होम्योपैथिक दवा लेने से पहले जान लें इसे लेने के नियम

होम्योपैथी चिकित्सकीय बाजार तेजी से अपने पांव पसार रहा है। जिन लोगों को एलोपैथी चिकित्सका पद्धति पर भरोसा कम होता है, वे होम्योपैथी चिकित्सा कराने को ही तरजीह देते हैं।

Meera Roy
Written by: Meera RoyPublished at: Apr 16, 2017

होम्योपैथी चिकित्सा

होम्योपैथी चिकित्सा
1/8

होम्योपैथी चिकित्सकीय बाजार तेजी से अपने पांव पसार रहा है। जिन लोगों को एलोपैथी चिकित्सका पद्धति पर भरोसा कम होता है, वे होम्योपैथी चिकित्सा कराने को ही तरजीह देते हैं। लेकिन आपको बता दें कि होम्योपैथी दवा खाने के नियम, कायदे सब अलग हैं। यदि मरीज उन कायदों व नियमों का पालन नहीं करता है, तो उसके ठीक होने की संभावना काफी कम होती है। वास्तव में होम्यापैथी एक तरह से नियमों और कायदों को मानने वाली चिकित्सकीय पद्धति है। क्योंकि यह पद्धति काफी हद तक प्राकृतिक पद्धति से जुड़ी हुई है। बहरहाल, होम्योपैथी पद्धति के जरिए ठीक होने के लिए कुछ बातों का जानना जरूरी है। आइए जानते हैं-

खुले में न रखें

खुले में न रखें
2/8

होम्योपैथी दवा की शीशी कभी भी खुली जगह पर न रखें। बेहतर होगा कि इसके इस्तेमाल के बाद आप होम्योपैथी की दवा चाहे लिक्विड फार्म में हो या गोलियों के रूप में, किसी ठंडी जगह पर रखें।

हाथ में न लें

हाथ में न लें
3/8

होम्योपैथी दवा का यह नियम है कि उन्हें कभी भी हाथ में नहीं लेना चाहिए। इसके उलट आप बोतल खोलकर दवा को सीधे मुंह में ले लें। अगर गोलियां हैं और गिनने में दिक्कत आ रही है तो उन्हें बोतल के ढक्कन में लें और फिर वहीं से उसे सीधे मुंह में डालें। दरअसल हाथ के इस्तेमाल से दवा का प्रभाव कम हो सकता है।

30 मिनट तक कुछ न खाएं

30 मिनट तक कुछ न खाएं
4/8

होम्योपैथी दवा खाने का एक नियम होता है, जिसे बड़ी सख्ताई से मानना होता है। दरअसल होम्योपैथी दवा खाने के 30 मिनट बाद या खाने के आधे घंटे पहले कुछ न खाएं और न ही कुछ पीएं। इसे आप हाफ एन आवर रूल की तरह भी याद रख सकती हैं।

खाने से परहेज

खाने से परहेज
5/8

होम्योपैथी की दवा अगर आप ले रही हैं तो इस बात का ध्यान रखें कि आप क्या खा रही हैं। क्योंकि होम्योपैथी चिकित्सकीय पद्धति के अंतर्गत आप लहसुन, अदरक और प्याज जैसी चीजों को नहीं खा सकती हैं। यदि आप इन चीजों का सेवन करती हैं तो बेहतर होगा कि एक बार अपने डाक्टर से संपर्क कर लें। उनसे अपनी फूड चार्ट बनवा लें और किन चीजों को खाने से परहेज करना है, ये भी जान लें।

अन्य दवाओं से न करें मिक्स

अन्य दवाओं से न करें मिक्स
6/8

होम्योपैथी दवाओं को एलोपैथी और आयुर्वेदिक दवाओं से किसी भी कीमत पर मिलाना नहीं चाहिए। अगर आप हृदय संबंधी बीमारी की मरीज हैं, ब्लड प्रेशर है, डायबिटीज है या फिर एपिलेप्सी है तो किसी भी दवा को छोड़ने या जोड़ने से पहले अपने डॉक्टर से संपर्क जरूर करें। हो सकता है कि आपके डाक्टर आपको होम्योपैथी दवाओं के साथ एलोपैथी दवा लेने की हिदायत दे।

होम्योपैथी दवा के नियम

होम्योपैथी दवा के नियम
7/8

अगर आप होम्योपैथी दवा के सभी नियमों को कड़ाई से पालन करें तो हो सकता है कि डाक्टर आपको लहसुन, अदरक और प्याज खाने की अनुमति दे दे। लेकिन आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि डाक्टरों द्वारा कहे गए नियमों को किसी भी कीमत पर नहीं तोड़ेंगे।

इमली और खट्टा खाने से परहेज

इमली और खट्टा खाने से परहेज
8/8

जो मरीज अपने इलाज के लिए होम्योपैथी दवा पर आश्रित हैं, उन्हें इमली और खट्टी चीजें खाने से परहेज करना चाहिए। क्योंकि हो सकता है कि होम्योपैथी दवा के खट्टी चीजें खाने से उसके किसी तरह के साइड इफेक्ट देखने को मिले या फिर दवा पूरी तरह काम न करे।

Disclaimer