार बना रहना मुमकिन नहीं। कई बार अचानक से बालों के रंग और टेक्स्चर में बदलाव नजर आने लगते हैं। अगर आपको भी अपने बालों में ये बदलाव महसूस हो रहे हैं तो इनमें से कोई एक कारण हो सकता है आपके बालों में बदलाव का।

हार्मोन्स

हार्मोन्स
2/5

बालों में बदलाव के पीछे सबसे अहम वजह होती है- एस्ट्रोजन हार्मोन्स। एस्ट्रोजन हार्मोन में कमी बालों के रंग और चमक में भी कमी ला देती है। इस हार्मोन में कमी थायराइड के दैरान भी देखने को मिलती है। ऐसे में अगर आपको अपने बालों के रंग या टेक्सचर में बदलाव नजर आ रहा है तो थायराइड का चेकअप एक बार जरूर करा लें।

दवाएं

दवाएं
3/5

आज हर दस महिला में से दो महिला दवाईयों का सेवन जरूर करती हैं। जबकि दवाईयों का सबसे पहले असर या किसी भी तरह का साइडइफेक्ट बालों पर ही देखने को मिलता है। कुछ विशेष प्रकार की दवाएं, जैसे बीपी की गोलियां, विटामिन ए सप्लीमेंट, गठिया, रक्त पतला करने के उपचार के दौरान ली जाने वाली दवाएं, दिल के रोगों से जुड़ी दवाएं, कंट्रासेप्टिव दवाएं या नींद की दवाओं के सेवन से भी बालों के टेक्सचर में बदलाव आते हैं।

पोषक तत्वों की कमी

पोषक तत्वों की कमी
4/5

बहुत कम ही महिलाएं होती हैं जिनमें हीमोग्लोबीन का स्तर ग्यारह या बारह होता है। हीमोग्लोबीन में कमी मतलब आहार में जरूरी पोषक-तत्वों में कमी। जबकि सुंदर-घने और चमकदार बालों की विटामिन्स, मिनरल्स, प्रोटीन सभी चीज़ो की जरुरत होती है। इसलिए यदि आपको अपने बालों के रंग और टेक्स्चर में फर्क नजर आ रहा है तो संतुलित आहार लेना शुरू करें।

फंगल संक्रमण

फंगल संक्रमण
5/5

कई बार सिर की त्वचा फंगल संक्रमण की वजह से खराब हो जाती है जिसका असर बालों पर भी पड़ता है। इसके बचाव के लिए उपचार के साथ-साथ हाइजीन पर ध्यान देना बहुत जरूरी है।  

Disclaimer