पाचक रस (Stomach Acid) को बढ़ाने के लिए अपनाएं ये 7 घरेलू उपाय

अगर आप अपने पाचक रस को बढ़ाना चाहते हैं, तो इसके लिए कुछ बेहतरीन घरेलू उपायों को अपना सकते हैं। चलिए जानते हैं इनके बारे में

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Jun 01, 2021

पाचक रस को बढ़ाने के घरेलू उपाय (Home Remedies to Increase Stomach Acid)

पाचक रस को बढ़ाने के घरेलू उपाय (Home Remedies to Increase Stomach Acid)
1/8

क्या आप भी गैस (Gas), एसिडिटी (Acidity), अपच (Indigestion) और कब्ज (Constipation) की समस्या से परेशान हैं? अगर हां, तो इसका मतलब है कि आपका पाचन तंत्र सही तरीके से कार्य नहीं कर रहा है। बेहतर स्वास्थ्य के लिए पाचन तंत्र का सक्रिय होना बेहद जरूरी होता है। अच्छा पाचन तंत्र आपको हमेशा स्वस्थ रखने में मदद करता है। ऐसे में आपको इसका ज्यादा ध्यान रखने की जरूरत होती है। पाचन तंत्र को मजबूत बनाने के लिए भोजन हमेशा अच्छे से चबा-चबाकर खाना चाहिए। साथ ही इसके लिए आपको प्रोसेस्ड फूड्स के सेवन से भी बचना चाहिए। पाचन तंत्र को सक्रिय करने के लिए अच्छी नींद लेना भी बहुत जरूरी है। आप चाहें तो पाचक रस को बढ़ाने के लिए घर पर मौजूद कुछ खाद्य पदार्थों का सेवन भी कर सकते हैं। इनकी मदद से आपका पाचक रस (Stomach Acid) तेजी से बढ़ेगा और पाचन तंत्र सक्रिय रहेगा। राम हंस चेरीटेबल हॉस्पिटल, सिरसा के आयुर्वेदाचार्य श्रेय शर्मा से जानते हैं पाचक रस को बढ़ाने वाले कुछ खाद्य पदार्थों के बारे में-  

1) अदरक (Ginger)

1) अदरक (Ginger)
2/8

अदरक पोषक तत्व से भरपूर खाद्य पदार्थ है। इसे कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं को ठीक करने के लिए घरेलू उपायों के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। शरीर में पाचक रस को बढ़ाने के लिए भी अदरक का सेवन करना बेहतर माना जाता है। अदरक खराब पाचन क्रिया को बेहतर बनाने में सहायक होता है। इसलिए आपको अदरक को अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए। इसमें एंटी-इंफ्लेमेटेरी गुण होते हैं, जो पेट में एसिड की कमी से होने वाली समस्याओं को दूर करता है। अदरक शरीर में भोजन पचाने वाले पाचक रस और एंजाइम का निर्माण करता है। इसमें पाए जाने वाले एंटी बैक्टीरियल, एंटी वायरल गुण पाचन शक्ति को मजबूत बनाते हैं। आप अपने पाचक रस को बढ़ाने के लिए दिन में 2 बार अदरक की चाय पी सकते हैं। आप चाहें तो इसके लिए खाने के बाद अदरक के एक टुकड़े को चबा भी सकते हैं। इसके अलावा सलाद की रूप में भी इसे लिया जा सकता है। 

2) पुदीना (Mint)

2) पुदीना (Mint)
3/8

पाचन संबंधी समस्याओं को ठीक करने के लिए पुदीने का सेवन करना भी फायदेमंद माना जाता है। पुदीने को डाइट में शामिल करने से शरीर में पाचक रस का निर्माण होता है, जिससे पाचन क्रिया बेहतर तरीके से काम करती है। इसके लिए आप 10-12 पुदीने की पत्तियों को एक गिलास गर्म पानी में डालें। 5 मिनट के लिए इसे ढककर रख दें और फिर छानकर पी लें। पुदीने की इस चाय को आप दिन में दो बार पी सकते हैं। आप चाहें तो पुदीने को गार्निशिंग के तौर पर भी इस्तेमाल कर सकते हैं। पुदीना पाचन एंजाइम को सक्रिय करता है, जिससे भोजन को पचाने में आसानी होती है। इसकी खुशबू लार की ग्रंथियों को भी सक्रिय करती है। नियमित रूप से पुदीने का सेवन करने से खराब डायजेशन की समस्या ठीक हो सकती है। यह पेट में दर्द और सूजन से भी राहत दिलाता है। 

3) दही (Yogurt)

3) दही (Yogurt)
4/8

अपने पाचक रस को बढ़ाने के लिए आप नियमित रूप से दही का सेवन कर सकते हैं। डॉक्टर भी अकसर लंच में दही खाने की सलाह देते हैं, क्योंकि इससे पाचन क्रिया दुरुस्त रहती है। दही में प्रोबायोटिक होता है, जो पाचन तंत्र को मजबूत बनाता है। इसलिए आपको भी अपने पाचन रस को बढ़ाने के लिए दही को अपनी डाइट में जरूर शामिल करना चाहिए। नियमित रूप से दही का सेवन करने से पेट की गर्मी शांत होती है और एसिडिटी नहीं होती है। खाने के बाद दही लेने से खाना अच्छे से डायजेस्ट हो जाता है। यह अपच की समस्या को ठीक करने में मददगार होता है।

4) एप्पल साइडर विनेगर (Apple Cider Vinegar)

4) एप्पल साइडर विनेगर (Apple Cider Vinegar)
5/8

पाचन संबंधी रोगों को दूर करने में एप्पल साइडर विनेगर भी फायदेमंद होता है। एप्पल साइडर विनेगर में क्षारीय गुण होते हैं, जो पेट में एसिड के स्तर को बढ़ाने में मदद करते हैं। इसके सेवन से गैस, एसिडिटी और अपच की समस्या को दूर होती है। पाचन क्रिया को मजबूत बनाने या पाचक रस को बढ़ाने के लिए एक गिलास पानी में दो चम्मच विनेगर मिलाकर भोजन करने से इसे पी लें। इसमें भरपूर मात्रा में प्रोटीन और एंजाइम होता है, जो भोजन में बैक्टीरिया को तोड़ने में मदद करता है। एप्पल साइडर विनेगर में पेक्टिन पाया जाता है, जो पानी में घुलनशील फाइबर है। इसके सेवन से कब्ज की समस्या भी नहीं होती है।

5) पपीता (Papaya)

5) पपीता (Papaya)
6/8

पाचन तंत्र को मजबूत बनाने या पाचक रस को बढ़ाने के लिए पपीते का सेवन करना बेहद फायदेमंद होता है। पपीते में पपाइल समेत कई तरह के पाचक एंजाइम्स होते हैं, जो पाचन तंत्र को सक्रिय रखने में मदद करते हैं। इसके अलावा पपीते में डाइट्री फाइबर्स भी पाए जाते हैं, जिससे पाचन तंत्र सक्रिय रहता है। अपनी पाचन क्रिया को बेहतर बनाने के लिए आप भी पपीते का सेवन कर सकते हैं। पपीते में कैरोटिन, फोलेट और विटामिन ई भी पाया जाता है, जो कब्ज की समस्या से बचाते हैं। इसके लिए आप नियमित रूप से एक कटोरी पपीते का सेवन जरूर करें। आप चाहें तो खाली पेट भी इसका सेवन कर सकते हैं। रोज पपीता खाने से आपको कुछ ही दिनों में फर्क नजर आने लगेगा।

6) हल्दी (Turmeric)

6) हल्दी (Turmeric)
7/8

हल्दी पाचन से संबंधित विकारों को दूर करने के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। यह अपच, अल्सर और पेट के दूसरे रोगों में फायदा पहुंचाता है। पाचक तंत्र को सक्रिय बनाने के लिए एक गिलास पानी में चुटकी भर हल्दी डालें और नियमित रूप से इसका सेवन करें। हल्दी में करक्यूमिन नामक तत्व पाया जाता है, जो पित्त को निकालन में मदद करता है और लीवर को सही तरीके से कार्य करने में मदद करता है। इसके अलावा आप अपने भोजन में भी हल्दी का इस्तेमाल करें। इससे न सिर्फ पाचन तंत्र सक्रिय होता है बल्कि यह इम्यूनिटी को भी बढ़ाने में मददगार होता है। यह संक्रमण से भी हमारा बचाव करता है। आप हल्दी का सेवन दूध में डालकर भी कर सकते हैं, जिसे गोल्डन मिल्क कहा जाता है। अपने पाचक रस को बढ़ाने के लिए अपनी डाइट में हल्दी को जरूर शामिल करें। 

7) एलोवेरा जूस (Aloe Vera Juice)

7) एलोवेरा जूस (Aloe Vera Juice)
8/8

एलोवेरा जूस त्वचा और बालों के साथ ही स्वास्थ्य के लिए भी बेहद फायदेमंद होता है। इसमें लैक्सेटिव गुण पाया जाता है, जो पाचन क्रिया को सक्रिय रखने में मददगार होता है। एलोवेरा जूस के सेवन से पाचन संबंधी कई रोग जैसे पेट में जलन, गैस, एसिडिटी, अपच, सूजन और अल्सर में फायदा मिलता है। आप रोज सुबह खाली पेट दो चम्मच एलोवेरा जूस को एक कप गुनगुने पानी में मिलाकर पिएं। नियमित रूप से एलोवेरा जूस पीने से आप अपने पाचक रस को बढ़ा सकते हैं। अगर आप गर्भवती हैं या स्तनपात करवाती हैं तो पाचक रस को बढ़ाने वाले इन सभी खाद्य पदार्थों का सेवन डॉक्टर की सलाह पर ही करें। साथ ही अगर आप किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं, तो भी डॉक्टर की सलाह पर ही इनका सेवन करना चाहिए। 

Disclaimer