इस तरह ये शहर बन गये भारत के सबसे स्‍वच्‍छ शहर

2014 में ‘स्वच्छ भारत’ मिशन शुरू किए जाने के बाद पहली रिपोर्ट आ गई है। इसके अनुसार देश का सबसे साफ शहद मैसूर है। आइए जानें इस रिपोर्ट के अनुसार जानें भारत के कौन से शहर सबसे साफ है।

Pooja Sinha
Written by:Pooja SinhaPublished at: Feb 16, 2016

भारत के सबसे साफ शहर

भारत के सबसे साफ शहर
1/5

'स्वच्छ भारत' भारत सरकार द्वारा आरम्भ किया गया राष्ट्रीय स्तर का अभियान है जिसका उद्देश्य गलियों, सड़कों तथा अधोसंरचना को साफ-सुथरा करना है। महात्मा गांधी ने अपने आसपास के लोगों को स्वच्छता बनाए रखने संबंधी शिक्षा प्रदान कर राष्ट्र को एक उत्कृष्ट संदेश दिया था। महात्‍मा गांधी के स्‍वच्‍छ भारत के स्‍वप्‍न को पूरा करने के लिए, प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी जी यह अभियान महात्मा गांधी के जन्मदिवस 2 अक्टूबर 2014 को आरम्भ किया गया और इसके सफल कार्यान्वयन हेतु भारत के सभी नागरिकों से इस अभियान से जुड़ने की अपील की। 2014 में ‘स्वच्छ भारत’ मिशन शुरू किए जाने के बाद पहली रिपोर्ट आ गई है। इसके अनुसार देश का सबसे साफ शहद मैसूर है। आइए जानें इस रिपोर्ट के अनुसार जानें भारत के कौन से शहर सबसे साफ है।

मैसूर

मैसूर
2/5

सबसे साफ शहरों की सूची में बाजी मारी है मैसूर ने। जीं हां मैसूर को लगातार दूसरे वर्ष देश का सबसे स्वच्छ शहर घोषित किया गया है। साफ-सफाई के लिहाज से मैसूर को 2000 में से 1749 नंबर मिले हैं यानी मैसूर को आप स्वच्छ शहरों का राजा भी कह सकते हैं। वास्तव में मैसूर आज जिस मुकाम पर पहुंचा है, वह कुछ वर्षों की बात नहीं बल्कि करीब डेढ़ सौ साल पहले शुरू किए गए प्रयासों का सुफल है। मैसूर शहर की साफ सफाई में महानगरपालिका की मदद पिछले 15 सालों से कर रहे समाजसेवी डॉ केएस नागापति ने बताया कि साफ सुथरे शहर को परखने का जो पैमाना बनाया गया है उसमें खास है कूड़ा कर्कट यानि वेस्ट डिस्पोजल मैनेजमेंट, पीने के पानी का इंतजाम, गंदे पानी की निकासी की व्यवस्था, साफ पर्यावरण और प्रदूषित पानी की वजह से बच्चों की मौतों पर नियंत्रण पाना। इन पैमानों को परखने पर मैसूर ने देश के दूसरे शहरों से बाजी मार ली। यह संभव हो सका स्थानीय लोगों की मदद से जिन्होंने सफाई को तरजीह दी।

चंडीगढ़

चंडीगढ़
3/5

दूसरे नंबर पर सबसे साफ शहर चंडीगढ़ है। चंडीगढ़ को 1716 अंक मिले हैं। आप इसे आधुनिकीकरण के साथ प्रकृति के संरक्षण के उदाहरण के तौर पर भी देख सकते हैं। इसकी योजना और निर्माण में शामिल पेड़ और पौधे इसका एक दुर्लभ उदाहरण हैं। रिपोर्टों के अनुसार यह शहर देश का सबसे साफ सुथरा शहर है। यहां सिर्फ उन्हीं उद्योगों को लगाने की अनुमति है जो हवा को प्रदूषित ना करते हों। इसलिए आपको चंडीगढ़ की हवा एकदम ताजी और प्रदूषण रहित लगेगी। अपनी शुरुआत से ही यह शहर उत्तर भारत का एक महत्वपूर्ण शहर रहा है। Image Source : topyaps.com

तिरुचिरापल्ली

तिरुचिरापल्ली
4/5

तिरुचिरापल्ली को 1715 नंबर मिले हैं और यह सबसे साफ शहरों की सूची में तीसरे नंबर पर है। तिरुचिरापल्ली भारत के तमिलनाडु प्रान्त का एक शहर है। प्राचीन काल में चोल साम्राज्‍य का एक महत्‍वपूर्ण हिस्‍सा तिरूचिरापल्‍ली वर्तमान में तमिलनाडु राज्य का एक जिला है। यह शहर कावेरी नदी के तट पर बसा हुआ है। यह स्थान विशेष रूप से विभिन्न मंदिरों जैसे श्री रंगानाथस्वामी मंदिर, श्री जम्बूकेश्‍वरा मंदिर और वरैयूर आदि के लिए प्रसिद्ध है। शहर के मध्य से कावेरी नदी गुजरती है। यहां के लोग धार्मिक होने के कारण बहुत सफाई पसंद होते हैं।

दिल्ली एनडीएमसी

दिल्ली एनडीएमसी
5/5

दिल्ली एनडीएमसी को 1704 अंक मिले हैं और यह सबसे साफ शहरों की सूची में चौथे नंबर पर है। दो वैधानिक कस्बों नई दिल्ली नगरपालिका परिषद और दिल्ली छावनी को दिल्ली के राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में साफ जगह के रूप में सम्मानित किया गया है। राज्य में तीन सांविधिक शहरी क्षेत्रों से बाहर दिल्ली के इन दो शहरों को सबसे साफ माना गया हैं। दिल्ली, भारत की राजधानी के 8 सबसे बड़ी आबादी वाले महानगरों में से 2 सबसे अधिक आबादी वाला महानगर है। यह राष्‍ट्रीय राजधानी पेड़ों से कवर भौगोलिक क्षेत्रफल करने में लक्षद्वीप और चंडीगढ़ के बाद तीसरे स्‍थान पर आती है! Image Source : Getty

Disclaimer