शीर्षासन को आसान बनाने के लिए करें ये 4 योगासन

शीर्षासन करने से पहले कुछ योगासनों की मदद से संतुलन करने की क्षमता का विकास करना और शरीर को मजबूत बनाना बहुत जरूरी है। आइए इस स्‍लाइड शो के माध्‍यम से ऐसे की कुछ योगासनों के बारे में जानते हैं।

Pooja Sinha
Written by: Pooja SinhaPublished at: Aug 17, 2016

शीर्षासन से पहले करें ये योगासन

शीर्षासन से पहले करें ये योगासन
1/5

सिर के बल किए जाने के कारण इसे शीर्षासन कहते हैं। शीर्षासन एक ऐसा आसन है जिस करने से हम कई बड़ी-बड़ी बीमारियों से हमेशा के लिए दूर रह सकते हैं। हालांकि यह आसन काफी मुश्किल है। यह हर व्यक्ति के लिए सहज नहीं है। कई लोग ऐसा कहते हैं कि बहुत प्रयास के बाद भी वे शीर्षासन नहीं कर पा रहे हैं। इसलिए इसे करने के लिए तीन चीजें सबसे जरूरी होती है- संतुलन, मजबूती और निडरता। इसके लिए पहले आपको कुछ योगासनों की मदद से संतुलन करने की क्षमता का विकास करना और शरीर को मजबूत बनाना बहुत जरूरी है। आइए इस स्‍लाइड शो के माध्‍यम से ऐसे की कुछ योगासनों के बारे में जानते हैं जो शरीर को मजबूत बनाने के साथ संतुलन करने की क्षमता का भी विकास करते हैं।

कुंभकासन

कुंभकासन
2/5

कुंभकासन करने में भले ही आसान हो पर इसे योग के सबसे असरदार आसनों में से एक माना जाता है। ये आपकी बांहों, कंधों, पीठ, जांघों को मजबूत करता है। और शरीर में मजबूत बनाने वाला बेहतरीन आसन है। इसे करने के लिए चटाई पर पेट के बल लेट जाएं। अब अपनी हथेलियों को अपने चेहरे के आगे रखें और पैरों को इस तरह मोड़ें कि पंजे जमीन को धकेल रहे हों। अब हाथ को आगे की तरफ पुश करें और अपनी पुष्टिका को हवा में उठाएं। आपके पैर जमीन से सटे होने चाहिए और गर्दन ढीली होनी चाहिए। इसे अधोमुख स्वानासन के नाम से भी जाना जाता है। फिर अपने कंधों और कलाइयों को ऐसे रखें जिससे शरीर फ्लोर के सामानांतर हो जाए और उसके बाद हाथो से दवाब बनाकर शरीर के अगले हिस्से को उठायें और इस पोजीशन में 30 सेकंड्स तक बने रहें।

मकरासन

मकरासन
3/5

मकरासन पेट के बल लेटकर किये जाने वाला आसन है। इस आसन में शरीर की आकृति मगर की तरह दिखाई देती है, इसलिए इसे मकरासन कहा जाता है। इसे क्रोकोडाइल पोज भी कहा जाता है। मकरासन एक बहुत ही सरल और उपयोगी योग आसन हैं। यह शरीर के अंदर सूक्ष्म शक्ति को बढ़ाता है नतीजन शरीर मजबूत होता है। इस आसन को करने के लिए अपने एड़ी और हाथो के बल नीचे झुकें और इस दौरान बाहों को जमीन पर टिका लें। फिर दोनों हाथो की उंगलियों को आपस में फंसा लें और अपने शरीर को अधोमुखश्वानासन की तरह ऊपर की ओर खींचने की कोशिश करें। इस पोजीशन को 10 से 20 बार दोहरायें।

अधोमुख श्वानासन

अधोमुख श्वानासन
4/5

यह आसन मस्तिष्क में रक्त परिसंचरण को बढ़ाता है और सिर दर्द तथा तनाव से राहत दिलाता है। इसे करने के लिए घुटनों के बल खड़े हों और फिर हाथों को जमीन पर रखें। अब हाथों पर शरीर का सारा जोर देते हुए पैरों को वी आकार में फैलाएं। रीढ़ की हड्डी सीधी रखते हुए शरीर के ऊपरी हिस्से को ऊपर की तरफ खींचें। एक मिनट तक इसी अवस्था में रहने के बाद सामान्य अवस्था में आ जाएं।

चतुरंग दंडासन

चतुरंग दंडासन
5/5

इसे करने के लिए नीचे प्लैंक पर पेट के बल लेट जायें और फिर हाथों से दवाब बनाकर शरीर को ऊपर उठायें। हाथों को बिलकुल ऐसी पोजीशन में रखें, जिससे शरीर से 90 डिग्री का कोण बनें। अगर इसे करते हुए आप थोड़ा भी असहज महसूस करें तो उस दौरान घुटनों को नीचे कर लें। ऐसा कम से कम 10 बार दोहरायें। यह एक तरह की दंड लगाने जैसी स्थिति होती है। यह आसन आपके शरीर में ताजगी लाने और मांसपेशियों में निखार लाने के लिए उत्तम है, साथ ही इससे आपकी बाजुएं मजबूत होती है। Image Source : yogajournal.com

Disclaimer