जानें परिवार के लिए कितनी खतरनाक है घर में स्‍मोकिंग

धूम्रपान कैसे भी हो खतरनाक तो होती ही है, लेकिन अगर आप घर पर धूम्रपान करते हैं तो घरवालों की जान से खिलवाड़ कर रहे हैं, विश्‍वास नहीं हो रहा है तो इस स्‍लाइडशो को पढ़ें।

Aditi Singh
Written by: Aditi Singh Published at: May 09, 2016

गर्भपात का खतरा

गर्भपात का खतरा
1/6

गर्भवती महिला जब पेसिव स्मोकिंग के संपर्क में आती है, तो प्लेसेंटा ठीक से काम नहीं करता है। निकोटीन जब प्लेसेंटा से होकर गुजरता है तो भ्रूण में रक्त का प्रवाह कम हो जाता है। इससे फेटल कार्डियोवेस्कुलर सिस्टम, गैस्ट्रोइंटेसटाइनल सिस्टम और सेंट्रल नर्वस सिस्टम पर असर पड़ता है। कई बार पेसिव स्मोकिंग गर्भपात या जन्म के समय शिशु का वजन कम होने जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।Image Source-getty

बहरेपन की समस्या

बहरेपन की समस्या
2/6

सिगरेट के धुएं की जद में आए किशोरों में सुनने को खतरा अन्य लोगों के मुकाबले दोगुना होता है। सिगरेट का धुआं शरीर के उन हिस्सों में खून की आपूर्ति को प्रभावित करते हैं जिससे व्यक्ति के लिए भाषा समझ पाना मुश्किल हो जाता है। इसका असर शैक्षणिक जीवन पर भी पड़ता है। Image Source-getty

जल्दी मेनोपोज

जल्दी मेनोपोज
3/6

जो महिलाएं पैसिव स्मोकर हैं, उन्हें मेनोपोज के जल्दी आने और बांझपन की समस्या हो सकती है।  हालांकि जो महिलाएं धूम्रपान करती हैं उनमें मेनोपोज एक से दो साल पहले ही आ जाता है। पर चौंकाने वाली बात ये है कि सिगरेट पीने वाले लोगों के संपर्क में रहने वाली महिलाओं में भी इस बात का खतरा होता है। Image Source-getty

गुर्दों को कर सकता है खराब

गुर्दों को कर सकता है खराब
4/6

सिगरेट का धुंआ शरीर के अंदर रक्त प्रवाह पर बहुत बुरा असर डालता है। इसका सीधा असर गुर्दे के काम करने की क्षमता पर पड़ता है। धूम्रपान से धमनियां कड़ी हो जाती हैं और रक्‍त वाहिकाएं भी संकुचित हो जाती हैं। जिससे गुर्दे के रक्त प्रवाह में रुकावट पैदा होती है और उसके कार्य करने की क्षमता पर बुरा असर पड़ता है।Image Source-getty

हृदय को नुकसान

हृदय को नुकसान
5/6

चाहे आप स्मोकिंग करते हो या नहीं, सिगरेट के धुएं से आपको हृदय रोग हो सकता है।इस धुएं के कारण रक्त नलिकाओं की दीवारें मोटी होने लगती हैं।  इससे भविष्य में उनको दिल का दौरा पड़ने और स्ट्रोक के खतरे बढ़ जाते हैं। केवल 30 मिनट तक सिगरेट के धूएं के संपर्क में रहने से आपका बीपी, हार्ट रेट और खून का दौरा कई गुना बढ़ सकता है।Image Source-getty

सांस संबधी समस्या

सांस संबधी समस्या
6/6

पैसिव स्मोकिंग के संपर्क में होने वाले बच्चे में सांस से संबंधित समस्या हो सकती है। साथ ही बच्चे का भविष्य में अस्थमा से पीड़ित होने का खतरा भी रहेगा। वे बच्चे जो घर में पैसिव स्मोकिंग का शिकार होते हैं, उन्हें भीषण कफ की शिकायत होती है।Image Source-getty  s

Disclaimer