महिलाओं की कामेच्‍छा संबंधी मिथ

By:Pooja Sinha, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Mar 05, 2014
महिलाओं की यौन इच्छाओं की बात आते ही सही गलत के कई सवाल आने लगते हैं। अधिकतर पुरुष इन बातों से अनजान है। और इसी कारण वे महिलाओं को पूर्ण रूप से संतुष्‍ट नहीं कर पाते। तो, आइए जानें कि क्‍या हैं महिलाओं की कामेच्‍छा से जुड़े मिथ और क्‍या हैं वास्‍तविकतायें।
  • 1

    महिला यौन इच्छा का स्कूल

    युवावस्‍था में सेक्‍स को लेकर हमारे मस्तिष्‍क में कई विचार होते हैं। इनमें से कई का वास्‍तविकता से कोई लेना-देना नहीं होता। लेकिन, क्‍योंकि हम उनके बारे में सुनते चले आए हैं, इसलिए हम उन्‍हें ही सच मान लेते हैं। इसके पीछे बड़ी वजह जानकारी का अभाव होता है। तो, फिर जानने की कोशिश करते हैं कि आखिर महिलाओं की कामेच्‍छा से जुड़े कौन से मिथ हैं और क्‍या हैं वास्‍तविकताएं-

    महिला यौन इच्छा का स्कूल
    Loading...
  • 2

    मिथ: पुरुषों की तुलना में महिलाएं कम सेक्स करना चाहती हैं।

    तथ्य: महिलाओं के बारे में माना जाता है कि उनमें पुरुषों के मुकाबले सेक्‍स इच्‍छा कम होती है। लेकिन यह बात सही नहीं है, महिलाएं भी पुरुषों के बराबर ही सेक्‍स के बारे में सोचती हैं। यह अलग बात है कि वह पुरुषों की तरह आवेगी नहीं होतीं। महिलाएं अपनी इच्‍छाओं को बहुत सावधानी से व्‍यक्त करती हैं और शारीरिक कामोत्तेजना के साथ प्‍यार को भी महसूस करना चाहती हैं।

    मिथ: पुरुषों की तुलना में महिलाएं कम सेक्स करना चाहती हैं।
  • 3

    मिथ: महिला को अश्लीलता पसंद नहीं है।

    तथ्‍य : महिलाओं को लेकर एक मिथ यह भी है कि महिलाओं को अश्लीलता पसंद नहीं है। लेकिन यह धारण गलत है महिलाएं भी अश्लील साहित्य का आनंद लेती हैं। अगर आप सोचते हैं कि केवल पुरुष कल्‍पनाओं में मंत्रमुग्ध हो सकते हैं महिलाएं नहीं तो आप निश्चित रूप से गुमराह हो रहे हैं। याद रखें कि सभी महिलाओं को सिर्फ "मुहब्बत" जैसे सौम्‍य शब्‍द सुनना पसंद नहीं होता हैं।

    मिथ: महिला को अश्लीलता पसंद नहीं है।
  • 4

    मिथ: मासिक धर्म के दौरान सेक्स से गर्भधारण नहीं होता।

    तथ्य: गर्भधारण करने के लिए बस शुक्राणु की कुछ बूंदे ही काफी होती है और यह आपके अंदर कई दिनों तक जिंदा रहता है और बाद में अंडे को निषेचित करने में मदद करता है खासकर तब जब आप को चक्र छोटा होता है। इसलिए यह सही नहीं कि मासिक धर्म के दौरान सेक्‍स करने से आप गर्भवती नहीं हो सकती।

    मिथ: मासिक धर्म के दौरान सेक्स से गर्भधारण नहीं होता।
  • 5

    मिथ: ऑर्गैज्‍म में बहुत अच्‍छा लगता है।

    तथ्य: यह सच नहीं है। कुछ महिलाओं को तो पता भी नहीं चलता कि उन्‍हें ऑर्गैज्‍म हुआ है। कुछ महिलाओं में श्रोणि की मांसपेशियां कामोत्तेजना के उस बिंदु के साथ ज्‍यादा अनुबंध नहीं कर पाती लेकिन फिर भी वह बहुत अच्‍छा और संतुष्‍ट महसूस करती हैं। यह एक सामान्‍य प्रक्रिया है।

    मिथ: ऑर्गैज्‍म में बहुत अच्‍छा लगता है।
  • 6

    मिथ: जी स्पॉट हमेशा वासनोत्तेजक होता है।

    तथ्य: यह सच है कि हर महिला का एक जी स्पॉट होता है लेकिन, हर महिला के लिए जी-स्पॉट वासनोत्तेजक क्षेत्र हो यह जरूरी नहीं है। अगर आप कई बार असफल हुए है तो इस स्‍पॉट को खोजने में अपना समय बर्बाद मत करो। इसकी बजाय उसके अन्‍य वासनोत्तेजक स्पॉट पर ध्यान दो।

    मिथ: जी स्पॉट हमेशा वासनोत्तेजक होता है।
  • 7

    मिथ: महिला का खुशी से आवाज करना इस बात का सबूत हैं कि उसे मजा आ रहा हैं।

    तथ्य: कुछ महिलाएं सेक्‍स के दौरान अपनी खुशी को बोल कर या आवाज द्वारा बताती है जबकि कुछ नहीं। लेकिन हर महिला इस बात की उम्‍मीद न करें कि वह अपनी खुशी आवाज द्वारा ही जाहिर करेंगी। अगर वह ऐसी आवाज नहीं निकालती हैं तो इसका मतलब यह नहीं कि उसको मजा नहीं आ रहा हैं। कई बार चुप्‍पी भी गोल्‍डन साबित होती है।

    मिथ: महिला का खुशी से आवाज करना इस बात का सबूत हैं कि उसे मजा आ रहा हैं।
  • 8

    मिथ: सेक्स महिलाओं के लिए महत्वपूर्ण नहीं है।

    तथ्य: महिलाएं भी पुरुषों की तरह एक अच्‍छा यौन जीवन जीने की सराहना करती हैं, लेकिन वह परिवार को भी उतनी ही प्राथमिकता देती हैं और सेक्‍स को उसपर हावी नहीं होने देती। महिलाओं को कई काम करने होते हैं और वह सब कुछ सही से करने का प्रयास भी करती है। इसलिए ऐसा नहीं है कि महिलाएं सेक्‍स को महत्‍वपूर्ण नहीं समझती।

    मिथ: सेक्स महिलाओं के लिए महत्वपूर्ण नहीं है।
  • 9

    मिथ: महिलाएं सेक्‍स को जल्द ही खत्म करना चाहती हैं।

    तथ्य: नहीं ऐसा नहीं है अगर आप संभोग सुख को प्राप्‍त करने के बाद उसकी इच्‍छाओं का ध्‍यान नहीं रखते हैं। तो अगली बार वह सेक्‍स को सिर्फ एक काम की तरह करती हैं और जल्‍द खत्‍म करना चाहती हैं। लेकिन अगर सेक्‍स के दौरान आप उसे भी पूरी फिलिंग देते है तो महिलाएं इसे कभी भी जल्‍द खत्‍म नहीं करना चाहेगी।

    मिथ: महिलाएं सेक्‍स को जल्द ही खत्म करना चाहती हैं।
  • 10

    मिथ: महिलाओं को आकर्षित करना पड़ता है।

    तथ्य: कई बार महिलाओं को अधिक आकर्षित करने की जरूरत पड़ती है। लेकिन वास्‍तव में महिलाओं को शुरू से यही सिखाया जाता है कि इस मामले में उन्‍हें पहल नहीं करनी चाहिए। फिर चाहे वो किसी को डेट पर ले जाने के लिए पूछना हो, सेक्‍स की शुरुआत करने से पहले की किस हो या फिर शादी के पूछना हो। यही बात सेक्‍स पर भी लागू होती है। वास्‍तव में वे सेक्‍स के लिए हताश नजर नहीं आना चाहतीं।

    मिथ: महिलाओं को आकर्षित करना पड़ता है।
  • 11

    मिथ: महिलाओं को भाता है ओरल सेक्‍स।

    तथ्य: बेशक ऑर्ग्‍जेम महिलाओं को सेक्‍स की पूर्ण संतुष्टि प्रदान करता है, लेकिन इसका अर्थ यह नहीं कि उन्‍हें दूसरी चीजें पसंद नहीं होतीं। महिलाओं सेक्‍स के दौरान अन्‍य कई चीजों और गतिविधियों का भी आनंद उठाती हैं। उन्‍हें गुदा संभोग और मुख मैथुन आदि भी काफी पसंद होता है।

    मिथ: महिलाओं को भाता है ओरल सेक्‍स।
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK