जायफल तेल के उपयोग से दूर होती हैं ये 6 समस्याएं

जायफल का तेल सेहत के लिए बेहद उपयोगी है। ऐसे में ये सेहत को कई समस्या को दूर रख सकती हैं। जानते हैं इसके फायदे

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: May 27, 2021

जायफल का तेल

जायफल का तेल
1/7

जायफल के तेल के अंदर कई औषधीय गुण मौजूद होते हैं जो शरीर से कई बीमारियों को दूर कर सकते हैं। हालांकि इसके बारे में लोग बहुत कम जानते हैं। अगर इसके पोषक तत्वों की बात की जाए तो इसके अंदर विटामिन ए, सी, कॉपर, आयरन, कैल्शियम, पोटेशियम, फाइबर, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, फोलेट, मैग्नीशियम, फास्फोरस, कैरोटीन आदि मौजूद होते हैं। जायफल का तेल एक एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता है। आज का हमारा लेख इसी विषय है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि जायफल तेल के उपयोग से क्या-क्या फायदे होते हैं?  इसके लिए हमने आयुर्वेद संजीवनी हर्बल क्लिनिक शकरपुर, लक्ष्मी नगर के आयुर्वेदाचार्य डॉ एम मुफिक (Ayurvedacharya Dr. M Mufik) से भी बात की है। पढ़ते हैं आगे...

पथरी को दूर करे जायफल का तेल

पथरी को दूर करे जायफल का तेल
2/7

बता दें कि पथरी की समस्या को दूर करने में जायफल का तेल बेहद उपयोगी है। ये तेल किडनी संक्रमण से भी बचाता है। जायफल का तेल पथरी को तोड़ने में मदद करता है और मूत्र के माध्यम से पथरी बाहर निकल जाती है। ऐसे में अगर जायफल के तेल का उपयोग नियमित रूप से किया जाए तो यह गुर्दे की पथरी के जोखिम को कम कर सकती है।

पाचन समस्या को करें दूर

पाचन समस्या को करें दूर
3/7

अगर जायफल के तेल का उपयोग किया जाए तो यह न केवल पाचन क्रिया को मजबूत करता है बल्कि कमजोर इम्यून सिस्टम को मजबूती देता है जो व्यक्ति कब्ज की समस्या से परेशान रहते हैं या पेट की दर्द से राहत पाना चाहते हैं तो वे अपने आहार में जायफल के तेल का उपयोग कर सकते हैं। साथ ही पेट में मालिश करने से भी दर्द की समस्या दूर हो जाती है।

त्वचा के लिए जायफल का तेल

त्वचा के लिए जायफल का तेल
4/7

बता दें कि जायफल के तेल के उपयोग से दाग धब्बे, कील मुंहासे आदि दूर होते हैं। जायफल के तेल के अंदर एंटी फंगल और एंटी बैक्टीरियल मौजूद होते हैं। जायफल के अंदर एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण भी पाए जाते हैं ऐसे में रूई में जायफल के तेल को डालें और प्रभावित जगह पर लगाएं। ऐसा करने से दाग धब्बे और त्वचा के निशान भी दूर हो जाते हैं।

अस्थमा के लिए जायफल का तेल

अस्थमा के लिए जायफल का तेल
5/7

जिन लोगों को सांस से संबंधित समस्या रहती है या जो लोग अस्थमा के लक्षण को कम करना चाहते हैं वह जायफल के तेल का उपयोग कर सकते हैं। बता दें कि जिन लोगों को अस्थमा रहता है उन्हें सांस लेने में तकलीफ महसूस होती है, जिसकी वजह से फेफड़ों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। ऐसे में जायफल के उपयोग से सूजन के कारण मांसपेशियों को भी आराम मिलता है।

गुर्दे के संक्रमण के लिए जायफल का तेल

गुर्दे के संक्रमण के लिए जायफल का तेल
6/7

बता दें कि जायफल के तेल के उपयोग से गुर्दे के संक्रमण को रोका जा सकता है। इसके अंदर एंटीऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते हैं जो मूत्र से संबंधित बैक्टीरिया को खत्म करने में बेहद उपयोगी हैं। नियमित रूप से इसका उपयोग किया जाए तो बैक्टेरिया और वायरस दोनों का प्रभाव कम होता है।

मांसपेशियों के लिए जायफल का तेल

मांसपेशियों के लिए जायफल का तेल
7/7

बता दें जायफल के तेल के अंदर एंटी इंफ्लेमेट्री गुण मौजूद होते हैं जो न केवल मांसपेशियों में होने वाले दर्द को दूर करते हैं बल्कि खिंचाव के कारण आई सूजन में भी राहत दिलाते हैं। ऐसे में आप जोड़ों के दर्द या मांसपेशियों के दर्द को दूर करने में भी जायफल के तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं।

Disclaimer