जानें कैसे दांत कर सकते हैं आपके पाचन तंत्र को प्रभावित

स्‍वस्‍थ दांत पूरे शरीर के स्‍वास्‍थ्‍य से संबंधित होते हैं, लेकिन दांतों की ठीक प्रकार से सफाई न होने से इसमें पैदा हुए बैक्टीरिया खाने के साथ पेट में जाते हैं और इससे आपका पौष्टिक आहार भी अनहेल्‍दी हो जाता है।

Rahul Sharma
Written by: Rahul SharmaPublished at: Apr 21, 2015

दांत और पाचन तंत्र में संबंध

दांत और पाचन तंत्र में संबंध
1/8

भोजन के पाचन की शुरुआत मुंह से ही होती है। आपका पाचन तंत्र पाचन प्रणाली के साथ भोजन को चलाता है और खाद्य पदार्थ को तोड़ता (विखंडित) है जिससे शरीर खाद्य पदार्थों में मौजूद पोषक तत्वों का उपयोग कर सके। आपके दांतों का स्वास्थ्य, खाद्य पदार्थ को विघटित करने में मदद करता है, आपके पाचन तंत्र के द्वारा खाद्य पदार्थ को संसोंधित करना सुनिश्चित करता है। तो यदि दांत साफ न हों तो आपके पाचन तंत्र पर को नुकसान हो सकता है।Images source : © Getty Images

दांतों का महत्व

दांतों का महत्व
2/8

हमारे दांत हमारी खुराक को पेट में पहुंचाने के लिए प्रवेशद्वार की ही तरह नहीं बल्कि चैकपोस्ट का भी काम करते है। दांतों की ठीक प्रकार से सफाई न होने पर दांतों का बैक्टीरिया भी खुराक के साथ पेट में चला जाता है और पौष्टिक खुराक भी स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं रह पाती। Images source : © Getty Images

पाचन तंत्र

पाचन तंत्र
3/8

आपका पाचन तंत्र अपने मुंह में शुरू होता है और गुदा पर समाप्त होता है। स्नायु पाचन तंत्र के माध्यम से भोजन को चलाता है ताकि पाचन तंत्र भोजन को तोड़ पाए और शरीर को विकास और रखरखाव के लिये जरूरी पोषक तत्व मिल पाएं। खाने के टूटने (विखंडन) की प्रक्रिया लार में मौजूद एंजाइम एमिलेज उसे चबाने के दौरान करता है। तो यदि दांत और मुंह साफ न हो तो पाचन पर भी फर्क पड़ता है। Images source : © Getty Images

दांतों का काम

दांतों का काम
4/8

दांत के विभिन्न प्रकारों का खाने में तथा भोजन को पाचन तंत्र के लिए तैयार करने में अलग-अलग काम और महत्व होता है। यही कारण है कि मुंह में अलग-अलग प्रकार के दांत होते हैं। तो यदि किसी भी प्रकार के दांत की कार्यप्रणाली में बाधा आये या वो स्वस्थ न हो तो समस्या हो सकती है। Images source : © Getty Images

समस्याएं

समस्याएं
5/8

दर्द, टेड़ा-मेड़ा पन, संक्रमण, मसूड़ों की बीमारी, दांतों को ठीक से ब्रश या फ्लोस न करना आदि भोजन को चबाने आर उसके विखंडन को प्रभावित करता है और पाचन धीमा हो जाता है। साथ ही दांतों की समस्या के चलते आप कई प्रकार के जरूरी पौष्टिक फल और सब्जियां व अन्य खाद्य पदार्थ भी नहीं खा पाते हैं। Images source : © Getty Images

दांतो को कैसे रखें स्वस्थ

दांतो को कैसे रखें स्वस्थ
6/8

दांतों को स्वस्थ रखने और मसूड़ों की बीमारी को रोकने के लिये ठीक प्रकार से ब्रश करें, फ्लास करें, सही आहार का सेवन करें और कम से कम 6 महीने में एक बार दंत चिकित्सक या डेंटिस्ट को दिखायें। साथ ही माउथवाश का प्रयोग करें, फ्लोराइड युक्त टूथपेस्ट का प्रयोग करें, शुगर व सोडा का सेवन कम करें और धूम्रपान और तम्बाकू का सेवन न करें। Images source : © Getty Images

दांतों के रोगों से बचाव

दांतों के रोगों से बचाव
7/8

बहुत से लोगों को ऐसा लगता है कि दांतों की समस्याएं केवल बच्चों में होती है। लेकिन वास्तव में तो यह समस्याएं किसी भी उम्र के इंसान को हो सकती है। अगर आप बहुत मीठा खाते हैं और दांतों की ठीक प्रकार से सफाई नहीं करते, तो आपके दांत भी खराब हो सकते हैं। दांतों की साफ सफाई रखकर आप दांतों और मसूड़ों की बीमारियों की आशंका को काफी कम कर सकते हैं। Images source : © Getty Images

ब्रश करने का सही तरीका

ब्रश करने का सही तरीका
8/8

वैसे तो हर बार खाने के बाद ब्रश करना चाहिए लेकिन व्यवहारिक तौर पर ऐसा नहीं हो पाता है। ऐसे में दिन में कम से कम दो बार ब्रश अवश्य करना चाहिये और हर बार खाने के बाद कुल्ला जरीर करना चाहिये। दांतों को कम से कम पांच मिनट तक ब्रश करना चाहिए। कई लोग दांतों को बहुत जोर लगाकर साफ करते हैं, जोकि गलत है। दांतों को हमेशा सॉफ्ट ब्रश से धीरे-धीरे साफ करना चाहिेये। मुंह में एक तरफ से ब्रशिंग शुरू कर दूसरी तरफ जाएं। ऊपर के दांतों को नीचे की ओर और नीचे के दांतों को ऊपर की ओर ब्रश करें। Images source : © Getty Images

Disclaimer