नए साल पर स्वास्थ्य संकल्प

नया साल आने पर कुछ न कुछ संकल्प लेने की एक अच्‍छी प्रथा है। इस बार लें अच्छी सेहत का संकल्प।

Rahul Sharma
Written by: Rahul SharmaPublished at: Dec 31, 2013

सेहत भरा नया साल

सेहत भरा नया साल
1/9

नया साल आने पर कुछ न कुछ संकल्प लेने की एक अच्‍छी प्रथा सी है। तो क्यों न इस बार अपनी सेहत को बेहतर बनाने का संकल्प किया जाए। 'हेल्थ इज वेल्थ' जितना सुनने में अच्छा लगता है, वास्तविकता में ये उससे कहीं ज्यादा लाभदायक होता है। अक्सर लोग खूब सारा पैसा कमाने के लिए जी तोड़ मेहनत करते हैं किंतु इस पूरे घटनाक्रम में स्वास्थ्य को दांव पर रख देते हैं। जिसकी वजह से बाद में उससे अधिक धन इलाज में खर्च करना पड़ता है। तो चलिए इस नए साल में प्रण करते हैं कि अपनी सेहत के साथ कोई समझौता नहीं करेंगे और इन स्वास्थय नियमों को अपनाकर स्वस्थ शरीर और खुशहाल जीवन पाएंगे।

क्या है आदर्श स्वास्थ्य

क्या है आदर्श स्वास्थ्य
2/9

क्या आप अच्छा दिखना, अच्छा महसूस करना और अधिक ऊर्जावान शरीर चाहते हैं। बेशक मजबूत, सुंदर और स्वस्थ शरीर हर व्यक्ति की कामना होता है। लेकिन आदर्श स्वास्थ्य के लिए चार प्राकृतिक सिद्धांतों, नियमित व्यायाम, यथोचित आराम, बेहतर पोषण और सकारात्मक दृष्टिकोण की जरूरत होती है।

तनाव को कहें टाटा

तनाव को कहें टाटा
3/9

परिवार की जिम्मेदारियां, काम का बोझ, आगे निकलने की होड, वक्त की कमी, रिश्तों के बीच बढ़ती दूरियां, अकेलापन और बहुत सारी महत्वाकांक्षाएं, इनके चलते आज अधिकांश लोग तनाव का शिकार हो रहे हैं। और इसका नकारात्मक प्रभाव उनके शारीरिक-मानसिक स्वास्थ्य तथा जीवन की गुणवत्ता पर पड़ रहा है। इसलिए इस नए साल संकल्प करें इन छोटी-छोटी बातों पर तनाव नहीं पालेंगे और स्वस्थ रहेंगे।

मोटापा है स्वस्थ्य का दुश्‍मन

मोटापा है स्वस्थ्य का दुश्‍मन
4/9

शरीर में जरूरत से ज्यादा चर्बी और बेडौल शरीर मोटापे के उपहार होते हैं। मोटापा आपके शरीर के लिए एक अभिशाप होता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी मोटापे को स्वास्थ्य के लिए सबसे बड़े 10 खतरों में शामिल किया है। मोटापे के कारण डायबिटीज, हाइपरटेंशन, हार्ट फेलियर, जोड़ों में दर्द और बांझपन जैसी समस्याएं होती हैं। तो इस साल संकल्प लें कि नियमित व्यायाम और उचित खान-पान के जरिए मोटापे को दूर कर देंगे।

एक्सरसाइज को बनाएं आदत

एक्सरसाइज को बनाएं आदत
5/9

इस तेज रफ्तार और तेजी से दौड़ती जिंदगी के साथ तालमेल बैठाने के लिए स्वस्थ और ऊर्जावान रहना बेहद जरूरी है। और इसका सबसे अच्छा तरीका है नियमित एक्सरसाइज। नियमित एक्सरसाइज करने से आप न सिर्फ शारीरिक रूप से स्वस्थ रहते हैं, बल्कि इससे मानसिक शांति भी प्राप्त होती है। विशेषज्ञों के अनुसार हर दिन केवल 15 मिनट की एक्सरसाइज कर आप अपने जीवनकाल को लगभग 3 साल तक बढ़ा सकते हैं।

नियमित हो भोजन व दिनचर्या रखे निरोग

नियमित हो भोजन व दिनचर्या रखे निरोग
6/9

नियमित, पौष्टिक व संतुलित भोजन शरीर के लिए अमृत की तरह काम करता है। नियमित रूप से संतुलित और पोषक भोजन करने से न केवल बीमारियों से बचाव होता है, बल्कि शरीर स्वस्थ और ऊर्जावान भी बना रहता है। अपने भोजन में फल, सब्जियों, साबुत अनाज और तरल पदार्थो को उचित मात्रा में शामिल करें। भूखे न रहें, लेकिन अधिक तला व जंक फूड न खाएं। जल्दी सोएं और जल्दी उठें।

पूरी लें नींद, और रोज लगाएं ध्यान

पूरी लें नींद, और रोज लगाएं ध्यान
7/9

हर इंसान के शरीर में नींद की एक बायोलॉजिकल क्लॉक होती है। जब यह क्लॉक असंतुलित होती है तो आपको कई शरीरिक और मानसिक समस्याओं का  सामना करना पड़ता है। विशेषज्ञ बताते हैं कि एक दिन में कम से कम 6 से 8 घंटे की नींद लेनी बेहद जरूरी होती है। नींद पूरी न होने पर तनाव व कोई शारीरिक या मानसिक समस्या हो सकती है। साथ ही रोज थोड़ी देर ध्यान लगाना चाहिए। ध्यान से एलर्जी, उत्तेजना, अस्थमा, कैंसर, थकान, हृदय संबंधी बीमारियों, हाई ब्लड प्रेशर व अनिद्रा आदि से मुक्ति मिलती है।

साल में एक हेल्थ चेकअप

साल में एक हेल्थ चेकअप
8/9

अकसर लोग हेल्थ चेक-अप को समय और पैसे की बर्बादी समझकर टाल देते हैं। इससे कई गंभीर बीमारियों के लक्षण शुरुआत में दिखाई नहीं देते। इसलिए साल में एक बार मेडिकल टेस्ट कराना बेहद जरूरी है, ताकि बीमारियों की समय रहते पहचान लिया जाए। इसलिए इस साल के शुरू में ही अपना रूटीन चेकअप अवश्य करा लें।

ले तो लिया पर कैसे करें संकल्प पूरा

ले तो लिया पर कैसे करें संकल्प पूरा
9/9

थोक में संपल्प न लें। केवल 1 या 2 संकल्प लें और उसे पूरी इच्छा-शक्ति के साथ पूरा करने में जुट जाएं। सोच विचार कर पहले से ही अपना संकल्प तैयार कर लें, ताकि आपको अपने लक्ष्य के बारे में सोचने और उसे प्राप्त करने का समय मिल जाए। शॉर्टकट न लें। यकीन मानिए अपने संकल्प को पूरा कर आपको कमाल का एहसास होता है। और आपका आत्मविश्वास आसमान छूने लगता है।

Disclaimer