वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे - उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए लें ये डाइट

आज हाइपरटेंशन डे है। ये दिन लोगों को उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने के प्रति जागरुक करने के लिए शुरू किया गया है। आज वर्ल्ड हाइपरटेंशन डे पर ऐसी डाइट के बारे में बात करते हैं जो उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करते हैं।

Gayatree Verma
Written by: Gayatree Verma Published at: May 12, 2017

हाइपरटेंशन के लिये डाइट

हाइपरटेंशन के लिये डाइट
1/6

हाइपरटेंशन या ब्‍लड प्रेशर की समस्‍या आज कल आम होती जा रही है। रक्‍तचाप की समस्‍या दो प्रकार की होती है, उच्‍च रक्‍तचाप और निम्‍न रक्‍तचाप। उच्‍च रक्‍तचाप को हाइपरटेंशन भी कहा जाता है। किसी स्वस्थ वयस्क का रक्तचाप 110/75 होना चाहिए। इस में उच्चतर रीडिंग प्रि-हाइपरटेंशन की स्थिति और 140/90 से ज्यादा होने पर हाइपरटेंशन की स्थिति होती है। यदि आपको भी उच्‍च रक्‍तचाप की समस्‍या है तो इस स्लाइडशो में दी गई डाइट लें।

पोटेशियम का सेवन

पोटेशियम का सेवन
2/6

पोटेशियम एक ऐसा खनिज है जो रक्तचाप को कम करने में मदद करता है। इसलिये नियमित रूप से पोटेशियम से भरपूर खाद्य पदार्थों जैसे, सेम, मटर, गिरियां, पालक, बंदगोभी जैसी सब्जियां, केला, पपीता व खजूर जैसे फल प्रमुखता से अपनी डाइट में शामिल करें।

कद्दू के बीज

कद्दू के बीज
3/6

कद्दू के बीजों में जिंक प्रचुर मात्रा में होता है जोकि स्‍ट्रेस को कम करने में मदद करता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है। गौरतलब है कि शरीर में जिंक की कमी होने पर डिप्रेशन और चिड़चिड़ेपन की समस्या हो सकती है।

दही

दही
4/6

दही में प्रोटीन, कैल्‍शियम, राइबोफ्लेविन, विटामिन बी6 और विटामिन बी12 पाया जाता है, जोकि उच्‍च रक्‍तचाप की समस्‍या को कम करता है। ये पेट को भी ठीक रखता है। तो नियमित रूप से दही का सेवन करें।

अंडा और धनिया

अंडा और धनिया
5/6

अंडे में विटामिन, मिनरल और हेल्‍दी फैट्स होते हैं जोकि एडोर्फिन नामक रसायन का उत्‍पाद करते हैं। यह रसायन हमारे दिमाग में भी मौजूद होता है जो कि हमें तनावव दर्द आदि समस्याओं से राहत दिलाता है। ऐसे ही धनिया भी बड़े ही प्रभावी ढ़ंग से ब्‍लड प्रेशर को कम करता है और हमें मन को शांत बनाता है। इसमें एक ऐसा रसायन होता है जो हमारी धमनियों की मासपेशियों को शांत करता है। इसलिए सुबह-सुबह अंडे को उबालकर उसमें धनिया की थोड़ी मात्रा डालकर खाएं। ब्लड़प्रेशर नियंत्रित रहेगा।

शकरकंद और अखरोट

शकरकंद और अखरोट
6/6

शकरकंद में बीटा कैरोटीन, कैल्‍शियम और घुलनशील रेशे होते हैं जो तनाव को कम करते हैं। इसलिये यदि आपको रक्तचाप संबंधी समस्‍या हो तो दिन में 1 या 2 स्‍लाइस शकरकंद की जरुर खाएं। इसी तरह अखरोट के सेवन से भी मूड में परिवर्तन होता है और उच्‍च रक्‍तचाप की समस्‍या भी ठीक हो जाती है। अखरोट में ओमेगा-3 फैटी एसिड, विटामिन बी और मैग्‍नीशियम होता है, जोकि सेहत और रक्त चाप के लिये लाभदायक होता है।

Disclaimer