ऐसे दोस्‍तों से बचकर रहें

अच्‍छे दोस्‍त आपके जीवन को एक सही दिशा दे सकते हैं। और अगर आपकी संगत अच्‍छी न हो, तो आपको जीवन में कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

Bharat Malhotra
Written by: Bharat MalhotraPublished at: Jul 21, 2014

दोस्‍त चुनें ध्‍यान से

दोस्‍त चुनें ध्‍यान से
1/11

जिंदगी में कुछ चीजों पर आपका नियंत्रण होता है, कुछ पर नहीं। आप अपने माता-पिता, भाई-बहन और अपने जन्‍म का स्‍थान तो नहीं चुन सकते। लेकिन, दोस्‍त चुनने का हक आपको ही है। और इस मामले में आपको बहुत सावधानी बरतनी चाहिये। अच्‍छे दोस्‍त आपके जीवन को एक सही दिशा दे सकते हैं। और अगर आपकी संगत अच्‍छी न हो, तो आपको जीवन में कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। तो, चलिये जानने की कोशिश करते हैं कि किस प्रकार के दोस्‍तों से आपको बचकर रहना चाहिये। image courtesy : getty images

गॉसिप का सरताज

गॉसिप का सरताज
2/11

हम सबके दोस्‍तों की लिस्‍ट में कोई न कोई ऐसा दोस्‍त जरूर होता है। ऐसा व्‍यक्ति अपने आसपास के लोगों की प्रशंसा और ध्‍यान आकर्षित करने के मकसद से ऐसा बर्ताव करता है। उसे इस बात से कोई सरोकार नहीं होता कि जो बातें वह कर रहा/रही है वे कितनी सच हैं। जब तक लोग उसकी बातों का आनंद उठाते हैं, तब तक उसे कुछ भी कहने में गुरेज नहीं होता। आप ऐसे लोगों पर बिलकुल भरोसा नहीं कर सकते। क्‍योंकि जो व्‍यक्ति आपके सामने किसी दूसरे व्‍यक्ति की बुराई कर रहा है, वह दूसरे व्‍यक्ति के सामने आपके बारे में भी गलत बोल सकता है। ऐसे लोग किसी के बारे में भी गॉसिप करने से नहीं कतराते, फिर चाहे वह उनका दोस्‍त ही क्‍यों न हो। image courtesy : getty images

पैसे का पीर

पैसे का पीर
3/11

अगर आपके दोस्‍तों की लिस्‍ट में कोई ऐसा व्‍यक्ति है, जो पैसे खर्च करने के नाम पर ही बीमार पड़ जाता है, तो ऐसे व्‍यक्ति से दूरी भली। इन लोगों के पास आर्थिक परेशानी नहीं होती, बल्कि वे पैसे खर्च करने के मामले में बेहद कंजूस होते हैं। ऐसे लोगों के साथ शॉपिंग पर जाना भी बड़ी परेशानी हो सकती है। वे महंगाई का रोना रोते रहते हैं, लेकिन बात जब दूसरों से पैसे खर्च कराने की होती है, तो उन्‍हें यह बात याद नहीं रहती। और अगर आप कोई चीज खरीद लें, तो वे यही कहते हैं, 'तुम कितने अमीर हो यार'। image courtesy : getty images

अहं का प्‍यारा

अहं का प्‍यारा
4/11

हर व्‍यक्ति में थोड़ी बहुत ईगो होती है। हां इसका स्‍तर हर व्‍यक्ति में अलग हो सकता है। अगर आपका कोई दोस्‍त आपसे पहले अपनी बात कहना चाहता है। वह आपकी बात सिर्फ इसलिए काट देता है क्‍योंकि उसकी राय इससे हुदा है, तो सही मायनों में आप अहंकारी व्‍यक्‍त‍ि से बात कर हैं। ऐसे लोग अपने अहं के लिए घंटों लड़ सकते हैं। उन्‍हें इस बात से कोई सरोकार नहीं होता कि आप क्‍या कह रहे हैं। उनकी नजर में सिर्फ वे ही सही होते हैं। वे किसी भी सूरत में अपनी गलती मानने को तैयार नहीं होते। ऐसे लोगों से व्‍यवहार रखने का एक ही तरीका होता है कि आप उनकी हां में हां मिलाते जाएं। image courtesy : getty images

देवदास

देवदास
5/11

शराब पीकर अपने कथित एक्‍स गर्लफ्रेंड को याद करते रहना फिल्‍मों में तो कामयाबी दिला सकता है, लेकिन असल जीवन में नहीं। बेशक आज के दौर में प्‍यार को लेकर संजीदगी में कमी की शिकायत सभी करते हैं, लेकिन देवदास बनना भी तो कोई हल नहीं। बेशक, आपको उससे प्‍यार था लेकिन सारा दिन शराब पीकर उसे याद करते रहना कहां की समझदारी है। इससे किसी समस्‍या का हल होने वाला नहीं है। ऐसे लोग अपनी एक्‍स के बारे में बात करने का कोई न कोई बहाना तलाश ही लेते हैं। वे तब तक उसके बारे में बात करते हैं, जब तक वे रो न पड़ें। ऐसे में आपका भी दिन खराब हो जाता है। और क्‍योंकि वह आपका दोस्‍त है, इसलिए आप उसे चुप होने के लिए भी नहीं कह सकते और न ही उठकर जा ही सकते हैं। image courtesy : getty images

फैसला सुनाने वाले

फैसला सुनाने वाले
6/11

एक बार देखते ही वे आपके बारे में फैसला सुना देते हैं। ऐसे लोग पहली बार में ही आपके कपड़े, चाल और बात करने का अंदाज देखते ही आपके बारे में निर्णय कर लेते हैं। ऐसे लोग आजकल काफी आसानी से मिल जाते हैं। वे हर हरकत पर गिद्ध दृष्‍टि रखते हैं और फिर उसके हिसाब से फैसला सुना देते हैं। वे आपसे बात करते-करते ही आपकी खूबियों और खामियों की पूरी फेरहिस्‍त बना लेते हैं। और वे इस हिसाब से वे लोगों का मजाक बनाते हैं। वे आपके आत्‍मसम्‍मान को ठेस पहुंचाने का काम करते हैं। ऐसे लोगों से दूरी ही अच्‍छी है। image courtesy : getty images

लगातार मुकाबला

 लगातार मुकाबला
7/11

कौन किससे बेहतर है। वे लगातार इसी बात पर विचार करते रहते हैं। ऐसे लोग आपको लगातार याद दिलाने की को‍शिश करते हैं कि जीवन में कुछ भी आसानी से नहीं मिलता ओर अगर आपको कुछ मिल गया है, तो आप दुनिया के बादशाह हैं। उनके दिमाग में हमेशा मुकाबला चलता रहता है। आप उन्‍हें अहं से भरा हुआ भी कह सकते हैं। अगर आपको कोई कामयाबी मिली है, तो ऐसे लोग आपको मुबारकबाद भी आलोचनात्‍मक शैली में देंगे। उनके इस व्‍यवहार को आप एक खेल ही तरह लें, और अगर बात ज्‍यादा गंभीर होती नजर आए, तो ऐसे लोगों से दूरी ही बना लें। image courtesy : getty images

जलन से भरा

जलन से भरा
8/11

अगर कोई आपको देखकर जलता है, तो वह आपका दोस्‍त नहीं हो सकता। ऐसे लोगों से दूरी बनाकर रखना ही बेहतर है। दोस्‍त आपकी खुशी में खुश होते हैं, आपको देखकर जलते नहीं हैं। समस्‍या यह है कि आपसे जलने वाले लोग आमतौर पर छुपे रहते हैं। वे ऊपर से तो हंसते रहते हैं, लेकिन उनके भीतर ही भीतर ईर्ष्‍या की अग्नि धधक रही होती है। आप उनकी आंखों में यह सब देख सकते हैं। कई बार उनके शब्‍द भी उनके राज जाहिर कर देते हैं। वे कई बार कह देते हैं, 'यह तो कुछ भी नहीं, मैं इससे ज्‍यादा कर चुका हूं।' और इसी तरह की बातें। ऐसे लोग अपनी जिंदगी से कभी खुश नहीं होते। और ऐसे लोगों से दोस्‍ती 'ना बाबा ना'! image courtesy : getty images

मीठी छुरी मुस्‍कान

मीठी छुरी मुस्‍कान
9/11

हम सबके दोस्‍तों की लिस्‍ट में ऐसे लोग होते हैं, जिनके लिए जिंदगी हमेशा खूबसूरत होती है। वे मुश्किल से मुश्किल हालात में भी हंसने-मुस्कुराने और सकारात्‍मक रहने का तरीका तलाश लेते हैं। क्‍या वे वाकई ऐसे होते हैं या फिर दोस्‍ती करने का यह उनका तरीका होता है। ज्‍यादातर मामलों में इतनी मासूमियत धोखे का आधार बनती है। ऐसे लोग बड़ी मासूमियत से आपकी जिंदगी का हिस्‍सा बनते हैं और आपकी अच्‍छाई का फायदा उठाते हैं। और जब तक आपको होश आता है, वे आपका फायदा उठाकर निकल जाते हैं। किसी दोस्‍त से धोखा खाने से बुरा और कुछ नहीं हो सकता। तो ऐसी मीठी मुस्‍कान वालों से बचकर रहिये और जानने की कोशिश कीजिये कि आखिर कोई क्‍यों आपसे दोस्‍ती गांठ रहा है। image courtesy : getty images

हर बात बताओ

हर बात बताओ
10/11

कुछ लोगों के लिए हर बात जानना बहुत जरूरी होता है। वे तब तक आपको खोदते र‍हेंगे, जब तक आप उन्‍हें पूरी बात न बता दें। ऐसे दोस्‍त बहुत अच्‍छे श्रोता होते हैं। एक समय आपको लगने लगता है कि वह आपको कितना प्‍यार करता है, उसे आपकी कितनी फिक्र है। आपके बारे में सब कुछ जानने के बाद वे आपके द्वारा कही गयी बातों की तुलना, विवेचना शुरू कर देते हैं। जब आप उन्‍हें अपना दर्द बताते हैं तो उनकी आंखों में चमक बिखर जाती है। दुखी व्‍यक्ति को किसी के साथ की जरूरत होती है, लेकिन इनके लिए आपका दुख मनोरंजन का जरिया है। वे आपके दुख से खुश होते हैं और आपकी खुशी उन्‍हें हैरान करती है। बेहतर है कि ऐसे लोगों को अपने जीवन में ज्‍यादा भीतर प्रवेश न करने दें। image courtesy : getty images

Disclaimer