इन स्‍मार्ट तरीकों से जानें आपके आहार में मिलावट तो नहीं

चीजों में मिलावट सेहत के लिए हानिकारक होती है। इसलिए इससे सावधान रहना बहुत जरूरी है। लेकिन जानकारी के अभाव में हम इसकी पहचान नहीं कर पाते हैं। आज हम आपको ऐसे तरीके बता रहे हैं जिन्हें अपनाकर आप घर बैठे ही इन मिलावटी चीजों की पहचान आसानी से कर सकते हैं।

Pooja Sinha
Written by: Pooja SinhaPublished at: Jul 27, 2015

मिलावटी आहार की पहचान

मिलावटी आहार की पहचान
1/10

आजकल खाने-पीने की चीजों में मिलावट बहुत ही आम बात हो गई है। एक सर्वे की रिपोर्ट के अनुसार, भारत में खुले में जितनी चीजें बिकती हैं, उनमें लगभग 64 प्रतिशत खाने-पीने की चीजों में मिलावट होती है। दूध, पनीर, चाय और तेल से लेकर मसालों में मिलावट जमकर होती है। यह मिलावट सेहत के हानिकारक हो सकती है। इसलिए इससे सावधान रहना बहुत जरूरी होता है। लेकिन जानकारी के अभाव में हम इसकी पहचान नहीं कर पाते हैं। आज हम आपको ऐसे तरीके बता रहे हैं जिन्हें अपनाकर आप घर बैठे ही इन मिलावटी चीजों की पहचान आसानी से कर सकते हैं।Image Source : Getty

चाय

चाय
2/10

सुबह के समय चाय की चुस्‍की भला किसे पसंद नहीं होती, लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि जो चाय आप पीते हैं वह सीधे असम के खेतों से नहीं आती। इसलिए चाय में मिलावट की जांच करना बहुत जरूरी होता है। चायपत्ती ठंडे पानी में डालने पर अगर पानी भूरे रंग में बदल जाये तो आपकी चाय मिलावटी है!Image Source : Getty

फ्रोजन मटर

फ्रोजन मटर
3/10

हम अपने फ्रिज में अक्‍सर फ्रोजन मटर के पैकेट का स्‍टॉक करते हैं। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि कुछ पैकेट में मैलाकाइट ग्रीन नामक डाई तत्‍व पाया जाता है, जिससे पेट संबंधित गंभीर बीमारियां (अल्सर, ट्यूमर आदि) होने का खतरा रहता है।फ्रोजन मटर में मौजूद मिलावट की जांच करने के लिए मटर के दानों में से एक हिस्‍से को पानी में डालकर 30 मिनट के लिए छोड़ दें। अगर पानी रंगीन हो जाता हैं, तो मटर में मैलाकाइट ग्रीन की मिलावट होती है। Image Source : Getty

दालचीनी

दालचीनी
4/10

क्‍या आप जानते हैं कि मसाले में इस्‍तेमाल होने वाली दालचीनी में भी मिलावट होती है। जीं हां दालचीनी में अमरूद की छाल मिलाई जाती है। अगर आप दालचीनी में मिलावट की जांच करना चाहते हैं तो इसे हाथ पर रगड़कर देखें, अगर यह शुद्ध है तो आपके हाथों में कलर आ जायेगा।  Image Source : Getty

पिसी हल्दी

पिसी हल्दी
5/10

खाने में हल्‍दी का इस्‍तेमाल लगभग सभी करते हैं। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि हल्दी को ज्यादा चमकीला और अच्छी क्वालिटी का दिखाने के लिए लेड क्रोमेट की मिलावट करते है। इससे कैंसर, शरीर में जहर बनना, हृदय विकार और त्वचा संबंधी रोग हो सकते है। इसमें मिलावट की जांच करने के लिए हल्दी पाउडर में पांच बूंद हाइड्रोक्लोरिक एसिड एचसीएल और पांच बूंद पानी डालकर कर सकते हैं। अगर सैंपल बैंगनी या गुलाबी हो जाए, तो हल्दी मिलावटी है।Image Source : Getty

सेब

सेब
6/10

कहा जाता है कि सेब खाने से आप डॉक्‍टर को दूर भगा सकते हैं, लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि पॉलिश सेब को खाने से ऐसा संभव नहीं है। क्‍योंकि मोम से पॉलिश ताजा दिखने वाला सेब आपकी सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। सेब में मिलावट की जांच करना बहुत ही आसान है। इसके लिए बस एक ब्लेड लीजिए और सेब को हल्के-हल्के खुरचिए। अगर चाकू में सफेद अर्क है तो वह मोम है! और ऐसा करने से आप मोम खाने से बच गए!  Image Source : Getty

काली मिर्च

काली मिर्च
7/10

काली मिर्च में भी मिनरल ऑयल की मिलावट होती है। काली मिर्च में मिलावट की जांच बहुत ही आसानी से की जाती है। क्‍योंकि मिलावटी काली मिर्च के दानों में काफी चमक होती है और इनसे केरोसिन जैसी स्मेल आती है।Image Source : Getty

जीरा

जीरा
8/10

जीरा दैनिक आहार में तड़के में इस्‍तेमाल होने के कारण हमारे खाने पकाने का बहुत जरूरी हिस्‍सा है। लेकिन यह चारकोल डस्‍ट से रंगा जाता है। जीरे में मिलावट की जांच के लिए थोड़ा सा जीरा हथेली पर लेकर अच्‍छे से मसलिए। अगर जीरा काला हो जाता है तो यह मिलावट का संकेत है।Image Source : Getty

लाल मिर्च

लाल मिर्च
9/10

खाने का तीखा स्‍वाद देने वाली लाल मिर्च पाउडर में ईंट के पाउडर का प्रयोग किया जाता है। इसमें मिलावट की जांच करने के लिए पानी में लाल मिर्च पाउडर के सैंपल को डालें। अगर पाउडर पानी के ऊपर ही तैरता है तो उसमें किसी प्रकार की मिलावट नहीं होती है। और अगर ईंट का पाउडर पानी में डूब गया तो समझ लीजिये कि लाल मिर्च पाउडर मिलावटी है।Image Source : Getty

दूध

दूध
10/10

दूधवाले आपको इसमें न केवल दूध में पानी मिलाकर मूर्ख बनाते हैं, बल्कि डिटर्जेंट और सिंथेटिक मिल्‍क की भी इसमें मिलावट की जाती है। दूध में मिलावट की जांच करने के लिए 10 मिलीलीटर दूध को उतने ही पानी के साथ मिलाएं। अगर झाग निकलती है तो उसमें डिटरजेंट हो सकता है। सिंथेटिक दूध का पता लगाने के लिए दूध उबाल लें। अगर गर्म करने पर पीलापन और अंगुलियों के बीच लेकर रगड़ने से साबुन जैसा फील होता है, तो दूध सिंथेटिक दूध है।Image Source : Getty

Disclaimer