स्‍वस्‍थ मुंह से जुड़े हैं स्‍वस्‍थ शरीर के तार

आपको शायद यकीन न हो, लेकिन स्‍वस्‍थ मुंह और स्‍वस्‍थ शरीर में गहरा संबंध होता है। मुंह की कई बीमारियों के साथ शरीर की अन्‍य बीमारियों से जुड़े होते हैं।

Bharat Malhotra
Written by: Bharat MalhotraPublished at: Aug 20, 2014

मुंह स्‍वास्‍थ्‍य और सेहत में संबंध

मुंह स्‍वास्‍थ्‍य और सेहत में संबंध
1/8

रोजाना ब्रश करना, फ्लॉस हटाना और डेंटिस्‍ट के पास नियमित जाने से आपके दांत और मसूड़े स्‍वस्‍थ और फिट रहते हैं। लेकिन, क्‍या आप जानते हैं कि चमकदार और सफेद दांत वास्‍तव में आपके शरीर को भी सेहतमंद बनाये रखने में मदद करते हैं। स्‍वस्‍थ मौखिक स्‍वास्‍थ्‍य और संपूर्ण सेहत के बीच गहरा संबंध है। आइये जानते हैं कैसे- Image Courtesy- Getty Images

आत्‍म-विश्‍वास बढ़ाये

आत्‍म-विश्‍वास बढ़ाये
2/8

यह कहने की जरूरत नहीं जब आपके दांत खराब या बदरंग होते हैं या फिर आपके मुंह से बदबू आ रही होती है, तो इससे आपका सा‍थी भी असहज महसूस करने लगता है। इसका असर आपके आत्‍मविश्‍वास पर भी पड़ता है। लेकिन, अगर आपके दांत साफ और चमकदार हैं और आपके मुंह से ताजा खुशबू आ रही है तो बेशक इसका असर आपके आत्‍मविश्‍वास पर भी होगा। Image Courtesy- Getty Images

दिल की बीमारियों का खतरा करे कम

दिल की बीमारियों का खतरा करे कम
3/8

मसूड़ों की बीमारी से होने वाली सूजन और जलन से दिल की बीमारियां होने का खतरा अधिक हो जाता है। इससे रक्‍तवाहिनियां जाम हो जाती हैं और ऐसे में आपको स्‍ट्रोक भी हो सकता है।

याद्दाश्‍त पर असर

याद्दाश्‍त पर असर
4/8

एक शोध में साबित हुआ है कि जो लोग जिंजिटिवस (मसूड़ों में सूजन अथवा खून आना) से पीडि़त होते हैं, उनकी याद्दाश्‍त उन लोगों की अपेक्षा कमजोर होती है, जिनके मसूड़े स्‍वस्‍थ होते हैं। Image Courtesy- Getty Images

अर्थराइटिस का खतरा

अर्थराइटिस का खतरा
5/8

जब आपके मुंह की सेहत अच्‍छी नहीं होती, तो बेशक इसका असर शरीर के अन्‍य अंगों पर भी पड़ता है। शोधकर्ताओं ने साबित किया है कि मसूड़ों की समस्‍या और रहेमेटॉयड अर्थराइटिस में सीधा संबंध होता है। Image Courtesy- Getty Images

डायबिटीज

डायबिटीज
6/8

डायबिटीज से पीडि़त लोग अकसर मसूड़ों की बीमारी होने की बात करते हैं। जब किसी व्‍यक्ति को डायबिटीज होती है, तो संक्रमण से लड़ने की उसकी क्षमता पर विपरीत असर पड़ता है। इससे मसूड़ों की कई बीमारियां हो सकती हैं। कुछ शोध में यह बात भी निकलकर आयी है कि डायबिटीज से व्‍यक्ति को कई अन्‍य बीमारियां होने का खतरा भी बढ़ जाता है। इससे रक्‍त शर्करा को नियंत्रित करना और मुश्किल हो जाता है। इसलिए, अगर आपको डायबिटीज है तो मसूड़ों की समस्‍या को नियंत्रित कर आप डायबिटीज को नियंत्रित कर सकते हैं। Image Courtesy- Getty Images

गर्भावस्‍था में मददगार

गर्भावस्‍था में मददगार
7/8

गर्भावस्‍था के दौरान महिलाओं को जिजिटिविस होने का खतरा अधिक होता है। कुछ शोध इस बात को प्रमाणित करते हैं कि मसूड़ों की बीमारी और कम वजन के शिशु के जन्‍म में सीधा संबंध होता है। Image Courtesy- Getty Images

इन बातों का रखें खयाल

इन बातों का रखें खयाल
8/8

अब आप जानते हैं कि मुंह स्‍वास्‍थ्‍य आपके लिए कितना महत्‍वपूर्ण है। और इसलिए आपको यह जरूर मालूम होना चाहिये कि आखिर अपने मुंह के स्‍वास्‍थ्‍य का खयाल कैसे रखा जाए। इसलिए जरूरी है कि आप फ्लोराइड टूथपेस्‍ट से दिन में दो बार अपने दांतों पर ब्रश करें। सही प्रकार ब्रश करें और दांतों के बीच में फंसे भोजन के अंश को निकालने के लिए फ्लॉस करना न भूलें। और अंत में अपने डेंटिस्‍ट के पास नियमित रूप से जाएं। इससे दांतों की किसी संभावित बीमारी का समय रहते पता चल जाएगा। Image Courtesy- Getty Images

Disclaimer