नाक के अंदर क्‍यों निकलते हैं दाने, इसके दर्द से ऐसे पाएं छुटकारा

मुंहासे चेहरे पर ही नहीं होते हैं, ये शरीर के दूसरे अंगों में भी हो सकते हैं खासकर नाक के अंदर, दर्द भरे इन पिंपल्‍स से बचाव करने में ये टिप्‍स आपकी मदद करेंगे।

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Oct 06, 2018

नाक में मुंहांसे

नाक में मुंहांसे
1/5

पेट की खराबी और बढ़ी हुई ऊष्णता के कारण कभी-कभी नाक के अंदर फुंसी हो जाती है, जिससे नाक के ऊपर हल्की-सी सूजन आ जाती है। नाक के अंदर होने वाली फुंसी का असर नाक की उपास्थि और अस्थि पर भी पड़ता है इससे नाक से गाढ़ा मवाद निकलने लगता है। कभी इसकी वजह से सांस लेने में भी दिक्कत हो जाती है। अगर कुछ बातों को ध्‍यान में रखा जाये तो इनसे बचाव हो सकता है।

छूने से बचे

छूने से बचे
2/5

नाक के अंदर होने वाले फोड़े को को छूने की कोशिश न करें। इससे बैकटीरिया चेहरे पर और ज्‍यादा फैल जाएगा और चेहरे पर अधिक पिंपल्‍स निकल जाएंगे। इसे कॉटन बॉल या साफ टिशू से ही पोंछे।

मोगरा सूंघे

मोगरा सूंघे
3/5

सुबह मोगरे के ताजे 2-3 फूल 2-3 बार गहरी लम्बी साँस लेते हुए सूँघें और फूल फेंक दें। कई बार तो एक ही बार सूँघने से फुंसी मुरझा जाती है। जरूरत पड़ने पर तीन दिन लगातार यह प्रयोग करें।

बर्फ से सिंकाई

बर्फ से सिंकाई
4/5

पिंपल्‍स दर्द बहुत करते हैं और उनमें सूजन भी दिखाई पड़ती है। बरफ के टुकड़े को रूमाल में बांध लें और उससे प्रभावित चेहरे के हिस्‍से को दबाएं। इससे पिंपल का प्रभाव थोड़ा कम हो जाएगा।

नाक को ना कुरेदें

नाक को ना कुरेदें
5/5

नाक को कुरेदने की आदत को बदल दीजिए। कई बार मुंहासे होने का कारण बन जाती है। हाथों में होने वाले बैक्टीरिया नाक के बालों में चले जाते है, जो नाक के अंदर की त्वचा को दूषित कर देते है। नाक के मुंहांसों में अगर दर्द की समस्या हो तो डॉक्टर की सलाह कोई दवाई ले लें।

Disclaimer