एच1एन1 फ्लू व इन्फ्लुएंजा के डर से बचायेगी यह नई फ्लू वैक्सीन

इस साल आने वाला फ्लू शॉट H1N1 फ्लू वायरस के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करने के साथ-साथ दो अन्य इन्फ्लूएंजा वायरसों (जिनके इस फ्लू सीज़न में फैलने की आशंका है) से भी सुरित रखेगा।

Rahul Sharma
Written by: Rahul SharmaPublished at: Oct 27, 2015

H1N1 फ्लू व इन्फ्लुएंजा के लिये नयी वैक्सीन

H1N1 फ्लू व इन्फ्लुएंजा के लिये नयी वैक्सीन
1/5

एक फ्लू शॉट, आपको फ्लू के संक्रमण से बचाता है। हालांकि ये सौ प्रतिशत सटीक सुरक्षा की गारंटी नहीं देता, यह फ्लू से बचाव का एक बेहतर विकल्प है। खासतौर पर इस साल आने वाला फ्लू शॉट H1N1 फ्लू वायरस के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करने के साथ-साथ दो अन्य इन्फ्लूएंजा वायरसों (जिनके इस फ्लू सीज़न में फैलने की आशंका है) से भी सुरक्षित रखेगा। यह शॉट वायरस के चार उपभेदों के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करता है। इन्फ्लुएंजा एक श्वसन संक्रमण है, जो गंभीर जटिलताएं पैदा कर सकता है, खासतौर पर छोटे बच्चों, वयस्कों और बीमार लोगों में। फ्लू शॉट इन्फ्लूएंजा और इसकी जटिलताओं को रोकने के लिए सबसे प्रभावी तरीका है। सेंटर्स फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) के अनुसार 6 महिने के बाद की उम्र के सभी लोगों को इन्फ्लूएंजा से बचाव का टीका लगाया जाना चाहिये।Images source : © Getty Images

फ्लू के टीके कब तक होंगे उपलब्ध?

फ्लू के टीके कब तक होंगे उपलब्ध?
2/5

मायो क्लिनिक के अनुसार क्योंकि फ्लू के ये टीके निजी निर्माताओं द्वारा बनाए जा रहें हैं, इनकी उपलब्धता उत्पादन के पूरा हो जाने पर निर्भर करती है। 2015-2016 फ्लू सीज़न के लिये निर्माताओं का संकेत दिया है कि बाजार में इसके जुलाई या अगस्त में शुरू होने की संभावना है और फिर सितम्बर और अक्टूबर के दौरान इनका पूरा वितरण किया जाएगा। डॉक्टरों और नर्सों को कहा गाया है कि जैसे ही फ्लू के टीके आपके क्षेत्रों में उपलब्ध हों, लोगों को इन्हें लगाना शुरू किया जा सकता है। फ्लू शॉट लेने के बाद यह इम्युनिटी बढ़ाने में दो सप्ताह का समय लेता है।Images source : © Getty Images

हर साल फ्लू शॉट लेने की जरूरत क्यों होती है?

हर साल फ्लू शॉट लेने की जरूरत क्यों होती है?
3/5

नए फ्लू के टीके से हर साल जारी किये जाते हैं ताकि तेजी से फ्लू के वायरस के अनुकूल इसे ढ़ाला जा सके। क्योंकि फ्लू वायरस बहुत जल्दी विकसित होता है, पिछले साल के टीके इस साल के वायरस से बचाने में सक्षम नहीं हो सकते हैं। वेक्सिनेशन के बाद अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली एंटीबॉडी का उत्पादन करते हैं, जोकि वैक्सीन वायरस से रक्षा करते हैं। साधाणतः समय के साथ एंटीबॉडी के स्तर में समय के साथ गिरावट शुरू हो जाती है, और यह भी हर साल फ्लू शॉट लेने का एक वाजिब कारण है। Images source : © Getty Images

किसे है इसकी ज्यादा जरूरत

किसे है इसकी ज्यादा जरूरत
4/5

गर्भवती महिलाएं, वयस्कों और छोटे बच्चों को फ्लू और इन्फ्लुएंजा का जोखिम अधिक होता है, इसलिये इन्हें ये शॉट जरूर दिया जाना चाहिये। 6 महीने से 8 साल के बीच के बच्चों को पूरी तरह से संरक्षित करने के लिये फ्लू के टीके की दो खुराक की आवश्यकता हो सकती है। इस संबंध में अपने बच्चे के डॉक्टर से सलाह लें। इसके अलावा गंभीर बीमारियां जैसे दमा कैंसर या कैंसर का इलाज, क्रोनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज (सीओपीडी), सिस्टिक फिब्रोसिस, मधुमेह, एचआईवी / एड्स, गुर्दे या यकृत रोग तथा मोटापा आदि भी इन्फ्लूएंजा जटिलताओं का खतरा बढ़ सकती हैं। Images source : © Getty Images

सावधानी से लें फ्लू वैक्सीन

सावधानी से लें फ्लू वैक्सीन
5/5

कुछ फ्लू के टीकों में छोटी मात्रा में अंडे का  प्रोटीन होता है, तो जो लोग अंडे के प्रति संवेदनशील या एलर्जिक हैं, वे वेक्सीन तो ले सकते हैं लेकिन इन्हें विशेष सावधानी बरतने की आवश्यकता हो सकती है। इस संबंध में अपने डॉक्टर से परामर्श लें। फ्लू वैक्सीन को दो प्रकार, इंजैक्शन व नेज़ल स्प्रे के माध्य से लिया जा सकता है। Images source : © Getty Images

Disclaimer