गोद लिए हुए बच्चे को कभी न कहें ये बातें

बच्‍चा गोद लेने के बाद उसकी दुनिया गोद लेने वाले पैरेंट्स हो जाते हैं, उसकी सारी जिम्‍मेदारी उसपर होती है यानी वह घर का सदस्‍य बन जाता है, ऐसे में उससे कौन सी बातें न बोलें, इसके बारे में इस स्‍लाइडशो में पढ़ें।

Gayatree Verma
Written by: Gayatree Verma Published at: Apr 26, 2016

गोद लिए हुए बच्चे

गोद लिए हुए बच्चे
1/7

एडॉप्शन वह प्रक्रिया है जिससे अनाथ बच्चे को मां-बाप मिल जाते हैं और कपल्स को बच्चे। लेकिन एडॉप्शन केवल बच्चे को गोद ले लेने भर की प्रक्रिया नहीं है। अगर आपने किसी बच्चे को गोद लेने का विचार कर लिया है तो आपको बहुत सारी शुभकामनाएं। शुभकामनाओं के साथ ही हम आपको बताने वाले हैं कुछ जरूरी चीजें जिनका खयाल आपको रखना जरूरी है। क्‍योंकि वह आपकी कोख से भले ही न पैदा हुआ हो लेकिन वह है तो आपका ही।

तुम अलग हो

तुम अलग हो
2/7

कई बार जब बच्चे की परिवार के सदस्य से आदतें और रंग-रूप नहीं मिलने के कारण मां-पिता बच्चे को दिलासा देने के लिए बोल देते हैं कि तुम हममें से न होने के कारण ऐसी हो। अगर आप भी अपने गोद लिये हुए बच्चे से ऐसा कहते हैं तो आप गलत कर रहे हैं। ये भले ही आप उसे अच्छा लगाने के लिए कर रहे हैं लेकिन इससे आप उसे अपने से ही अलग कर रहे हैं। तो बच्चे से कभी ना कहें कि, तुम अलग हो।

ना छुपाएं कुछ बातें

ना छुपाएं कुछ बातें
3/7

कई बार मां-पिता बच्चे से उसको गोद लेने की बात छिपाकर रखते हैं। ऐसा ना करें। आप खुद अपने बच्चे से कह दें कि आपने उन्हें गोद लिया है। साथ ही उन्हें ये भी समझा दें कि वो आपके लिए क्या हैं और आपकी जिंदगी में क्या अहमियत रखते हैं।

उम्र का इंतजार ना करें

उम्र का इंतजार ना करें
4/7

कई बार मां-बाप बच्चे से उनको गोद लिए जाने की बात कहने के लिए उनके बड़े होने का इंतजार करते हैं। ऐसा ना करें। आप एक सोसायटी में रहते हैं जिसमें अन्य लोगों को कोई भरोसा। ऐसे में बच्चे को कहीं और से उनके गोद लिए जाने की बात का पता चले उससे अच्छा है कि आप खुद उसे छोटी उम्र में ही बता दें।

उनके असली मां-बाप की बात

उनके असली मां-बाप की बात
5/7

अगर आपने थोड़े से बड़े बच्चे को गोद लिया है तो कभी भी उनसे उनके असली मां-बाप के बारे में ना पूछें। कभी अगर वो खुद अपने बचपन या मां-बाप के बारे में बताते हैं तो अच्छी बात है लेकिन आप खुद उनसे ना पूछें। इससे आप ना चाहते हुए भी अपने और अपने गोद लिए हुए बच्चे के बीच में दूरी ले आएंगे। गोद लिए हुए बच्चे के लिए उनके वर्तमान मां-पिता आप ही होते हैं जिनसे उनको नाम और मां-पिता का प्यार मिला है। ऐसे में जब कभी आप उनसे उनके असली मां-पिता के बारे में पूछते हैं तो आप उन्हें खुद से अलग करने की शुरुआत कर देते हैं। क्योंकि इनडायरेक्टली आप उन्हें बता देते हैं कि उनके मां-बाप कोई ओर हैं और आप केवल अपनी जिम्मेदारी निभा रहे हैं।

गलती के लिए कोसना

गलती के लिए कोसना
6/7

किसी भी तरह की गलती होने पर बच्चे को याद दिलाने की जरूरत नहीं है कि वो तो ऐसा करेंगे ही क्योंकि वो गोद लिए हुए हैं। बच्चे हैं और बच्चों से गलती हो जाती है। वैसे भी हर इंसान से गलती होती है। तो किसी भी तरह की गलती के लिए उन्हें डांटे, कोसे नहीं।

आप खुद समझें

आप खुद समझें
7/7

गोद लिए हुए बच्चे को कुछ भी बोलने या अपनाने से पहले आप खुद इस बात को दिल से कबूल करें कि वो आपका बच्चा है। इससे आपके और आपके गोद लिए हुए बच्चे के बीच की सारी दूरी मिट जाएगी।

Disclaimer