लॉंग डिस्टेंस रिलेशनशिप में गर्लफ्रेंड पर कैसे करें भरोसा

देखा गया है कि लड़कों के लिये लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में रहना थोड़ा मुश्किल होता है। खासतौर पर उनका अपनी महिला साथी पर यकीन कर पाना बड़ा कठिन हो जाता है। इसलिये आज हम लॉंग डिस्टेंस रिलेशनशिप में अपनी गर्लफ्रेंड पर भरोसा करने के ऐसे ही कुछ टिप्स दे रहे हैं।

Rahul Sharma
Written by: Rahul SharmaPublished at: May 09, 2016

लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप और गर्लफ्रेंड पर भरोसा

लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप और गर्लफ्रेंड पर भरोसा
1/5

लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप (long distance relationship) का मतलब होता है एक दूसरे से दूर रहकर रिश्तों को निभाना। आजकल की बदलती जीवनशैली में लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप एक सामान्य सी बात है। लेकिन रिश्तों को साथ रहकर निभाना भी कई बार मुश्किल हो जाता है, तो ऐसे में एक दूसरे से दूर रहकर इसे कैसे निभाया जा सकता है। देखा गया है कि लड़कों के लिये लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में रहना थोड़ा मुश्किल होता है। खासतौर पर उनका अपनी महिला साथी पर यकीन कर पाना बड़ा कठिन हो जाता है। उन्हें डर रहता है कि उनकी साथी कहीं उन्हें धोखा न दे। लेकिन रिश्ता चाहे लॉन्ग डिस्टेंस हो या साथ रहने वाला, इसे हंसी-खुशी चलाने के लिये विश्वास और बाकी कुछ चीज़ों की जरूरत होती है। आज हम लॉंग डिस्टेंस रिलेशनशिप में अपनी गर्लफ्रेंड पर भरोसा करने के ऐसे ही कुछ टिप्स दे रहे हैं। Images source : © Getty Images

कम्युनिकेशन गैप न होने पाए

कम्युनिकेशन गैप न होने पाए
2/5

क्योंकि आप लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशन में रोज़ एक दूसरे से मिल नहीं सकते हैं, इसलिए आपका एक दूसरे से ज्यादा से ज्यादा भावनात्मक रूप से जुड़े रहें। इसके लिए जरूरी नहीं रोज़ाना अपनी गर्लफ्रेंड के साथ लम्बी बातचीत ही करें। इस तरह रोज़ाना की बातचीत औप दोनों को अहसास दिलाती है कि आप एक दूसरे की परवाह करते हैं और इस रिश्ते को पूरी ईमानदारी से निभा रहे हैं। साथ ही इस तरह आप प्यार से ही एक दूसरे की पूरी जानकारी भी रख पायेंगे। इसके अलावा  एक दूसरे को कांटेक्ट करने के वाले हर माध्यम को ऑन रखें और उसका समय समय पर प्रयोग करें, जैसे मैसेज, मेल या फिर सबसे बेहतर तरीका वीडियो चैटिंग। टाइम मैनेजमेंट लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशन की रीड़ की हड्डी होते हैं, इसलिये अपने आपसी समय की उपलब्धता अनुसार संपर्क करें। Images source : © Getty Images

उसकी मजबूरियों को नज़रअंदाज़ न करें

उसकी मजबूरियों को नज़रअंदाज़ न करें
3/5

दूरियां कई बार हम मर्दों को कुछ ज्यादा भावुक बना देती हैं, और फिर हम अपने पार्टनर में एक आइडियल साथी ढूंढने लगते हैं। लेकिन आपको याद रखना होगी कि कोई भी रिश्ता, फिर चाहे वो पास का हो या दूर का, साथी के लिए कड़ी मेहनत और समर्पण चाहता है। तो आतुर न हों और एक दूसरे की मजबूरियों को ध्यान में रखते हुए रिएक्ट करें। उदाहरण के तौर पर, ज़रूरी तारीखों या छुट्टियों के आसपास ना मिल पाने से होनी वाली खीज और परेशानी के लिए तैयार रहना साखें। साथ ही अगर वो आपकी या अपनी सालगिरह पर आपसे नहीं मिल पाई हैं तो इस खआस दिन को किसी खास तरीके पर मनाने की कोशिश करें।  Images source : © Getty Images

संपर्क में रहने का तरीका अपनाएं

संपर्क में रहने का तरीका अपनाएं
4/5

कुछ ऐसा करें जो आप दोनों की रोज़मर्रा की चीज़ों और सोच को साझा करता रहे। जैसे कॉमन ऑनलाइन ब्लॉग या स्क्रैपबुक। साथ ही अपने ऑनलाइन कैलेंडर को भी साझा करें और अगर आप एक दूसरे को याद करते हैं तो आपके पास देखने के लिए एक माध्यम होगा कि कितने दिन बाद आप मिल सकते हैं। इस तरह आप अपनी पार्टनर के साथ होने का अहसास देते हैं, जिससे आपकी गर्लफ्रैंड रिश्ते को लेकर लचर नहीं होती है। Images source : © Getty Images

संदेह, अनिश्चितता और डर को भी साझा करें

संदेह, अनिश्चितता और डर को भी साझा करें
5/5

आपका रिश्ता सच्चा है और आप इसका एक बेहतर भविश्य देखेते हैं। इसलिये इसे जितना हो सके साफ और सच्चा रखें। खुशी के पलों की बातों के साथ-साथ दहशत्पूर्ण एवं कठिन विषयों पर भी एक दूसरे से बात करें। इस मौके को आप ईमानदारी से एक साथ अपनी भावनाओं का पता लगाने के एक कमाल के अवसर के रूप में समझें। इस तरह शारीरिक रूप से दूर होते हुए भी अपने साथी के स्वाभाव के उतार चढ़ाव को समझना आपके लिये आसान हो पाएगा। सकारात्मर रहना बेहज जरूरी है, लेकिन आपको अपने साथी को अपनी व उसकी कमियों के बारे में भी बताना चाहिए और इस विषय पर शालीनता से बात करनी चाहिए। Images source : © Getty Images

Disclaimer