जानिए मानसून में मछली खाना कैसे हो सकता है खतरनाक

मानसून में मछली खाने से होने वाले नुकसान के बारे में इस स्लाइडशो में पढें।

Aditi Singh
Written by: Aditi Singh Published at: Aug 10, 2016

मानसून में मछली

मानसून में मछली
1/5

सीफूड के शौकीन है तो मछली खाना तो पंसद ही होगा। और खायें भी क्यों ना, स्वाद के साथ साथ मछली सेहत के लिए भी फायदेमंद होती है। मछली से भरपूर मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड और प्रोटीन मिलता है। इसका सेवन करना दमा, डायबिटीज, कैंसर समेत कई बीमारियों से बचाव करता है। लेकिन यहीं मछली का सेवन बारिश में करना आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है। मानसून में मछलियो का सेवन करना आपके शरीर में विषाक्त पदार्थ बढ़ा सकता है। Image Source-Getty

प्रजनन समय

प्रजनन समय
2/5

बारिश के मौसम में मछलियों का सेवन ना करने की सलाह का सबसे बड़ा कारण होता है, उनका प्रजनन समय का होना। जी हां मानसून में मछली और अन्य समुद्री जीवों के लिए प्रजनन का मौसम होता है। अंडों वाली मछली खाने से पेट में इन्फेक्शन और फूड पॉइजनिंग हो सकती है। पैसे के लालच में कई बार इसके अंडों को निकलकर फेंक देते है। पर उनके अंश पेट में ही रह जाते है। जो आपके शरीर को नुकसान पहुंचा सकते है। Image Source-Getty

जल प्रदूषण का खतरा

जल प्रदूषण का खतरा
3/5

बारिश के मौसम में जल प्रदूषण का खतरा बहुत रहता है ऐसे में मछलियों का सेवन आपको टाइफाइड, पीलिया और डायरिया जैसी बीमारियां दे सकती है। समुद्र व तालाब दोनों में गंदगी बढ़ने की संभावना ज्यादा रहती है। ऐसे में अगर खा भी रहे हैं तो इन्हें अच्छे से साफ करें और अच्छे से पका कर ही खाएं।Image Source-Getty

स्टोर की हुई मछलियां

स्टोर की हुई मछलियां
4/5

इस दौरान आपको ताजी मछली मिलने की संभावना भी कम रहती है। इस दौरान अधिकतर पहले से पैक या स्टोर की हुई मछलियां ही मिलती हैं। मछलियों को स्टोर करने के लिए प्रिजर्वेटिव का प्रयोग किया जाता है। जिसके कारण इसकी क्वालिटी प्रभावित होती है। Image Source-Getty

प्रिज़र्वेटिव के नुकसान

प्रिज़र्वेटिव के नुकसान
5/5

दस दिन से अधिक स्टोर की हुई मछली खराब हो सकती है। मछली को ज्यादा दिनों तक सही रखने और बैक्टीरिया व यीस्ट को कंट्रोल करने के लिए सल्फाटेस और पोलीफोस्पाटेस जैसे प्रिज़र्वेटिव का इस्तेमाल किया जाता है। इससे सांस लेने में कठिनाई और हृदय रोग का खतरा होता है। Image Source-Getty

Disclaimer