यात्रा के दौरान होने वाली उलझन को ऐसे सुलझायें

यात्रा एक अद्भुत अनुभव है, जिसमें व्‍यक्ति सारी चिंताओं से दूर खुद को आराम देता है, लेकिन कुछ लोगों को यात्रा में चिंता का अनुभव होता है। आइए हम आपको ऐसे कुछ आसान उपायों के बारे में जानते हैं जो यात्रा के दौरान होने वाली उलझन को दूर करने में आपकी मदद करेगें।

Pooja Sinha
Written by:Pooja SinhaPublished at: Jan 28, 2016

यात्रा की चिंता को दूर करने के उपाय

 यात्रा की चिंता को दूर करने के उपाय
1/6

यात्रा एक अद्भुत अनुभव है, जिसमें व्‍यक्ति सारी चिंताओं से दूर खुद को आराम देता है, लेकिन कुछ लोगों को यात्रा में चिंता का अनुभव होता है। इसलिए चिंता से ग्रस्‍त लोगों के लिए यात्रा एक तनाव भरा सफर होता है। यात्रा से चिंता को आमतौर पर कुछ तकनीकों से मैनेज किया जाता है और गंभीर मामलों में तो दवा से इसका इलाज किया जाता है। लेकिन एक उत्‍सुक यात्री अपनी यात्रा का आनंद लेने के लिए समस्‍या को दूर करने के लिए एक या दोनों तरीकों का उपयोग करता है। आइए हम आपको ऐसे कुछ आसान उपायों के बारे में जानते हैं जो यात्रा के दौरान होने वाली उलझन को दूर करने में आपकी मदद करेगें।

सकारात्मक रवैया सकारात्मक विचारों की जननी

सकारात्मक रवैया सकारात्मक विचारों की जननी
2/6

सकारात्‍मक सोच की शक्तिशाली होती है, और मानो या न मानो, यह सच में काम करती है। सकारात्‍मक रवैया सकरात्‍मक विचारों को जन्‍म देता है, जिसका अर्थ है कि इससे आप कम चिंतित लेकिन अधिक आराम महसूस करते हैं। आपका अवचेतन मन वहीं मानता है जो आप उसे बताते हैं। अगर आप उसे कहते हैं कि आप हवाई जहाज से यात्रा नहीं कर सकते, तो आप ऐसा नहीं कर पायेंगे। इसलिए खुद को कहें कि आप ऐसा कर सकते हैं।

श्‍वासों पर नियंत्रण

श्‍वासों पर नियंत्रण
3/6

श्‍वासों पर नियंत्रण, चिंता से मुक्‍त होने का बहुत ही आसान उपाय है। अपने श्‍वासों पर ध्‍यान देकर आप आंतक की भावना और हार्ट रेट को धीमा कर सकते हैं। इससे चिंता दूर होकर सकरात्‍मक विचार आने लगते हैं। यह आपको मात्र 10 मिनट में नकारात्‍मक विचारों और आंतक की भावना से छुटकारा पाने में मदद करता है। श्‍वासों पर नियंत्रण के लिए ध्‍यान और योग बहुत अच्‍छे विकल्‍प है।

कल्पना

कल्पना
4/6

अवसाद की तरह रोजमर्रा की घटनाओं से लेकर दर्दनाक विमान दुर्घटनाओं तक, चिंता में भी विभिन्‍न कारकों के कारण विविधता आती है। जब आपको लगें कि आपकी चिंताएं यात्रा का आनंद लेने के लिए आपको रोक रही हैं, तो कल्‍पना करें कि आप तितलियों की तरह हवा में उड़ रहे हैं। अपनी चिंताओं को स्‍वीकार करें लेकिन उन्‍हें पकड़ कर न बैठें। प्रकृति से जुड़कर भी आप अपने काम को अच्‍छे से कर सकते हैं, हालांकि यह सुनने में पागलपन जैसा लगता है, लेकिन भरोसा करें, यह वास्‍तव में काम करता है।

अपने माता-पिता या अपने दोस्त से बात करें

अपने माता-पिता या अपने दोस्त से बात करें
5/6

विदेश में होने पर आपसे बात करने के लिए कोई नहीं होता है। इसके अलावा आपको ऐसा भी महसूस होता है कि आपकी परवाह करने वाला कोई नहीं है। यात्रा के दौरान याद रखें कि विदेश आपको आरामदायक बनाने के लिए नहीं बनाया है बल्कि वहां के लोगों को आरामदायक बनाने के लिए बनाया गया है। अपनी चिंता से अपनी यात्रा को बर्बाद मत करो। अगर आपको किसी चीज को लेकर चिंता है तो अपने पेरेट्स या सबसे अच्‍छे फ्रेंड से फोन पर बात करें। वह जानते हैं कि आपको कैसे शांत करना है। ऐसा करने से आपका अकेलापन और चिंता तुरंत दूर हो जाएगी।

सुरक्षित जगह बनाएं

सुरक्षित जगह बनाएं
6/6

चिंता से निपटने के लिए सुरक्षित जगह पर होना बहुत फायदेमंद होता है। इसलिए ऐसी जगह पर जाये जहां पर आपको खुश और सुरक्षित महसूस हो। ऐसे में आप परिचित की कॉफी शॉप, लोकल ग्रुप और पर्यटक सूचना केंद्र में जा सकते हैं। यह विचार बहुत अच्‍छा है क्‍योंकि इससे आप नए दोस्‍त बनाने के साथ-साथ सुरक्षित भी महसूस करते हैं। Image Source : Getty

Disclaimer