इन 5 पोषक तत्‍वों की कमी के कारण ज्‍यादा खाते हैं आप

क्‍या आप जानते हैं कि विटामिन, मिनरल और एंटीऑक्सीडेंट की कमी के कारण आपको ज्‍यादा खाने की लालसा होती है? अगर नहीं, तो चलिये इस स्‍लाइड शो के माध्‍यम से जानें कैसे।

Pooja Sinha
Written by:Pooja SinhaPublished at: Oct 20, 2015

ज्‍यादा खाने का कारण है पोषक तत्‍वों की कमी

ज्‍यादा खाने का कारण है पोषक तत्‍वों की कमी
1/6

क्‍या आपको हर समय भूख लगती रहती हैं, या चॉकलेट, पिज्‍जा या बर्गर को देखकर मन में लालसा आने लगती है और बढ़ते वजन के बावजूद खुद को कंट्रोल नहीं कर पा रहे हैं तो इसके लिए आप अपनी इच्‍छा शक्ति को दोष मत दो। जीं हां आम धारणा के विपरीत कुछ सूक्ष्म पोषक विटामिन, मिनरल और एंटीऑक्सीडेंट की कमी के कारण आपको चीज और स्‍टेक से लेकर चॉकलेट और फ्रेंच फ्राइस के प्रति लालसा होती है। आइए इस स्‍लाइड शो के माध्‍यम से जानें कि पोषक तत्‍वों की कमी आपकी भूख को कैसे बढ़ाती है।

कैल्शियम और मैग्नीशियम

कैल्शियम और मैग्नीशियम
2/6

इन दो मिनरल की कमी से अक्‍सर चीनी और नमक के प्रति लालसा होने लगती है। कम मैग्‍नीशियम का स्‍तर, विशेष रूप से, चॉकलेट के प्रति लालसा को गाति प्रदान करने के लिए जाना जाता है। तनाव और बहुत ज्‍यादा चीनी खाने से कैल्शियम और मैग्‍नीशियम का स्‍टोर व्‍यय होने से लालसा और ज्‍यादा बढ़ने लगती है, और यह आपको स्‍ट्रेस इंटर बना देता है। आप कैल्शियम को पूर्ति के लिए दही, पनीर और चीज जैसे डेयरी उत्‍पादों और डार्क पत्‍तेदार साग और सार्डिन को अपने आहार में शामिल कर सकते हैं। और मैग्‍नीशियम के लिए आप नट्स, बीज, आलू की खाल और ब्रोकली को शामिल करें।

विटामिन बी

विटामिन बी
3/6

 विटामिन बी का समूह बहुत महत्‍वपूर्ण है क्‍योंकि यह तनाव को कम करने में आपकी मदद करता है। विटामिन बी जैसे विटामिन बी 1 और बी 5 अधिवृक्क ग्रंथियों के ठीक से काम करने और विटामिन बी -6 और B9 कुछ न्यूरोट्रांसमीटर के गठन में मदद करता है, जिससे आपका मूड विनियमित होता है और आपको अच्‍छा महसूस होता है। हाई स्‍ट्रेस के दौरान आपका शरीर इन विटामिनों को इस्‍तेमाल तेजी से करता है, इस दौरान तनाव को कम करने के लिए आप ज्‍यादा खा लेते हैं। अन्‍य विटामिन बी की कमी में कैफीन, अल्कोहल, परिष्कृत शर्करा, और दवाओं के प्रति कमजोर बनाता है। विटामिन बी मीट, समुद्री आहार, डेयरी प्रोडक्‍ट और अन्‍य खाद्य पदार्थों जैसे केले, पत्‍तेदार सब्जियों, आलू, एवोकाडो, अंडे के योक, चिकन, सालमन और दही में पाया जाता है।

जिंक

जिंक
4/6

यह मिनरल बड़ी उम्र और तनाव में रहने वाले लोगों में कम होता है। हालांकि जिंक की कम मात्रा लालसा को नहीं बढ़ती लेकिन इससे आपके स्‍वाद की भावना को कम कर देता है। आप खाद्य पदार्थों में पहले से मौजूद अधिक नमक और चीनी के बावजूद अधिक चीनी और नमक मिलाते हैं। इस मिनरल को खोजना आसान नहीं है लेकिन कस्‍तूरी, केकड़ा, लीवर, डार्क चिकन मीट जैसे पशु स्रोत सबसे अधिक प्रचलित है और कुछ मात्रा में अंडे, हरी मटर और नट्स में आपको जिंक मिल सकता है।

आयरन

आयरन
5/6

प्री मेंट्रूअल सिंड्रोम के दौरान स्‍टेक या बर्गर के प्रति लालसा कोई आश्‍चर्य की बात नहीं है। आयरन की कमी, विशेष रूप से प्रीमिनोपॉजल महिलाओं और शाकाहारियों के बीच आम होती है, मीट के प्रति लालसा पैदा करने के लिए प्रसिद्ध है। आयरन की कमी के लिए आपको मीट, अंडे या मछली की भरपूर मात्रा अपने आहार में शामिल करनी चाहिए। आयरन के संयंत्र स्रोत आसानी से आपके शरीर द्वारा इस्‍तेमाल नहीं किये जा सकते हैं, लेकिन आप सूखे फल, काजू, कद्दू के बीज, फलियां, और आयरन  समृद्ध पास्ता और अनाज को अपने आहार में शामिल कर स कते हैं।

ओमेगा -3

ओमेगा -3
6/6

ओमेगा-3 की कमी से भी भूख ज्‍यादा लगती हैं। जीं हां अगर आप रात के 11 बजे अपने पसंदीदा पिज्‍जा मंगवाने के लिए नम्‍बर डायल करते हैं, तो यह ओमेगा-3 की कमी का संकेत हो सकता है। क्‍योंकि यह आवश्‍यक फैटी एसिड की कमी चीज के प्रति लालसा को ट्रिगर करता है। ईपीए और डीएचए इस लालसा को दूर करने वाले सबसे अच्‍छे उपाय है। ईपीए और डीएचए सालमन, सार्डिन और कैनड ट्यूना जैसी फैटी मछलियों में सबसे प्रचुर मात्रा में होता है।   Image Source : Getty

Disclaimer