प्राकृतिक एस्ट्रिंजेंट से पाये कोमल त्‍वचा

एस्ट्रिंजेंट का प्रयोग करके आप रोमछिद्रों को संकुचित कर त्‍वचा में कसाव लाकर उसे मुलायम और मजबूत बना सकते हैं। और अगर एस्ट्रिंजेंट प्राकृतिक हो तो यह आपकी त्‍वचा की सफाई बिना किसी नुकसान के करता है।

Pooja Sinha
Written by: Pooja SinhaPublished at: Nov 07, 2014

एस्ट्रिंजेंट

एस्ट्रिंजेंट
1/10

एस्ट्रिंजेंट एक केमिकल होता हैं, जो ऊतकों के अनुबंध में आकर उनमें कसाव लाता हैं। और इसका प्रयोग त्‍वचा पर करने पर यह रोमछिद्रों को संकुचित कर त्‍वचा में कसाव लाकर उसे मुलायम और मजबूत बनाते हैं। साथ ही यह असामान त्‍वचा की समस्‍या, त्‍वचा में तेल प्रतिक्रिया, मुंहासों को रोकने, जलन शांत करने और त्‍वचा के पीएच संतुलन को बनाये रखने में आपकी मदद करता है।  image courtesy : idiva.com

इनका उपयोग कैसे करें

इनका उपयोग कैसे करें
2/10

यदि संभव हो तो नियमित रूप से एस्ट्रिंजेंट का एक दिन में दो या तीन बार इस्‍तेमाल करके आप अच्‍छे परिणाम पा सकते हैं। अगर वे प्राकृतिक हैं, तो निर्मित उत्‍पादों की तरह आपकी त्‍वचा को नुकसान नहीं पहुंचाते। अपने चेहरे को साफ करने के बाद आप कॉटन में एस्ट्रिंजेंट को लेकर, चेहरे को साफ कर सकते हैं। image courtesy : getty images

ग्रीन टी

ग्रीन टी
3/10

सभी पोषक तत्‍वों के अलावा ग्रीन टी का उपभोग आपके लिए बहुत अच्‍छे एस्ट्रिंजेंट के रूप में भी काम करता है। ग्रीन टी में उच्च स्तर पर पॉलीफिनोल्स, ऐसा केमिकल कंपाउंड है, जिसके पिगमेंट एंटी एजिंग के रूप में काम करके त्वचा से झुर्रियों को कम कर उसे फोटो प्रोटेक्शन देता हैं। image courtesy : getty images

टमाटर

टमाटर
4/10

टमाटर एक प्राकृतिक एस्ट्रिंजेंट के रूप में काम करता है, जो ऑयली और मिश्रित त्‍वचा के अनुरूप होता है। टमाटर का रस लेकर इसे सीधा अपनी त्‍वचा पर लगाये। image courtesy : getty images

नींबू

नींबू
5/10

इस खट्टे फल में मौजूद सफाई एंजाइम, मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाने और आपकी त्वचा मुलायम बनाने में बहुत मददगार होते हैं। अपने उत्‍कृष्‍ट एस्ट्रिजेंट गुणों के कारण यह एक अच्‍छा प्राकृतिक क्लीन्जर है।  त्‍वचा पर इसे लगाने के लिए आप इसमें पानी के साथ मिलाये। image courtesy : getty images

गुलाब जल

गुलाब जल
6/10

गुलाब जल त्‍वचा की देखभाल के लिए बहुत लोकप्रिय है। गुलाब जल में प्राकृतिक एस्ट्रिंजेंट होने के कारण यह सर्वश्रेष्‍ठ टोनर भी है। रोज रात को इसे चेहरे पर लगाने से त्‍वचा टाइट होती। यह त्वचा के पीएच संतुलन को बनाएं रखता है, मुंहासों को दूर करने में मदद करता है और बैक्टीरिया के संक्रमण से त्वचा की रक्षा करता है। गुलाब जल सभी प्रकार की त्वचा को सूट है और इसकी विशिष्‍ट प्रकार की खुशबू को लोग पसंद भी करते हैं। image courtesy : getty images

सेब साइडर सिरका

सेब साइडर सिरका
7/10

त्‍वचा को साफ करने और मुलायम बनाने के अलावा, सेब साइडर सिरका में एंटीसेप्टिक और एंटी-फंगल गुण भी विद्यमान है। इन गुणों के कारण यह त्‍वचा की गहराई से सफाई और रक्षा करता हैं, जिससे परिणामस्‍वरूप आप पाते हैं, स्‍वस्‍थ, चमकदार और निखरी हुई त्‍वचा। साथ ही प्राकृतिक एस्ट्रिजेंट, सेब साइडर सिरका रोमछिद्रों को कम कर त्‍वचा को सुंदर और मुलायम बनाने में मदद करता है।  image courtesy : getty images

खीरे

खीरे
8/10

खीरा विटामिन सी और कैफिक एसिड से समृद्ध होने के कारण, त्‍वचा के लिए बहुत अच्‍छी तरह से काम करता है, यह सूजन को कम करके त्‍वचा को मुलायम बनाता है। खीरे में सिलिका की मौजूदगी, इसे एक बहुत अच्‍छा एस्ट्रिजेंट बनाती है। सौंदर्य लाभ पाने के लिए बस खीरे के जूस को सीधा अपने चेहरे पर लगाये। image courtesy : getty images

पुदीना

पुदीना
9/10

कई स्किनकेयर उत्‍पादों में पुदीना एक महत्‍वपूर्ण घटक होता है, क्‍योंकि इसमें मौजूद सैलिसिलिक एसिड, मृत त्‍वचा कोशिकाओं से छुटकारा पाने में मदद करता है। पुदीने की पत्तियों को पेस्‍ट बनाकर अपने चेहरे पर लगाये। image courtesy : getty images

कैलेंडुला

कैलेंडुला
10/10

कैलेंडुला को गेंदे के रूप में भी जाना जाता है, इस जड़ी-बूटी में अपनी हीलिंग गुणों के कारण प्रसिद्ध है। इसकी रंगीन पंखुडि़यां में अलग प्रकार के करोटीनॉइड्स होते हैं, जिनमें से प्रत्‍येक शक्तिशाली एंटी-ऑक्‍सीडेंट है। इसके फूल की पत्तियों को थोड़ा से पानी में उबाल कर, उसका मिश्रण बना लें। फिर इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाये। image courtesy : getty images

Disclaimer