अपने बच्‍चों से कभी न कहें खाने संबंधित ये बातें

अक्‍सर पेरेंट्स बच्‍चों को खाने-पीने की आदतों को लेकर कमेंट करते रहते हैं लेकिन उनकी यह बातें बच्‍चों को पसंद नहीं आती। आइए इस स्‍लाइड शो के माध्‍यम से जानें कि बच्‍चों को खाने से जुड़ी कौन सी बातें नहीं कहनी चाहिए।

Pooja Sinha
Written by:Pooja SinhaPublished at: Jan 22, 2016

बच्‍चों से कभी न कहें खाने से जुड़ी बातें

बच्‍चों से कभी न कहें खाने से जुड़ी बातें
1/6

बच्चों की अच्छी सेहत के लिए उन्हें हेल्दी आहार देना बहुत जरूरी है। लेकिन इससे भी ज्‍यादा जरूरी है कि पेरेंट्स अपने बच्‍चों को यह बात कैसे बताते हैं। अक्‍सर पेरेंट्स बच्‍चों को खाने-पीने की आदतों को लेकर कमेंट करते रहते हैं लेकिन उनकी यह बातें बच्‍चों को पसंद नहीं आती। हालांकि इसके पीछे पेरेंट्स की मंशा अच्‍छी आदतों को बढ़ावा देने की होती है लेकिन बच्‍चे इसे नेगेटिव तरीके से लेते हैं। इसलिए बच्‍चों को हेल्‍दी खाने के लिए उत्‍साहित करने के लिए अच्‍छे ढंग से बताना चाहिए। आइए इस स्‍लाइड शो के माध्‍यम से जानें कि बच्‍चों को खाने से जुड़ी कौन सी बातें नहीं कहनी चाहिए।

पसंदीदा चीजों के लिए मना न करें

पसंदीदा चीजों के लिए मना न करें
2/6

बच्‍चों को उनकी पसंदीदा चीजें के लिए मना करने पर बुरा लगता है, इसलिए बच्चों को उनकी पसंदीदा आइसक्रीम, केक या चॉकलेट खाने के लिए मना न करें। बल्कि इसकी जगह उन्हें समझायें कि खाने के टाइम में आइसक्रीम या चॉकलेट नहीं खानी चाहिए हम इसे खाने के लिए किसी और दिन का प्लान बनाते हैं।

जबदस्‍ती न करें

जबदस्‍ती न करें
3/6

अक्‍सर पेरेंट्स बच्‍चों के भूख न लगने पर भी जबरदस्‍ती खिलाने लगते हैं। लेकिन खाने को लेकर बच्‍चों के साथ जबरदस्‍ती न करें बल्कि उसका जितना मन करें, उतना ही खिलाएं। या बच्‍चे को समझायें कि खाना अच्‍छे से खाना चाहिए ताकी अगले खाने के वक्‍त तक आप भूखे न रह जायें।

तुलना से बचें

तुलना से बचें
4/6

पेरेंट्स को बच्चों के साथ कभी दूसरे बच्चों की तुलना नहीं करनी चाहिए। बच्चों से यह बात कहना बंद करें कि तुम्हारी भाई बहन या दोस्त तो चुपचाप खा रहे हैं तो तुम्हें क्या परेशानी हैं। बल्कि अपने बच्‍चे को प्यार से समझाएं कि अगर वह खाना नहीं खाएंगा तो बड़ा कैसे होगा और अगर बच्चा छोटा हैं तो उसे खेल-खेल में खिलाने की कोशिश करें।

बार-बार एक ही बात को न कहें

बार-बार एक ही बात को न कहें
5/6

बच्चों को ऐसे कभी न कहें कि तुम चुन-चुन कर खाते हो। उन्हें प्यार से समझाकर कहें कि खाने के जायके को समझो, थोड़ा-थोड़ा करके शुरू करों, तुम्हे अच्छा लगेगा। उनकी एक ही पसंद के खाने को लेकर अगर आप बार-बार कहेंगे तो बच्चों को ये बिल्कुल पसंद नहीं आएगा। इसकी जगह उसे कहें कि तुम्हें खाने में बहुत अच्छा नहीं लग रहा है, लेकिन कुछ भी नया खाना अच्छा लगने के लिए थोड़ा समय लगता है और खाओगे तभी इसका स्वाद समझ में आयेगा।

पसंदीदा चीजों का लालच न दें

पसंदीदा चीजों का लालच न दें
6/6

बच्चों को चॉकलेट या उनकी पसंदीदा चीजों का लालच देकर कभी भी हेल्‍दी चीजें खाने के लिए न कहें। बल्कि कोशिश करें कि आप खुद ही हेल्‍दी आहार को इतना रोचक बनाये कि जिसे देखकर बच्चों का मन खाने के लिए ललचाए। Image Source : Getty

Disclaimer