थर्मामीटर न होने पर ऐसे करें बुखार की जांच

बुखार को जांचने का सबसे सही तरीका थर्मामीटर है, लेकिन थर्मामीटर के अभाव में शरीर के कुछ लक्षणों से आप बुखार की जांच कर सकते है, यकीन नहीं हो रहा तो आइए जानें कैसे।

Pooja Sinha
Written by: Pooja SinhaPublished at: Oct 26, 2015

कैसे करें बुखार की जांच जब न हो थर्मामीटर

कैसे करें बुखार की जांच जब न हो थर्मामीटर
1/6

बुखार होने का मतलब है, शरीर के तापमान का 98-100 डिग्री फारेनहाइट की सामान्य श्रेणी से ऊपर होना। बुखार कई प्रकार की बीमारी और कई कारणों पर निर्भर करता है। साथ ही बुखार इस बात का संकेत देता है कि शरीर में कुछ सौम्‍य या गंभीर होने जा रहा है। बुखार को जांचने का सबसे सही तरीका थर्मामीटर है, लेकिन थर्मामीटर के अभाव में कुछ लक्षण आपको बता सकते है कि आपको चिकित्‍सा सहायता लेने की जरूरत है। आइए इस स्‍लाइड शो के माध्‍यम से जानते हैं, कि थर्मामीटर न होने पर बुखार की जांच कैसे की जा सकती है।

माथे या गर्दन को स्‍पर्श करके देखें

माथे या गर्दन को स्‍पर्श करके देखें
2/6

शरीर का ताप बढ़ जाने की स्थिति को बुखार कहते हैं। थर्मामीटर के बिना बुखार की जांच करने का यह सबसे आम तरीका है। इसमें व्‍यक्ति के माथे या गर्दन को स्‍पर्श करके महसूस किया जाता है कि व्‍यक्ति सामान्‍य दिनों की तुलना में गर्म है या नहीं।

त्‍वचा का लाल होना

त्‍वचा का लाल होना
3/6

आमतौर पर बुखार में व्‍यक्ति के गाल या त्‍वचा का रंग लाल हो जाता है। हालांकि गहरे रंग की त्‍वचा वाले व्‍यक्ति में इस बात को नोटिस करना थोड़ा अधिक कठिन हो सकता है। लेकिन फिर भी यह बिना थर्मामीटर के बुखार की जांच करने का अच्‍छा तरीका है।

सुस्तीपन

सुस्तीपन
4/6

अगर आपको व्‍यक्ति में सुस्‍तीपन दिखाई दें, तो यह भी बुखार का संकेत हो सकता है। जीं हां, बुखार अक्‍सर सुस्‍ती या अत्‍यधिक थकान के साथ होता है जैसे धीरे-धीरे बोलना या चलना, या बिस्‍तर से बाहर निकलने के लिए इनकार करना। बच्‍चे में बुखार होने पर वह कमजोरी या थकान महसूस करने की शिकायत करता है, बाहर खेलने से इंकार करता है और उसकी भूख भी कम हो जाती है।

दर्द या मितली महसूस होना

दर्द या मितली महसूस होना
5/6

बुखार होने पर शरीर की मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द होने लगता है। आमतौर पर बुखार के साथ-साथ सिरदर्द का भी लोगों को अनुभव होने लगता है। यह भी थर्मामीटर के बिना बुखार की जांच करना का अच्‍छा तरीका है। इसके अलावा मतली बुखार और अन्‍य कई प्रकार के फ्लू का एक प्रमुख लक्षण है। इसलिए अगर व्‍यक्ति मिचली महसूस करें या उसे उल्‍टी हो या भोजन नही खा रहा तो ध्‍यान देना चाहिए।

डिहाइड्रेट होना या कपकपी और पसीना आना

डिहाइड्रेट होना या कपकपी और पसीना आना
6/6

बुखार होने पर खुद को डिहाइड्रेट महसूस होना बहुत ही आसान होता है। इसलिए मुंह के सूखने या प्‍यासा महसूस होना बुखार का संकेत देता है। साथ ही यूरीन का बहुत ज्‍यादा पीला होना भी डिहाइड्रेट होने और बुखार होने का संकेत हो सकता है। इसके अलावा शरीर के तापमान के ऊपर, नीचे होने पर व्‍यक्ति के लिए कपकपी या ठंड महसूस करना बहुत आम है जबकि कमरे में अन्‍य सभी सहज महसूस कर रहे हो तो।  Image Source : Getty

Disclaimer