डिवोर्स के बाद किसी को डेट कर रहे हैं, तो ध्‍यान रखें ये 7 बातें

डेटिंग दिलचस्प चीज है। लेकिन जब तलाकशुदा के साथ डेटिंग करनी हो तो जरा ख्याल रखना होता है। क्योंकि तलाकशुदा लोग अकसर दूसरों पर निर्भर नहीं होते और न ही वे दूसरों की बेकार की बातें सुनना पसंद करते हैं।

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Feb 16, 2018

तुम उनके लिए महत्वपूर्ण नहीं हो

तुम उनके लिए महत्वपूर्ण नहीं हो
1/5

सामान्यतः तलाकशुदा लोग किसी को अपने जीवन में महत्व देना पसंद नहीं करते। असल में उनके दिल में एक खास किस्म का डर घर कर जाता है। इसके तहत वे किसी को अपने दिल में जगह देने से बचते हैं। इसलिए वे किसी को महत्व भी नहीं देते। उन्हें लगता कि कहीं दोबारा उन्हें कोई छोड़कर न चला जाए। यही बात उन्हें दूसरें के करीब नहीं आने देती।

बराबरी की उम्मीद न करें

बराबरी की उम्मीद न करें
2/5

तलाकशुदा लोग आत्मनिर्भर होते हैं। किसी अपने को खोए हुए होते हैं। जीवन से थोड़ा परेशान भी होते हैं। जैसा कि पहले ही बताया गया कि ऐसे लोग किसी को महत्व नहीं देते। ऐसे में आप उनसे बराबरी की भी उम्मीद न करें। दरअसल वे न तो वे आपको पैसों के मामले में बराबर रहने दे सकते हैं और न ही किसी तरह के फैसलों में आपकी हामी चाहेंगे। वास्तव में तलाकशुदा लोगों को समय देना होता है। उन्हें झट से किसी का अपने करीब आना पसंद नहीं होता।

रोमांस बरकरार रखें

रोमांस बरकरार रखें
3/5

अगर तलाकशुदा लोगों को कोई बात खुश करती है तो वह है, रोमांस। तलाक के बार हर शख्स रोमांस को मिस करता है। यही चीज अगर उन्हें डेटिंग के दौरान मिल जाए तो वे इस चीज को मिस नहीं करना चाहेंगे। अतः यदि आप रोमांस बरकरार रख सकते हैं, तो इसमें पीछे न हटें। इसे भी पढ़ें: रिश्ते में जलन इन 5 कारणों से है फायदेमंद

ओवर स्मार्ट न बनें

ओवर स्मार्ट न बनें
4/5

तलाकशुदा लोगों के साथ यह दिक्कत होती है कि एक बार जीवन में बड़ा झटका खा चुके होते हैं। ऐस में वे जरा भी धोखेबाजी बरदाश्त नहीं करते। अगर आप उनके साथ ओवर स्मार्टनेस दिखाएंगे तो वह आपको छोड़ने में क्षण भर नहीं लगाएंगे। बेहतर है ईमानदार बने रहें। साथ ही साथ अपनी मासूमियत भी बरकरार रखें। इसे भी पढ़ें: रिश्ते में जलन के हद से अधिक बढ़ जाने की 5 निशानियां

आहिस्ता आहिस्ता चलें

आहिस्ता आहिस्ता चलें
5/5

अगर तलाकशुदा शख्स को वाकई प्यार करने लगे हैं, उसके साथ जीवन जीने का फैसला ले लिया है। फिर इस बात का ध्यान रखें कि अपने रिश्ते को समय दें। उसे भी समय दें और खुद भी देखें कि क्या आप इस रिश्ते को संभाल पाएंगे। अपने रिश्ते को आहिस्ता आहिस्ता चलने दें। बहुत जल्दबाजी न करें। इसे भी पढ़ें:  इन 7 वचनों से रखें अपने 7 फेरों का आधार

Disclaimer