अनियमित माहवारी होने पर कैसे करें गर्भधारण

गर्भधारण और माहवारी के बीच में गहरा संबंध होता है, क्‍योंकि नियमित माहवारी से ओव्‍यूलेशन का पता चलता है, ऐसे में अगर आपकी माहवारी अनियमित हो गई है तो कैसे गर्भधारण करें, इसके बारे में इस स्‍लाइडशो में जानते हैं।

Aditi Singh
Written by:Aditi Singh Published at: Feb 09, 2016

अनियमित माहवारी में गर्भधारण

अनियमित माहवारी में गर्भधारण
1/5

अनियमित माहवारी गर्भधारण करने में समस्या करता है। लेकिन कुछ सावधानी बरतने के साथ अनियमित माहवारी के बावजूद भी महिलाए गर्भधारण कर सकती है। अनियमित माहवारी में महिलाओं को अपने अंडोत्सर्जन के लिए ज्यादा सर्तक रहना पड़ता है। महिलाओं को अपनी माहवारी का ट्रैक रखने के साथ संतुलित खानपान औऱ सप्लीमेंट लेना आवश्यक हो जाता है।  Image Source-Getty

स्वस्थ खायें

स्वस्थ खायें
2/5

वेंडिग मशीन से दूर रहें, ज्यादा से ज्यादा साबुत अनाज, फल और सब्जी लेने की कोशिश करे। वसा औऱ कार्बोहाइड्रेट वालें आहारों के सेवन से परहेज रखें। तली, डिब्बाबंद, चिप्स, केक, बिस्कुट और मीठे पेय आदि अधिक न लें। सही मासिक धर्म के लिए स्वस्थ भोजन का चयन बहुत जरूरी है।Image Source-Getty

वजन कम करें

वजन कम करें
3/5

मोटापा अधिक होने के कारण महिलाओं में इस्ट्रोजन नामक हार्मोन ज्यादा बनने की संभावना बढ़ जाती है. इस स्थिति में लिपिड लेवल भी बढ़ा हुआ होता है जिस की वजह से ब्लड वैसल्स में फैट सैल्स बढ़ जाते हैं और ब्लड की नलियों में चिपक कर उन्हें संकीर्ण बना देते हैं। ये सैल्स ब्लड सप्लाई करने वाली नलियों को ब्लौक भी कर देते हैं।महिलाओं में इस्ट्रोजन अधिक मात्रा में बनता है तो ल्यूटिनाइजिंग हार्मोन भी ज्यादा बनता है, जिस की वजह से माहवारी में अनियमितता पाई जाती है।Image Source-Getty

प्रजनन क्षमता बढ़ाने वाले सप्लीमेंट

प्रजनन क्षमता बढ़ाने वाले सप्लीमेंट
4/5

महिलाओं को प्रजनन क्षमता बढ़ाने वाले सप्लीमेंट लेना फायदेमंद हो सकता है। इससे गर्भधारण करने की संभावना बढ़ जाती है। ये आपके भ्रूण को विकसित होने में मदद करता है। स्वस्थ खानपान और सप्लीमेंट और हार्मोन को संतुलित करता है। विटेक्स नामक हर्ब महिलाओं की माहवारी के साइकिल को भी सही कर देता है। Image Source-Getty

योग करें

योग करें
5/5

प्रजनन क्षमता को बढ़ावा देने में मदद हेतु कुछ योगासन है जैसे कि:- नाड़ी- शोधन प्राणायाम, भ्रामरी प्राणायाम, पश्चिमोत्तानासन, हस्तपादासन, जानू शीर्षासन, बाधा कोनासना, विपरीत-करणी और योग निद्रा इत्यादि । याद रखें, योग का लाभ लेने के लिए इसे ठीक-प्रकार से किया जाना चाहिए।Image Source-Getty

Disclaimer