इन 3 सीजनल फ्लू वायरस के बारे में जानें

फ्लू के बारे में तो सभी जानते हैं पर फ्लू किन वायरस के कारण विभिन्न तरह के परिणाम देता है, इसके बारे में जानने के लिए टाइप ए, बी और सी के बारे में यहां विस्तार से पढ़ें।

Aditi Singh
Written by: Aditi Singh Published at: Oct 26, 2015

फ्लू यानि इन्‍फ्लूएंजा

फ्लू यानि इन्‍फ्लूएंजा
1/5

फ्लू यानि इन्‍फ्लूएंजा एक संक्रामक श्वसन संक्रमण है जो कई तरह के वायरस के कारण होता है। ये वायरस शरीर में नाक, आंख, मुंह आदि से प्रवेश कर जाते हैं। जैसे-जैसे ये शरीर के अन्य हिस्सों में संपर्क में आते ही शरीर को प्रभावित करने लगते हैं। धीरे-धीरे ये शरीर की इम्यूनिटी को कम करके शरीर को बीमार कर देते हैं। Image Source-Getty

क्या होता है विभिन्न प्रकार का फ्लू

क्या होता है विभिन्न प्रकार का फ्लू
2/5

फ्लू के तीन तरह के वायरस होते है, टाइप ए, टाइप बी, टाइप सी। टाइप ए और टाइप बी के कारण इन्‍फ्लूएंजा होता है। जिसके कारण खांसी आना, छींक आना, तेज बुखार, सिरदर्द आदि की शिकायत होती है। टाइप सी के कारण भी फ्लू होता है पर इसके लक्षण कम गंभीर होते है। Image Source-Getty

टाइप ए फ्लू वायरस

टाइप ए फ्लू वायरस
3/5

टाइप ए फ्लू वायरस  इंनफ्लूजा जानवरों और इंसानों को प्रभावित करने में सक्षम है। ये अकसर जानवरों के संपर्क में आने से होता है। टाइप ए फ्लू वायरस लगातार बदलता रहता है ये लंबे समय तक परेशान करने का कारण बन सकता है। इंफ्लूजा ए2 वायरस संक्रामक होता है। इससे पीड़ित लोगो से ये दूसरों में फैल जाता है।Image Source-Getty

टाइप बी फ्लू वायरस

टाइप बी फ्लू वायरस
4/5

टाइप ए फ्लू वायरस से अलग टाइप बी फ्लू वायरस केवल इंसानों मे ही पाया जाता है। इसमें टाइप ए फ्लू वायरस की तुलना में कम गंभीर रिएक्शन होता है, लेकिन किसी भी तरह की लापरवाही इसके परिणामों को प्रभावित कर सकती है। इसका कोई सबटाइप नहीं होता है। Image Source-Getty

टाइप सी

टाइप सी
5/5

इन्‍फ्लूएंजा सी वायरस इंसानों में ही पाया जाता है। लेकिन टाइप ए और बी की तुलना में ये कम खतरनाक होता है। इसके कारण लोग ज्यादा बीमार नहीं पड़ते है। ये वायरस संक्रमक भी नहीं होते है। Image Source-Getty

Disclaimer