जानें वर्टिगो के उपचार में कैसे मददगार हैं एसेंशियल ऑयल

वर्टिगो लैटिन भाषा का शब्द है, जिसका अर्थ है चक्कर आना। सिर का बार-बार चकराना, सिर में दर्द का बने रहना जैसे लक्षण वर्टिगो के होते है। अगर आप भी इस बीमारी से परेशान है तो एसेंशियल ऑयल की मदद से आपको आराम मिल सकता है। इस बारे में जानने के लिए ये स्लाइडशो पड़े।

Aditi Singh
Written by: Aditi Singh Published at: Jul 29, 2016

लोबान का तेल

लोबान का तेल
1/5

लोबान का तेल का संबंध आधायत्म से ज्यादा माना जाता है। इसका प्रयोग अगरबत्ती, धूप और हवन सामग्री आदि में ज्यादा करते है। भारत की तुलना में इजिप्‍ट, ग्रीक, रोमन और अन्‍य देशों में बीमारियों से बचाव के लिए इसक प्रयोग किया जाता है। इसके तेल से आपको वर्टिगो की परेशानी से आराम मिलेगा। लोबान तेल भौंहों के बीच में लगाए, ये आपके मन को शांत करे। आप इसके प्रभाव को बढ़ाने के लिए अन्‍य आवश्‍यक तेलों को भी मिला सकते हैं। अपनी गर्दन के पीछे और पीठ पर लोबान तेल लगाने से तनाव से जल्‍द राहत पाने में मदद मिलती हैं। या इस ऑयल की कुछ बूंदें अपने हाथों में लेकर इसे मल लें और फिर गहरी सांस लेकर इसे सूंघे। Image Source-Getty

पेपरमिंट ऑयल

पेपरमिंट ऑयल
2/5

अगर आप सरदर्द से परेशान है, तो पेपरमिंट ऑयल की कुछ बूँदें अपने रुमाल पर या कलाई पर डालकर सूँघे।यह न सिर्फ दर्द को दूर करता है, बल्कि सिर के उस भाग को सुकून भी प्रदान करता है। यह तेल आपको तनाव से भी मुक्त कराएगा। पेपरमिंट ऑयल की दो से तीन बूंदें हाथों में लेकर धीरे-धीरे माथे और नाड़ी की मालिश करें। ये चिंता व तनाव से छुटकारा दिलाने में सहायक है। पेपरमिंट में प्रचुर मात्रा में प्राकृतिक तत्व होते हैं जो माइग्रेन के बढ़ने को रोकते हैं। Image Source-Getty

रोजमेरी तेल

रोजमेरी तेल
3/5

सिरदर्द की समस्या से परेशान हो रहे है तो रोजमेरी तेल से हल्का मसाज करने पर आपको राहत मिलेगी।  इसकी सुगंध तीव्र ना होकर भी काफी लुभावनी है। खुशबू मन की दशा सुधारने का कार्य करती है। इसकी भीनी महक तनाव को दूर कर दिमाग को शांत करती है, जिससे आप हमेशा फ्रेश मूड में नज़र आते हैं।रोजमेरी को माइग्रेन की बीमारी के लिए एक प्राकृतिक उपचार माना गया है। इस तेल की भांप लेने से भी शरीर को शांति का अनुभव होता है। Image Source-Getty

लैवेंडर तेल

लैवेंडर तेल
4/5

सिरदर्द से राहत पाने के लिए लैवेंडर तेल से सिर पर मसाज करने से राहत पाई जा सकती है।लैवेंडर तेल में एंटी-इंफ्लेमेटरी और दर्द दूर करनेवाले गुण पाएं जाते हैं। एरोमाथेरेपी में भी इसका प्रयोग होता है, क्‍योंकि यह दिमाग को सुकून पहुंचाता है। यह सिरदर्द, चिंता, अवसाद, तंत्रिका तनाव और भावनात्मक तनाव को ठीक करने में सहायक होता है। यह तेल तंत्रिका थकावट और बेचैनी को दूर करने के लिए जाना जाता है। साथ ही यह मानसिक गतिविधि को बढ़ाता है और उसे शांत भी बनाता है।  Image Source-Getty

कपूर का तेल

कपूर का तेल
5/5

सिरदर्द की समस्या में कपूर का तेल लाभदायक होता है। अवसाद या तनाव की स्थिति में सिर पर कपूर के तेल की मालिश करें। इससे आपको मानसिक तौर पर राहत मिलेगी और तनाव धीरे-धीरे कम होने लगेगा। आयुर्वेद में भी कपूर के तेल का प्रयोग काफी ज्‍यादा किया जाता है। कपूर घर में आसानी से पाया जाता है इसलिये आप इसे आराम से प्रयोग कर सकती हैं। बाजार में सिरदर्द में आराम देने वाले बाम में भी कपूर का प्रयोग किया जाता है। Image Source-Getty

Disclaimer