जानें मेंस्‍ट्रुअल साइकिल में क्‍यों बढ़ता है कोलेस्‍ट्रॉल

माहवारी के समय महिलाओं में कोलेस्ट्रॉल की समस्या बढ़ जाती है। कोलेस्ट्रॉल के अलावा अन्य समस्याओं का भी सामना करना पड़ सकता है। इस बारें में विस्तार से जानने के लिए ये स्लाइडशो पढ़े।

Aditi Singh
Written by: Aditi Singh Published at: Jan 19, 2016

माहवारी और कोलेस्ट्रॉल

माहवारी और कोलेस्ट्रॉल
1/5

मासिक धर्म शुरू होने से पहले महिलाओं में कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम रहता है। मासिक धर्म के बाद पुरुषों की तुलना में महिलाओं में कोलेस्ट्रॉल का लेवल अधिक रहता है। महिलाओं में एस्‍ट्रोजन पाया जाता है, जो कोलेस्टेरोल के स्तर को सामान्य रखता है। हालांकि मासिक धर्म बंद होने के बाद यह स्थिति नहीं रहती है। मासिक धर्म बंद हो जाने के बाद एस्‍ट्रोजन का प्रमाण महिलाओ में कम हो जाता है। Image Source-getty

माहवारी में बढ़ जाता है कोलेस्ट्रॉल

माहवारी में बढ़ जाता है कोलेस्ट्रॉल
2/5

जरनल ऑफ क्लीनिकल एंडोक्राइनोलॉजी एंड मेटाबॉलिज्म में प्रकाशित एक शोध के अनुसार, शरीर में एस्ट्रोजन का स्तर खून में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को प्रभावित करता है। अंडा बनने की प्रक्रिया के साथ ही एस्ट्रोजन का स्तर बढऩे में एचडीएल (गुड) कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ जाता है और एलडीएल (बेड) कोलेस्ट्रॉल और ट्राईग्लिसराइड का स्तर गिर जाता है और जैसे ही मासिक धर्म शुरू होता है, यह न्यूनतम स्तर पर पहुंच जाता है। Image Source-getty

कोलेस्ट्रॉल के नुकसान

कोलेस्ट्रॉल  के नुकसान
3/5

कनाडा जर्नल में प्रकाशित शोध की मानें तो जो जोड़े साल भर तक कोशिश के बाद भी प्रजनन में कामयाब नहीं होते हैं, उनके रक्त में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक होती है।शोध में यह भी माना गया कि रक्त में अधिक कोलेस्ट्रॉल के होने से महिलाएं पुरुषों की अपेक्षा अधिक प्रभावित होती हैं और उन्हें गर्भधारण में अधिक समय लगता है। जिन महिलाओं में कॉलेस्ट्रोल की मात्रा ज्यादा होती है उनमें स्तन कैंसर होने का खतरा अधिक है।Image Source-getty

मसूढ़ों में दर्द

मसूढ़ों में दर्द
4/5

मसूढ़ों के ऊतकों में ढेर सारे एस्ट्रोजन रेसेप्टर्स होते हैं, जो हार्मोन संबंधी उतार-चढ़ाव पर प्रतिक्रिया करते हैं। इसलिए मासिक धर्म के दौरान मुंह में मसूढ़ों संबंधी परेशानी हो जाती है। मासिक धर्म और उससे पहले शरीर में एस्ट्रोजन का लेवल काफी ज्यादा होता है। आपको डेंटिस्ट के पास दांतों संबंधी किसी भी इलाज के लिए जाना हो, मासिक धर्म के बाद ही जाएं। तब एस्ट्रोजन का लेवल कम होता है, मसूढ़े कम संवेदनशील होते हैं।Image Source-getty

ऐसे रखें खुद को स्वस्थ

ऐसे रखें खुद को स्वस्थ
5/5

मसालेदार और गर्म खाद्य पदार्थ, फास्ट फूड, डिब्बाबंद खाद्य पदार्थों और ऐसे अन्य जंक फूड खाने से बचे क्‍योंकि इसमें पोषक तत्वों की कमी होती है। संतुलित और पौष्टिक आहार खाया जाना चाहिये। फल, अनाज, सब्‍जियां, मीट, दाल और डेयरी प्रोडक्‍ट जरुर खाएं।Image Source-getty

Disclaimer