पानी के बारे में रोचक तथ्य

कहते हैं जल ही जीवन है। जल के बिना धरती पर मानव जीवन की कल्‍पना भी नहीं की जा सकती। मनुष्‍य चांद से लेकर मंगल तक की सतह पर पानी तलाशने की कवायद में लगा है, ताकि वहां जीवन की संभावनायें तलाशी जा सकें। लेकिन, क्‍या धरती पर रहने वाले हम पानी के वा‍स्‍तविक मूल्‍य को समझते हैं।

Anubha Tripathi
Written by: Anubha TripathiPublished at: Jan 08, 2014

जल ही जीवन है

जल ही जीवन है
1/10

जिस प्रकार नहाने से शरीर के बाहर की सफाई होती है, ठीक उसी प्रकार पानी पीने से शरीर के अंदर की सफाई होती है। पानी कार्बोहाइड्रेट्स, प्रोटीन और वसा की तरह ही पोषण का काम करता है। आइए जानें पानी के बारे में रोचक तथ्यों के बारे में-

शरीर में पानी की मात्रा

शरीर में पानी की मात्रा
2/10

वयस्कों के शरीर में औसतन 35 से 40 लीटर पानी हमेशा बना रहता है। एक वयस्क पुरुष के शरीर में पानी उसके शरीर के कुल भार का लगभग 65 से 70 प्रतिशत और एक वयस्क स्त्री शरीर में उसके शरीर के कुल भार का लगभग 52 प्रतिशत तक होता है।

जोड़ों के लिए

जोड़ों के लिए
3/10

पानी हमारे घुटनों, कलाई और सभी अंतरंग भागों की चिकनाई के साथ-साथ जोड़ों को स्‍वस्‍थ रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। एक तरफ जहां ज्यादा पानी पीने से शरीर के टॉक्सिन बाहर निकलते हैं वहीं पानी पूरी बॉडी में न्यूट्रिशन को पहुंचाने का काम भी करता है।

ज्यादा पानी नुकसानदेह

ज्यादा पानी नुकसानदेह
4/10

ज्यादा पानी पीना भी शरीर के लिए नुकसानदेह हो सकता है। आप अपने शरीर से पसीने, मलमूत्र और सांसों आदि के जरिए जितना पानी निकालते हैं उससे ज्यादा पानी पीना नुकसानदेह हो सकता है। पानी का ओवरडोज किडनी पर आवश्‍यकता से अधिक दबाव डालता है।

चमक रखे बरकरार

चमक रखे बरकरार
5/10

पीने पीने से चेहरे पर चमक बरकरार रहती है क्योंकि इससे त्वचा में नमी बनी रहती है। वैसे भी एक निश्चित अंतराल के बाद स्किन को ठीक रहने और हेल्दी बनाने के लिए पानी पीने की सलाह दी जाती है।

पानी बदले मूड

पानी बदले मूड
6/10

यूनिवर्सिटी ऑफ कनेक्टिकट के शोधकर्ताओं के मुताबिक पानी से किसी का मिजाज, ऊर्जा का स्तर और सही तरीके से सोचने की क्षमता बदल सकती है। शरीर में पानी की थोड़ी भी कमी होने से मिजाज पर प्रतिकूल असर पड़ सकता है और महिलाओं में यह बात खासतौर पर देखी जा सकती है।

भोजन से पहले पानी

भोजन से पहले पानी
7/10

भोजन करने से पहले पानी पीना पाचन तंत्र के लिए अच्छा होता है। हमारे शरीर में एन्जाइंम से पानी का कार्य नहीं पूरा होता क्योंकि यह हमारे पाचन तंत्रों में मिक्स नहीं हो पाता। पानी शरीर में जाने वाले पौष्टिक आहार को टुकड़ों में विभाजित करता है। इसीलिए भोजन करने से कुछ समय पहले पानी पीने की सलाह दी जाती है।

स्तनपान कराने से पहले पानी

स्तनपान कराने से पहले पानी
8/10

स्तनपान कराने वाली महिलाओं को दिन में जूस व अन्‍य पेय पदार्थों के साथ कम से कम 13 गिलास पानी पीने की सलाह दी जाती है। जब भी फीड कराएं उससे पहले एक गिलास पानी पीना काफी लाभदायक होता है, यह फीडिंग के दौरान हुई फ्लूड की कमी को भरता है।      

मांसपेशियों की ऐंठन

मांसपेशियों की ऐंठन
9/10

हमारे मांसपेशियों का 80 प्रतिशत भाग पानी से बना हुआ है। तो अगर आप जरुरत के हिसाब से पानी नहीं पियेगें तो आपकी मासपेशियों में ऐंठन शुरु हो जाएगी। इसलिए जब भी प्यास लगे तो पीनी जरूर पिएं।

तरबूज के बाद पानी ना पिएं

तरबूज के बाद पानी ना पिएं
10/10

कुछ खाद्य पदार्थ ऐसे होते हैं जिनको खाने के बाद पानी नहीं पीना चाहिए। खीरा, ककड़ी, तरबूज, खरबूजा, सिंघाडे के बाद भी पानी न पिएं क्योंकि इनमें जल की काफी मात्रा होती है। इसलिए इनके बाद पानी पीने से हैजे का खतरा हो सकता है।

Disclaimer